अमिताभ बच्चन की जीवनी, अमिताभ बच्चन की बायोग्राफी, अमिताभ बच्चन आयु/उम्र, अमिताभ का करियर, अमिताभ की फिल्में, अमिताभ की शादी, अमिताभ का राजनीतिक करियर, अमिताभ से जुड़े विवाद, Amitabh Bachchan Ki Jivani, Amitabh Bachchan Biography In Hindi, Amitabh Bachchan Age, Amitabh Bachchan Career, Amitabh Bachchan Film, Amitabh Political Career,  Amitabh Television Career

अमिताभ बच्चन की जीवनी,अमिताभ की आयु/ अमिताभ की उम्र, Amitabh Ki Jivani, Amitabh Biography In Hindi, Amitabh Bachchan Age
अमिताभ की बायोग्राफी – सदी के महानायक अमिताभ बच्चन का जन्म 11 अक्टूबर 1942 (उम्र 78 वर्ष) में उत्तर प्रदेश के इलाहाबाद जिले में हुआ था. उनके पिता का नाम हरिवंश राय बच्चन था. उनके पिता हिंदी जगत के मशहूर कवि रहे हैं. उनकी मां का नाम तेजी बच्चन था. उनके एक छोटे भाई भी हैं जिनका नाम अजिताभ है. अमिताभ का नाम पहले इंकलाब रखा गया था लेकिन उनके पिता के साथी रहे कवि सुमित्रानंदन पंत के कहने पर उनका नाम अमिताभ रखा गया. इनकी माता तेजी बच्चन की थिएटर में गहरी रुचि थी और उन्हें फ़िल्म में रोल की पेशकश भी की गई थी किंतु इन्होंने गृहणी बनना ही पसंद किया. अमिताभ के करियर के चुनाव में इनकी माता का भी कुछ योगदान था क्योंकि वे हमेशा इस बात पर भी जोर देती थी कि उन्हें सेंटर स्टेज को अपना करियर बनाना चाहिए. बच्चन के पिता का देहांत 2003 में हो गया था जबकि उनकी माता की मृत्यु 21 दिसंबर 2007 को हुई थीं.

बॉलीवुड के शहंशाह अमिताभ आज किसी पहचान के मोहताज नहीं है. हिन्दी सिनेमा में चार दशकों से ज्यादा का वक्त बिता चुके अभिनेता अमिताभ बच्चन को उनकी फिल्मों से एंग्री यंग मैन की उपाधि प्राप्त है. वे हिन्दी सिनेमा के सबसे बड़े और सबसे प्रभावशाली अभिनेता माने जाते हैं. उन्हें लोग सदी के महानायक के तौर पर भी जानते हैं और प्‍यार से बिग बी, शहंशाह भी कहते हैं.

अमिताभ बच्चन पोलियो उन्मूलन अभियान के बाद अब तंबाकू निषेध परियोजना पर काम करेंगे. अमिताभ बच्चन को अप्रैल 2005 में एचआईवी/एड्स और पोलियो उन्मूलन अभियान के लिए यूनिसेफ के द्वारा सद्भावना राजदूत नियुक्त किया गया था.

पूरा नाम – अमिताभ हरिवंश राय श्रीवास्तव Amitabh Harivansh Rai Srivastava
उपनाम – बॉलीवुड के मुन्ना, बिग बी, एंग्री यंग मैन, एबी सीनियर, अमित, शहंशाह
राष्ट्रीयता – भारतीय Indian
जन्म – 11 अक्टूबर 1942 (उम्र 78 वर्ष)
जन्मस्थान – इलाहाबाद, संयुक्त प्रांत (उत्तर प्रदेश), ब्रिटिश भारत
शिक्षा Education – ज्ञान प्रमोधिनी, बॉयज हाई स्कूल, इलाहाबाद, भारत शेरवुड कॉलेज, नैनीताल, भारत
किरोरी मल कॉलेज, नई दिल्ली, भारत
शैक्षिक योग्यता- विज्ञान में स्नातक
काम – अभिनेता
शौक/अभिरुचि- गायन, ब्लॉगिंग, पढ़ना
Years Active – 1969 – Present

पसंदीदा चीजें
पसंदीदा भोजन – भिंडी सब्ज़ी, जलेबी, ख़ीर
पसंदीदा अभिनेता – दिलीप कुमार
पसंदीदा अभिनेत्रियाँ – वहीदा रहमान
पसंदीदा फिल्म – कागज़ के फूल, गॉन विद द विंड, गंगा जमुना, ब्लैक, गॉडफादर, स्कार्फ़स, प्यासा
पसंदीदा कार – रोल्स-रॉयस फैंटम, बेंटले आर्नेज आर
पसंदीदा खेल – क्रिकेट
पसंदीदा किताब – हरिवंश राय बच्चन द्वारा लिखित मधुशाला
पसंदीदा रंग – सफेद
पसंदीदा स्थल – लंदन, स्विट्जरलैंड

अमिताभ बच्चन की शिक्षा
बच्चन ने दो बार एम. ए. की उपाधि ग्रहण की है. मास्टर ऑफ आर्ट्स (स्नातकोत्तर) इन्होंने इलाहाबाद के ज्ञान प्रबोधिनी और बॉयज़ हाई स्कूल (बीएचएस) तथा उसके बाद नैनीताल के शेरवुड कॉलेज में पढ़ाई की जहाँ कला संकाय में प्रवेश दिलाया गया. अमिताभ बाद में अध्ययन करने के लिए दिल्ली विश्वविद्यालय के किरोड़ीमल कॉलेज चले गए जहां इन्होंने विज्ञान स्नातक की उपाधि प्राप्त की. 20 वर्ष की आयु में बच्चन ने अभिनय में अपना कैरियर आजमाने के लिए कोलकता की एक शिपिंग फर्म बर्ड एंड कंपनी में किराया ब्रोकर की नौकरी छोड़ दी.

अमिताभ बच्चन की शादी
अमिताभ बच्चन की शादी जया बच्चन (जया भादुड़ी) से हुई जिनसे उन्हें दो बच्चे हैं. अभिषेक बच्चन उनके सुपुत्र हैं और श्वेता नंदा उनकी सुपुत्री हैं. रेखा से उनके अफेयर की चर्चा भी खूब हुई और लोगों के गॉसिप का विषय बनी. बता दें कि अमिताभ बच्चन के बेटे अभिषेक बच्चन का विवाह पूर्व विश्वसुन्दरी और अभिनेत्री ऐश्वर्या राय से हुआ है.

अमिताभ बच्चन का फिल्मी करियर , अमिताभ का करियर, Amitabh Bachchan Career
अमिताभ बच्चन की शुरूआत फिल्मों में वॉयस नैरेटर के तौर पर फिल्म भुवन शोम से हुई थी लेकिन अभिनेता के तौर पर उनके करियर की शुरुआत ख्वाज़ा अहमद अब्बास के निर्देशन में बनी फिल्म सात हिंदुस्तानी से हुई. इस फिल्म में उन्होंने उत्पल दत्त, मधु और जलाल आगा जैसे कलाकारों के साथ अभिनय किया था. फ़िल्म ने वित्तीय सफ़लता प्राप्त नहीं की पर बच्चन ने अपनी पहली फ़िल्म के लिए राष्ट्रीय फ़िल्म पुरस्कार में सर्वश्रेष्ठ नवागंतुक का पुरस्कार जीता. इसके बाद उन्होंने कई फिल्में कीं लेकिन वे ज्यादा सफल नहीं हो पाईं. इसके बाद उनकी एक और आनंद (1971) नामक फ़िल्म आई जिसमें उन्होंने उस समय के लोकप्रिय कलाकार राजेश खन्ना के साथ काम किया. उन्हें अपने प्रदर्शन के लिए सर्वश्रेष्ठ सहायक कलाकार का फिल्मफेयर पुरस्कार मिला. इसके बाद (1971) में अमिताभ ने फित्म परवाना में एक मायूस प्रेमी की भूमिका निभाई. इसके बाद उनकी कई फ़िल्में आई जो बॉक्स ऑफिस पर उतनी सफल नहीं हो पाई जिनमें रेशमा और शेरा भी शामिल थी और उन दिनों इन्होंने गुड्डी फ़िल्म में मेहमान कलाकार की भूमिका निभाई थी. इनके साथ इनकी पत्नी जया भादुड़ी के साथ धर्मेन्द्र भी थे. अमिताभ ने 1972 में निर्देशित एस. रामनाथन द्वारा निर्देशित कॉमेडी फ़िल्म बॉम्बे टू गोवा में भी अहम भूमिका निभाई. इन्होंने अरुणा ईरानी, महमूद, अनवर अली और नासिर हुसैन जैसे कलाकारों के साथ कार्य किया है. अपने संघर्ष के दिनों में वे 7 (सात) वर्ष की लंबी अवधि तक अभिनेता, निर्देशक एवं हास्य अभिनय के बादशाह महमूद साहब के घर में रूके रहे.

फिल्म जंजीर (1973) अमिताभ के करियर का टर्निंग प्वाइंट साबित हुई. इस फिल्म में उन्हेंने इंस्पेक्टर विजय खन्ना की भूमिका निभाई थी. इसके बाद उन्होंने लगातार हिट फिल्मों की झड़ी तो लगाई ही, इसके साथ ही साथ वे हर दर्शक वर्ग में लोकप्रिय हो गए और फिल्म इंडस्ट्री में अपने अभिनय का लोहा भी मनवाया. 1973 ही वह साल था जब इन्होंने 3 जून को जया भादुड़ी से विवाह किया और इसी समय ये दोनों न केवल जंजीर में बल्कि एक साथ कई फ़िल्मों में दिखाई दिए जैसे अभिमान जो इनकी शादी के केवल एक मास बाद ही रिलीज हो गई थी.

अमिताभ के करियर का बुरा दौर – 1982 के दौरान कुली की शूटिंग के दौरान चोट
अमिताभ की फिल्‍में अच्‍छा बिजनेस कर रही थीं कि अचानक 26 जुलाई 1982 को कुली फिल्‍म की शूटिंग के दौरान उन्‍हें गंभीर चोट लगी गई. दरअसल, फिल्‍म के एक एक्‍शन दृश्‍य में अभिनेता पुनीत इस्‍सर को अमिताभ को मुक्‍का मारना था और उन्‍हें मेज से टकराकर जमीन पर गिरना था. लेकिन जैसे ही वे मेज की तरफ कूदे, मेज का कोना उनके आंतों में लग गया जिसकी वजह से उनका काफी खून बह गया और स्‍थिति इतनी गंभीर हो गई कि ऐसा लगने लगा कि वे मौत के करीब हैं लेकिन लोगों की दुआओं की वजह से वे ठीक हो गए. बाद में ये मियासथीनिया ग्रेविस में उलझ गए जो या कुली में दुर्घटना के चलते या तो भारीमात्रा में दवाई लेने से हुआ या इन्हें जो बाहर से अतिरिक्त रक्त दिया गया था इसके कारण हुआ. उनकी बीमारी ने उन्हें मानसिक और शारीरिक दोनों रूप से कमजोर महसूस करने पर मजबूर कर दिया और उन्होंने फ़िल्मों में काम करने से सदा के लिए छुट्टी लेने और राजनीति में शामिल होने का निर्णन किया.

अमिताभ का राजनीतिक करियर- 1984-1987, Amitabh Political Career 
1984 में अमिताभ ने अभिनय से कुछ समय के लिए विश्राम ले लिया और अपने पुराने मित्र राजीव गांधी की सपोर्ट में राजनीति में कूद पड़े. उन्होंने इलाहाबाद लोक सभा सीट से उत्तरप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री हेमवती नंदन बहुगुणा को इन्होंने आम चुनाव के इतिहास में (68.2 %) के मार्जिन से विजय दर्ज करते हुए चुनाव में हराया था. हालांकि इनका राजनीतिक कैरियर कुछ अवधि के लिए ही था, जिसके तीन साल बाद इन्होंने अपनी राजनीतिक अवधि को पूरा किए बिना त्याग दिया. इस त्यागपत्र के पीछे इनके भाई का बोफोर्स विवाद में अखबार में नाम आना था, जिसके लिए इन्हें अदालत में जाना पड़ा. इस मामले में बच्चन को दोषी नहीं पाया गया.

उनके पुराने मित्र अमरसिंह ने इनकी कंपनी एबीसीएल के फेल हो जाने के कारण आर्थिक संकट के समय इनकी मदद कीं. इसके बाद बच्चन ने अमरसिंह की राजनीतिक पाटी समाजवादी पार्टी को सहयोग देना शुरू कर दिया. जया बच्चन ने समाजवादी पार्टी ज्वाइन कर ली और राज्यसभा की सदस्या बन गई. बच्चन ने समाजवादी पार्टी के लिए अपना समर्थन देना जारी रखा जिसमें राजनीतिक अभियान अर्थात प्रचार प्रसार करना शामिल था. इनकी इन गतिविधियों ने एक बार फिर मुसीबत में डाल दिया और इन्हें झूठे दावों के सिलसिलों में कि वे एक किसान हैं के संबंध में कानूनी कागजात जमा करने के लिए अदालत जाना पड़ा.

बहुत कम लोग ऐसे हैं जो ये जानते हैं कि स्‍वयंभू प्रैस ने अमिताभ बच्‍चन पर प्रतिबंध लगा दिया था. स्टारडस्ट और कुछ अन्य पत्रिकाओं ने मिलकर एक संघ बनाया, जिसमें अमिताभ के शीर्ष पर रहते समय 15 वर्ष के लिए प्रतिबंध लगा दिया गया. इन्होंने अपने प्रकाशनों में अमिताभ के बारे में कुछ भी न छापने का निर्णय लिया. 1989 के अंत तक बच्चन ने उनके सेटों पर प्रेस के प्रवेश पर प्रतिबंध लगा रखा था. लेकिन, वे किसी विशेष पत्रिका के खिलाफ़ नहीं थे. ऐसा कहा गया है कि बच्चन ने कुछ पत्रिकाओं को प्रतिबंधित कर रखा था क्योंकि उनके बारे में इनमें जो कुछ प्रकाशित होता रहता था उसे वे पसंद नहीं करते थे और इसी के चलते एक बार उन्हें इसका अनुपालन करने के लिए अपने विशेषाधिकार का भी प्रयोग करना पड़ा.

मंदी के कारण और सेवानिवृत्ति : 1988 -1992
1988 में बच्चन फ़िल्मों में तीन साल की छोटी सी राजनीतिक अवधि के बाद वापस लौट आए और शहंशाह में शीर्षक भूमिका की जो बच्चन की वापसी के चलते बॉक्स आफिस पर सफल रही. इस वापसी वाली फिल्म के बाद इनकी स्टार पावर क्षीण होती चली गई क्योंकि इनकी आने वाली सभी फिल्में बॉक्स ऑफिस पर असफल होती रहीं. 1991 की हिट फिल्म हम से ऐसा लगा कि यह वर्तमान प्रवृति को बदल देगी किंतु इनकी बॉक्स आफिस पर लगातार असफलता के चलते सफलता का यह क्रम कुछ पल का ही था. उल्लेखनीय है कि हिट की कमी के बावजूद यह वह समय था जब अमिताभ बच्चन ने 1990 की फिल्‍म अग्निपथ में माफिया डॉन की यादगार भूमिका के लिए राष्ट्रीय फ़िल्म पुरस्कार, जीते. ऐसा लगता था कि अब ये वर्ष इनके अंतिम वर्ष होंगे क्योंकि अब इन्हें केवल कुछ समय के लिए ही परदे पर देखा जा सकेगा.1992 में ख़ुदागवाह के रिलीज होने के बाद बच्चन ने अगले पांच वर्षों के लिए अपने आधे रिटायरमेंट की ओर चले गए. 1994 में इनके देर से रिलीज होने वाली कुछ फिल्मों में से एक फिल्म इन्सान्यित रिलीज तो हुई लेकिन बॉक्स ऑफिस पर असफल रही.

निर्माता और अभिनय की वापसी 1996 -1999
अस्थायी सेवानिवृत्ति की अवधि के दौरान अमिताभ बच्चन निर्माता बने और कारपोरेशन लिमिटेड की स्थापना की. 1996 में वर्ष 2000 तक 10 बिलियन रूपए (लगभग 250 मिलियन अमरीकी डॉलर) वाली मनोरंजन की एक प्रमुख कंपनी बनने का सपना देखा. एबीसीएल की रणनीति में भारत के मनोरंजन उद्योग के सभी वर्गों के लिए उत्पाद एवं सेवाएं प्रचलित करना था. इसके ऑपरेशन में मुख्य धारा की व्यावसायिक फ़िल्म उत्पादन और वितरण, ऑडियो और वीडियो कैसेट डिस्क, उत्पादन और विपणन के टेलीविजन सॉफ्टवेयर, हस्ती और इवेन्ट प्रबंधन शामिल था. 1996 में कंपनी के आरंभ होने के तुरंत बाद कंपनी द्वारा उत्पादित पहली फिल्म तेरे मेरे सपने थी जो बॉक्स ऑफिस पर विफल रही लेकिन अरशद वारसी दक्षिण और फिल्मों के सुपर स्टार सिमरन जैसे अभिनेताओं के करियर के लिए द्वार खोल दिए. एबीसीएल ने कुछ फिल्में बनाई लेकिन इनमें से कोई भी फिल्म कमाल नहीं दिखा सकी.

1997 में, एबीसीएल द्वारा निर्मित मृत्युदाता, फिल्म से बच्चन ने अपने अभिनय में वापसी का प्रयास किया. यद्यपि मृत्युदाता ने बच्चन की पूर्व एक्शन हीरो वाली छवि को वापस लाने की कोशिश की लेकिन एबीसीएल के उपक्रम, वाली फिल्म थी और विफलता दोनों के आर्थिक रूप से गंभीर है. एबीसीएल 1997 में बंगलौर में आयोजित 1996 की मिस वर्ल्ड सौंदर्य प्रतियोगिता, का प्रमुख प्रायोजक था और इसके खराब प्रबंधन के कारण इसे करोड़ों रूपए का नुकसान उठाना पड़ा था. इस घटनाक्रम और एबीसीएल के चारों ओर कानूनी लड़ाइयों और इस कार्यक्रम के विभिन्न गठबंधनों के परिणामस्वरूप यह तथ्य प्रकट हुआ कि एबीसीएल ने अपने अधिकांश उच्च स्तरीय प्रबंधकों को जरूरत से ज्यादा भुगतान किया है जिसके कारण वर्ष 1997 में वह वित्तीय और क्रियाशील दोनों तरीके से ध्वस्त हो गई. कंपनी प्रशासन के हाथों में चली गई और बाद में इसे भारतीय उद्योग मंडल द्वारा असफल करार दे दिया गया. अप्रेल 1999 में मुबंई उच्च न्यायालय ने बच्चन को अपने मुंबई वाले बंगला प्रतीक्षा और दो फ्लैटों को बेचने पर तब तक रोक लगा दी जब तक कैनरा बैंक की राशि के लौटाए जाने वाले मुकदमे का फैसला न हो जाए. बच्चन ने हालांकि दलील दी कि उन्होंने अपना बंग्ला सहारा इंडिया फाइनेंस के पास अपनी कंपनी के लिए कोष बढाने के लिए गिरवी रख दिया है.

बाद में बच्चन ने अपने अभिनय के करियर को संवारने का प्रयास किया जिसमें उसे बड़े मियाँ छोटे मियाँ (1998) से औसत सफलता मिली और सूर्यावंशम (1999), से सकारात्मक समीक्षा प्राप्त हुई लेकिन तथापि मान लिया गया कि बच्चन की महिमा के दिन अब समाप्त हुए चूंकि उनके बाकी सभी फिल्में जैसे लाल बादशाह (1999) और हिंदुस्तान की कसम (1999) बॉक्स ऑफिस पर विफल रही हैं.

अमिताभ बच्चन की फिल्‍मों में तगड़ी वापसी
1- 2000 में आई मोहब्‍बतें उनके डूबते करियर को बचाने में काफी मददगार साबित हुई और फिल्‍म को और उनके अभिनय को काफी सराहा गया. इसके बाद उन्‍होंने कई फिल्‍मों में काम किया जिसे आलोचकों के साथ साथ दर्शकों ने भी काफी पसंद किया.
2- 2005 में आई फिल्‍म ब्‍लैक में उन्‍होंने शानदार अभिनय किया और उन्‍हें राष्‍ट्रीय फिल्‍म पुरस्‍कार से एक बार फिर सम्‍मानित किया गया.
3- फिल्‍म पा में उन्‍होंने अपने बेटे अभिषेक बच्‍चन के ही बेटे का किरदार निभाया. फिल्‍म को काफी पसंद किया गया और एक बार फिर उन्‍हें राष्‍ट्रीय फिल्‍म पुरस्‍कार से नवाजा गया.
4- वे काफी लंबे समय से गुजरात पर्यटन के ब्रांड एंबेसडर भी हैं

अमिताभ बच्चन टेलीविजन करियर, Amitabh Television Career
उन्‍होंने टीवी की दुनिया में भी बुलंदियों के झंडे गाड़े हैं और उनके द्वारा होस्‍ट किया गया केबीसी बहुत पापुलर हुआ. वर्ष 2000 में, अमिताभ बच्चन ने कौन बनेगा करोड़पति (KBC) के सीज़न 1 की मेजबानी की. वह आज तक केबीसी होस्ट करते आ रहे हैं. इसने टीआरपी के सारे रिकार्ड तोड़ दिए और इस प्रोग्राम के जरिए कई लोग करोड़पति बने. यह माना जाता है कि बच्चन ने इस कार्यक्रम के संचालन के लिए साप्ताहिक प्रकरण के लिए अत्यधिक 25 लाख रुपए लिए थे, जिसके कारण बच्चन और उनके परिवार को नैतिक और आर्थिक दोनों रूप से बल मिला.

अमिताभ बच्चन से जुड़े विवाद
1- बोफोर्स घोटाले में उनका नाम सामने आया, परंतु जाँच कमेटी के द्वारा वह निर्दोष पाए गए.
2- किसान के तौर पर नकली दस्तावेज प्रस्तुत करने के कारण वह विवादों में आए.
3- जब वह अपने अभिनय के शिखर पर थे तब स्टारडस्ट पत्रिका ने उन पर 15 वर्ष प्रतिबंध लगा दिया था.
4- 1996 में उन्हें मिस वर्ल्ड प्रतियोगिता को अनुचित तरीके से आयोजित करने के कारण कानूनी कार्यवाई का सामना करना पड़ा था.

सामाजिक कार्यों में अमिताभ बच्‍चन का योगदान
1- इन सबके इतर अमिताभ बच्‍चन लोगों की मदद के लिए भी हमेशा आगे खड़े रहते हैं. वे सामाजिक कार्यों में काफी आगे रहते हैं. कर्ज में डूबे आंध्रप्रदेश के 40 किसानों को अमिताभ ने 11 लाख रूपए की मदद की. ऐसे ही विदर्भ के किसानों की भी उन्‍होंने 30 लाख रूपए की मदद की. इसके अलावा और भी कई ऐसे मौके रहे हैं जिसमें अमिताभ ने दरियादिली दिखाई है और लोगों की मदद की है.
2- जून 2000 में वे पहले ऐसे एशिया के व्‍यक्ति थे जिनकी लंदन के मैडम तुसाद संग्रहालय में वैक्‍स की मूर्ति स्‍थापित गई थी.

अमिताभ बच्चन के ऊपर लिखी जा चुकी हैं कई किताबें
1- अमिताभ बच्‍चन: द लिजेंड 1999 में, टू बी ऑर नॉट टू बी: अमिताभ बच्‍चन 2004 में, एबी: द लिजेंड (ए फोटोग्राफर्स ट्रिब्‍यूट) 2006 में, अमिताभ बच्‍चन: एक जीवित किंवदंती 2006 में, अमिताभ: द मेकिंग ऑफ ए सुपरस्‍टार 2006 में, लुकिंग फॉर द बिग बी: बॉलीवुड, बच्‍चन एंड मी 2007 में और बच्‍चनालिया 2009 में प्रकाशित हुई हैं.
2- वे शुद्ध शाकाहारी हैं और 2012 में पेटा इंडिया द्वारा उन्‍हें हॉटेस्‍ट वेजिटेरियन करार दिया गया. पेटा एशिया द्वारा कराए गए एक कांटेस्‍ट पोल में एशिया के सेक्सियस्‍ट वेजिटेरियन का टाईटल भी उन्‍होंने जीता.

टेक्‍नोलॉजी के दौर में भी सबसे एक्टिव बच्‍चन
आज का दौर सोशल मीडिया का है. खबरें पल पल में इंटरनेट पर अपलोड होती रहती हैं. ऐसे में हमारे बिगबी कहां पीछे रहने वाले हैं. वे भी फेसबुक, ट्विटर का जमकर इस्‍तेमाल करते हैं और यही कारण है कि दोनों सोशल नेटवर्किंग साइट्स पर उनके फैंस की संख्‍या लाखों-करोड़ों में है. वे अपने प्रंशसको को कभी नहीं निराश करते हैं और पल पल की घटनाओं को वे इन माध्‍यमों के जरिए शेयर करते हैं.

अमिताभ बच्चन के पुरस्‍कार
सर्वश्रेष्ठ अभिनेता के तौर पर उन्हें 3 बार राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार मिल चुका है. इसके अलावा 14 बार उन्हें फिल्मफेयर अवार्ड भी मिल चुका है. फिल्मों के साथ साथ वे गायक, निर्माता और टीवी प्रजेंटर भी रहे हैं. भारत सरकार ने उन्हें पद्मश्री और पद्मभूषण सम्मान से भी नवाजा है.

अमिताभ बच्चन की प्रसिद्ध फिल्में
सात हिंदुस्तानी, आनंद, जंजीर, अभिमान, सौदागर, चुपके चुपके, दीवार, शोले, कभी कभी, अमर अकबर एंथनी, त्रिशूल, डॉन, मुकद्दर का सिकंदर, मि. नटवरलाल, लावारिस, सिलसिला, कालिया, सत्ते पे सत्ता, नमक हलाल, शक्ति, कुली, शराबी, मर्द, शहंशाह, अग्निपथ, खुदा गवाह, मोहब्बतें, बागबान, ब्लैक, वक्त, सरकार, चीनी कम, भूतनाथ, पा, सत्याग्रह, शमिताभ जैसी शानदार फिल्मों ने ही उन्हें सदी का महानायक बना दिया.

अमिताभ बच्चन की फिल्में – लिस्ट, अमिताभ बच्चन ने कई फिल्मों में काम किया है कुछ इस प्रकार हैं:
1. सात हिंदुस्तानी (1969)
2. भुवन शोम (1969)
3. बॉम्बे टॉकी (1970)
4. परवाना (1971)
5. प्यार की कहानी
6. रेशमा और शेरा (1971)
7. गुड्डी (1971)
8. संजोग (1972)
9. पिया का घर (1972)
10. बॉम्बे टू गोवा (1972)
11. बावर्ची (1972)
12. बंसी बिरजू (1972)
13. एक नज़र (1972)
14. रास्ते का पत्थर (1972)
15. गरम मसाला (1972)
16. ज़ंजीर (1973)
17. बँधे हाथ (1973)
18. गहरी चाल (1973)
19. अभिमान (1973)
20. सौदागर (1973)
21. नमक हराम (1973)
22. बड़ा कबूतर (1973)
23.दोस्त (1974)
24. (1974)
25. बेनाम (1974)
26. रोटी कपडा और मकान (1974)
27. कुंवारा बाप (1974)
28. मजबूर (1974)
29. दिवार (1975)
30. ज़मीर (1975)
31. शोले (1975)
32. फ़रार (1975)
33. छोटी सी बात (1975)
34. चुपके चुपके (1975)
35. मिली (1975)
36. दो अंजाने (1976)
37. कभी कभी (1976)
38. हेरा फेरी (1976)
39. अदालत (1976)
40. बालिका वधू (1976)
41. चरनदास (1977)
42. अमर अकबर एन्थोनी (1977)
43. इमान धरम (1977)
44. ख़ून पासिना (1977)
45.शतरंज के खिलाड़ी (1977)
46. परवरिश (1977)
47. चला मुरारी हीरो बनने (1977)
48. अलाप (1977)
49. गंगा की सौगंध (1978)
50. कसमे वादे (1978)
51. बेशरम (1978)
52. त्रिशूल (1978)
53. डॉन (1978)
54. मुकद्दर का सिकन्दर (1978)
55. सिकंदर (1978)
56. द ग्रेट गैम्बलर (1979)
57. गोलमाल (1979)
58. अहसास (1979)
59. जुरमाना (1979)
60. मंज़िल (1979)
61. मि० नटवरलाल(1979)
62. काला पत्थर (1979)
65. सुहाग
66. दो और दो पांच (1980)
67. दोस्ताना (1980)
68. राम बलराम (1980)
69. शान (1980)
70. कमांडर (1981)
71. याराना (1981)
72. बरसात की एक रात (1981)
73. अनुसंधान (1981)
74. नसीब (1981)
75. चश्मे बद्दूर (1981)
76. लावारिस (1981)
77. सिलसिला (1981)
78. कालिया (1981)
79. विलायती बाबू (1981)
80. सत्ते पे सत्ता (1982)
81. बेमिसाल (1982)
82. देश प्रेम (1982)
83. नमक हलाल (1982)
84.खुद्दार(1982)
85. शक्ति (1982)
86. नास्तिक (1983)
87. अंधा कानून (1983)
88. महान (1983)
89. पुकार (1983)
90. कुली (1983)
91. इंकलाब (1984)
92. खबरदार (1984)
93. कानून क्या करेगा (1984)
94. पान खाए सइयां हमार (1984)
95. पेट प्यार और पाप (1984)
96. शराबी (1984)
97. गिरफ्तार (1985)
98. गुलामी (1985)
99. मर्द (1985)
100. आखिरी रास्ता (1986)
101. जलवा (1987)
102. कौन जीता कौन हारा (1988)
103. शहंशाह (1988)
104. हीरो हीरालाल (1988)
105. गंगा जमुना सरस्वती (1988)
106. सूरमा भोपाली(1988)
107. तूफ़ान (1989)
108. बटवारा (1989)
109. जादुगर (1989)
110. में आज़ाद हूं (1989)
111. अग्निपथ (1990)
112. क्रोध (1990)
113. आज का अर्जुन (1990)
114. हम (1991)
115. अजूबा (1991)
116. इंद्रजीत (1991)
117. अकेला (1991)
118. खुदा गवाह (1992)
119. ज़ुल्म की हुकुमत (1992)
120. प्रोफेसर की पड़ोसन (1993)
121. इन्सानियत (1994)
121. अक्का (1994)
122. घातक: लीथल(1996)
123. तेरे मेरे सपने (1996)
124. मृत्युदाता (1997)
125. मेजर साब (1998)
126. बड़े मियाँ छोटे मियाँ (1998)
127. हीरो हिंदुस्तानी (1998)
128. लाल बाधशाह (1999)
129. सूर्यवंशम (1999)
130. बीवी नंबर 1 (1999)
131. हिंदुस्तान की कसम (1999)
132. कोहराम (1999)
133. हेलो ब्रदर (1999)
134. मोहब्बतें (2000)
135. एक रिश्ता: द बॉन्ड ऑफ लव (2001)
136. लगान (2001)
137. अक्स (2001)
138. कभी खुशी कभी गम … (2001)
139. आंखें (2002)
140. हम किसी से कम नहीं (2002)
141. अग्नि वर्षा (2002)
142. कांटे (2002)
143. ख़ुशी (2003)
144. अरमान (2003)
145. मुंबई से आया मेरा दोस्त (2003)
146. बूम (2003)
147. बागबान (2003)
148. Fun 2shh: Dudes in the 10th Century(2003)
149. खाकी (2004)
150. एतबार (2004)
151. रुद्राक्ष (2004)
152. इंसाफ: द जस्टिस (2004)
153. देव (2004)
154. लक्ष्य (2004)
155. देवर (2004)
156. क्यूं! हो गया ना … (2004)
157. हम कौन हैं? (2004)
158. वीर-ज़ारा (2004)
159. अब तुमारे हवाले वतन साथियो (2004)
160. ब्लैक (2005)
161. वक़्त: द रेस अगेंस्ट टाइम (2005)
162. बंटी और बबली (2005)
163. परिणीता (2005)
164. पहल (2005)
165. सरकार (2005)
166. विरुध … फैमिली कम्स फर्स्ट (2005)
167. रामजी लंदनवाले (2005)
168. दिल जो भी कहे … (2005)
169. अमृतधारा (2005)
170. एक अजनबी (2005)
171. फैमिली (2006)
172. डरना ज़रूरी है (2006)
173. अमृता वर्शम (2006)
174. कभी अलविदा ना कहना (2006)
175. गंगा (2006)
176. बाबुल (2006)
177. एकलव्य: द रॉयल गार्ड (2007)
178. निशब्द (2007)
179. एक क्रांतिवीर: वासुदेव बलवंत फाड़के (2007)
180. चीनी कम (2007)
181. शूटआउट एट लोखंडवाला (2007)
182. स्वामी (2007)
183. झूम बराबर झूम (2007)
184. आग (2007)
185. द लास्ट लीअर(2007)
186. ओम शांति ओम (2007)
187. जोधा अकबर (2008)
188. यार मेरी जिंदगी (2008)
189. भूतनाथ (2008)
190. सरकार राज (2008)
191. गॉड तुस्सी ग्रेट हो (2008)
192. दिल्ली -6 (2009)
193. ज़ोर लगा के… हैया! (2009)
194. अलादीन (2009)
195. पा (2009)
196. रन (2010)
197- तीन पत्ती (2010)
198. आरक्षण (2011)
200. रा.वन (2011)
202. कहानी (2012)
203. बोल बच्चन (2012)
204. इंग्लिश विंग्लिश (2012)
205. सत्याग्रह (2013)
206. बॉस (2013)
207. क्रिश 3 (2013)
208. महाभारत (2013)
209. भूतनाथ रिटर्न्स (2014)
210. हे ब्रो (2015)
211. पिकू (2015)
212. वज़ीर (2016)
213. की एंड का (2016)
214. पिंक (2016)
215. द गाजी अटैक (2017)
216. बेगम जान (2017)
217. सरकार 3 (2017)
218. फिरंगी (2017)
219. पैड मैन (2018)
220. 102 नॉट आउट (2018)
221. हेलीकॉप्टर ईला(2018)
222. ठग्स ऑफ हिंदोस्तान (2018)
223. मणिकर्णिका: द क्वीन ऑफ़ झाँसी (2019)
224. बदला (2019)
225. घूमकेतु (2020)
226.गुलाबो सिताबो(2020)

अमिताभ बच्चन से जुड़ी कुछ दिलचस्प बातें
1- उनका जन्म उत्तर प्रदेश के इलाहाबाद जिले में हरिवंश राय बच्चन और तेजी बच्चन के घर हुआ.
2- उनके पूर्वज उत्तर प्रदेश के प्रतापगढ़ जिले के गांव बाबूपट्टी से थे.
3- उनकी माँ तेजी बच्चन पाकिस्तान के ल्यालपुर (फैसलाबाद) के एक सिख समुदाय से थीं.
4- उनके पिता हरिवंश राय बच्चन एक प्रसिद्ध हिंदी कवि थे.
5- प्रारंभ में उनका नाम इंक़लाब रखा गया था लेकिन राष्ट्रीय कवि सुमित्रानंदन पंत (हरिवंश राय बच्चन के साथी कवि) के सुझाव के बाद उनका नाम अमिताभ रखा गया. उनके नाम का अर्थ वह प्रकाश जो कभी ना ढले.
6- उनका असली उपनाम श्रीवास्तव था, उनके पिता ने श्रीवास्तव से बच्चन रखा.
7- उनकी माँ थिएटर में बहुत दिलचस्पी रखती थीं और उन्होंने एक फीचर फिल्म में भी भूमिका अदा की थी, जिसके बाद उन्हें फिल्मों में कार्य करने के प्रस्ताव आने लगे परंतु उन्होंने घरेलू कर्तव्यों को प्राथमिकता दी.
8- वह एक इंजीनियर बनना चाहते थे और भारतीय वायु सेना में शामिल होने के लिए काफी उत्सुक थे.
9- अमिताभ बच्चन को उनकी भारी आवाज़ के लिए जाना जाता है परंतु ऑल इंडिया रेडियो ने उनकी इस आवाज को खारिज कर दिया था.
10- अपनी डेब्यू फिल्म सात हिंदुस्तानी में काम करने से पहले, उन्होंने मृणाल सेन की राष्ट्रीय पुरस्कार विजेता फिल्म – भुवन शोम (1969) में अपनी आवाज दी थी.
11- 1971 की फिल्म आनंद में डॉक्टर की भूमिका के लिए उन्हें सर्वश्रेष्ठ सहायक अभिनेता के पहले फिल्मफेयर पुरस्कार से सम्मानित किया गया.
12- उन्होंने पहली बार अपनी वर्तमान पत्नी जया भादुरी के साथ फिल्म – गुड्डी (1971) में कार्य किया. जिसमें उन्होंने एक अतिथि की भूमिका अदा की थी.
13- प्रकाश मेहरा की फिल्म – जंजीर (1973) के बाद वह बहुत लोकप्रिय अभिनेता बने, जिसमें उन्होंने इंस्पेक्टर विजय खन्ना की भूमिका निभाई थी. इस फिल्म ने उन्हें एक उपनाम दिया – एंग्री यंग मैन, जो बॉलीवुड फिल्मजगत में सबसे प्रतिष्ठित किरदारों में से एक माना जाता है.
14- भारतीय फिल्म – शोले में उन्होंने जय की भूमिका अदा की जिसके लिए उन्हें एक लाख का पारितोषिक मिला.
15- 26 जुलाई 1982 को, बेंगलुरु विश्वविद्यालय के कैंपस में, फिल्म कुली के चित्रण के दौरान, उन्हें गंभीर चोट लगी.

अमिताभ बच्चन की जीवनी, अमिताभ बच्चन की बायोग्राफी, अमिताभ बच्चन आयु/उम्र, अमिताभ का करियर, अमिताभ की फिल्में, अमिताभ की शादी, अमिताभ का राजनीतिक करियर, अमिताभ से जुड़े विवादAmitabh Bachchan Ki Jivani, Amitabh Bachchan Biography In Hindi, Amitabh Bachchan Age, Amitabh Bachchan Career, Amitabh Bachchan Film, Amitabh Political Career,  Amitabh Television Career

ये भी पढ़े –

रेखा की जीवनी , रेखा की बायोग्राफी, रेखा की फिल्में, रेखा का करियर, रेखा की शादी, Rekha Ki Jivani, Rekha Biography In Hindi, Rekha Films, Rekha Career

संजय दत्त की जीवनी, संजय दत्त की बायोग्राफी, संजय दत्त का करियर, संजय दत्त की शादी, संजय दत्त की फिल्में, Sanjay Dutt Ki Jivani, Sanjay Dutt Biography In Hindi

ए आर रहमान की जीवनी, ए आर रहमान की बायोग्राफी, ए आर रहमान के गानें, ए आर रहमान का करियर, ए आर रहमान की शादी, A.R. Rahman Ki Jivani

ऋतिक रोशन की जीवनी, ऋतिक रोशन की बायोग्राफी, ऋतिक रोशन की फिल्में, ऋतिक रोशन का करियर, ऋतिक रोशन की शादी, Hrithik Roshan Ki Jivani

शिल्पा शेट्टी की जीवनी, शिल्पा शेट्टी की बायोग्राफी, शिल्पा शेट्टी की फिल्में, शिल्पा शेट्टी का करियर, शिल्पा शेट्टी शादी, Shilpa Shetty Ki Jivani, Shilpa Shetty Biography In Hindi

सनी लियोन की जीवनी, सनी लियोन की बायोग्राफी, सनी लियोन की फिल्में, सनी लियोन का करियर, सनी लियोन की शादी, Sunny Leone Ki Jivani, Sunny Leone Biography In Hindi

जॉनी सिन्स की जीवनी, जॉनी सिन्स की बायोग्राफी, जॉनी सिंस की जीवनी, जॉनी सिन्स का करियर, जॉनी सिन्स से जुड़ी दिलचस्प बातें, Johnny Sins Ki Jivani, Johnny Sins Biography In Hindi

नोरा फतेही की जीवनी, नोरा फतेही की बायोग्राफी, नोरा फतेही का असली नाम, नोरा फतेही के फिल्मों की लिस्ट, Nora Fatehi Ki Jivani, Nora Fatehi Biography In Hindi

मलाइका अरोड़ा की जीवनी, मलाइका अरोड़ा की बायोग्राफी, मलाइका अरोड़ा का करियर, मलाइका अरोड़ा की फिल्में, Malaika Arora Ki Jivani, Malaika Arora Biography In Hindi

अमरीश पुरी जीवनी, अमरीश पुरी की बायोग्राफी, अमरीश पुरी का करियर, अमरीश पुरी की फिल्में, Amrish Puri Ki Jivani, Amrish Puri Biography In Hindi

अभिषेक बच्चन, अभिषेक, अभिषेक बच्चन की जीवनी, अभिषेक बच्चन की पहली फिल्म, अभिषेक बच्चन की उम्र, अभिषेक बच्चन की बेटी, Abhishek, Abhishek Bachchan Biography

मनोज बाजपेयी की जीवनी, मनोज बाजपेयी की बायोग्राफी, मनोज बाजपेयी के फिल्मों की लिस्ट, मनोज बाजपेयी का निजी जीवन, Manoj Bajpayee Ki Jivani, Manoj Bajpayee Biography In Hindi

करीना कपूर जीवनी, करीना कपूर की उम्र, करीना कपूर की फिल्में, करीना कपूर की अपकमिंग फिल्म, करीना कपूर फैमिली, Kareena Kapoor Ki Jivani, Kareena Kapoor Biography In Hindi

ड्वेन जॉनसन की जीवनी, ड्वेन जॉनसन की बायोग्राफी, ड्वेन जॉनसन के वीडियो गेमस, ड्वेन जॉनसन का करियर, Dwayne Johnson Ki Jivani, Dwayne Johnson Biography In Hindi

विल स्मिथ की जीवनी, विल स्मिथ की बायोग्राफी, विल स्मिथ का करियर, विल स्मिथ के रैप, विल स्मिथ के फिल्मों की लिस्ट, Will Smith Ki Jivani, Will Smith Biography In Hindi

पंकज त्रिपाठी की जीवनी, पंकज त्रिपाठी की बायोग्राफी, पंकज त्रिपाठी की उम्र, पंकज त्रिपाठी का करियर, Pankaj Tripathi Ki Jivani, Pankaj Tripathi Biography In Hindi

चिरंजीवी की जीवनी, चिरंजीवी की बायोग्राफी, चिरंजीवी का करियर, चिरंजीवी के पुरस्कार, चिरंजीवी का विवाह, Chiranjeevi Ki Jivani, Chiranjeevi Biography In Hindi, Chiranjeevi Career

मामूट्टी की जीवनी, मामूट्टी की बायोग्राफी, मामूट्टी का करियर, मामूट्टी की शिक्षा, मामूट्टी के पुरस्कार, Mammootty Ki Jivani, Mammootty Biography In Hindi, Mammootty Career

टॉम क्रूज़ की जीवनी, टॉम क्रूज़ की बायोग्राफी, टॉम क्रूज़ का करियर, टॉम क्रूज़ की उपलब्धियां, टॉम क्रूज़ के पुरस्कार, Tom Cruise Ki Jivani, Tom Cruise Biography In Hindi, Tom Cruise Career

सोनू सूद की जीवनी, सोनू सूद की बायोग्राफी, सोनू सूद फिल्मी करियर, सोनू सूद की फिल्में, सोनू सूद के पुरस्कार, सोनू सूद की उम्र, Sonu Sood Ki Jivani, Sonu Sood Biography In Hindi