मेष राशि के अच्छे दिन कब आएंगे, Mesh Rashi Ke Acche Din Kab Aaenge, मेष राशि की किस्मत कब चमकेगी?, मेष राशि का अच्छा समय कब आएगा?, मेष राशि की परेशानी, मेष राशि वाले दुखी क्यों रहते हैं?, Mesh Rashi Ki Kismat Kab Chamkegi?, Mesh Rashi Ka Achchha Samay Kab Aaega?, Mesh Rashi Ki Pareshani, Mesh Rashi Vale Dukhi Kyon Rehte Hain?, मेष राशि का अच्छा वक्त कब आएगा, Mesh Rashi Ka Achchha Vakt Kab Aaega

मेष राशि के अच्छे दिन कब आएंगे, Mesh Rashi Ka Achchha Vakt Kab Aaega
ज्योतिष के अनुसार राशियाँ 12 प्रकार की होती है. राशि चक्र की पहली राशि मेष है, जिनके नाम का प्रथम अक्षर Choo, Che, Cho, Laa, Lee, Loo, Le, Lo, A चू, चे, चो, ला, ली, लू, ले, लो, अ इत्यादि से प्रारंभ होता उनकी राशि मेष होती है. ये सभी अक्षर मेष राशि से संबध रखते है. इस राशि का चिन्ह ”मेढा’ या भेड़ा है जो इनके जुझारू होने के लक्षण को प्रकट करता है. मेष अग्नि तत्व वाली राशि है, अग्नि त्रिकोण (मेष, सिंह, धनु) की यह पहली राशि है, इसका स्वामी मंगल अग्नि ग्रह है, राशि और स्वामी का यह संयोग इसकी अग्नि या ऊर्जा को कई गुना बढ़ा देती है, यही कारण है कि मेष जातक ओजस्वी, दबंग, साहसी, और दॄढ इच्छाशक्ति वाले होते हैं. लेकिन कई बार किसी कारणवश काफी मेहनत करने के बाद भी ये सफलता हासिल नहीं कर पाते और दुखी हो जाते हैं, इसलिए आज इस खबर में हम आपकों बताएंगे कि मेष राशि के अच्छे दिन कब और कैसे आएंगे, मेष राशि की परेशानी, मेष राशि वाले दुखी क्यों रहते हैं और परेशानी से छुटकारा पाने के उपाय-

मेष राशि के अच्छे दिन कब और कैसे आएंगे, मेष राशि का अच्छा समय कब आएगा?, मेष राशि का अच्छा वक्त कब आएगा, Mesh Rashi Ke Acche Din Kab Aaenge, Mesh Rashi Ka Achchha Samay Kab Aaega?, Mesh Rashi Ka Achchha Vakt Kab Aaega
A . इष्ट देव की पूजा करने से मेष राशि के अच्छे दिन आएंगे
माना जाता है कि इष्ट देव का संबंध हमारे कर्मों और हमारे जीवन से होता है. धार्मिक मान्यताओं के अनुसार इष्ट देव की पूजा करने से व्यक्ति को अच्छे और शुभ फल की प्राप्ति होती है. इष्ट देव की पूजा करने से कुंडली के सारे ग्रह दोष समाप्त हो जाते हैं. इसलिए अगर मेष राशि के जातक अपनी राशिनुसार इष्ट देव (Isht Dev) की पूजा करें तो जल्द ही उनके अच्छे दिन आएंगे. आज हम बात कर रहे है मेष राशि की, तो मेष राशि का स्‍वामी ग्रह मंगल है और इष्टदेव हनुमानजी और राम जी हैं. ऐसे में इष्ट देव हनुमानजी व राम जी की पूजा अर्चना करने से मेष राशि का अच्छा समय आएगा. यहां जानिए कि अच्छा वक्त लाने के लिए मेष राशि के लोग किस तरह से करें हनुमान जी और राम जी कू पूजा-

1. हनुमान जी की पूजा करने से आएंगे अच्छे दिन
मेष राशि के लोग अच्छे दिन लाने के लिए मंगलवार के दिन हनुमान जी की पूजा करें. मंगलवार के दिन सुबह उठकर स्नान आदि से निवृत होकर लाल स्वच्छ वस्त्र धारण करें. कोशिश करें कि आपने जो वस्त्र पहना है वह सिला हुआ ना हो. घर के ईशान कोण को साफ कर वहां चौकी स्थापित करें. चौकी के उपर लाल वस्त्र बिछाकर उसपर हनुमान जी की मूर्ति या तस्वीर के साथ भगवान श्री राम और माता सीता की भी प्रतिमा स्थापित करें. इसके बाद घी का दीपक और धूप जलाएं. सुंदर कांड का पाठ करें और हनुमान जी के मंत्र श्री हनुमंते नम: का जाप करें. इसके बाद हनुमान जी को लाल फूल, लाल सिंदूर और चमेली का तेल चढ़ाएं. अब हनुमान चालीसा का पाठ कर हनुमान जी की आरती करें और भगवान को गुड़, केले और लड्डू का भोग लगाएं. तथा परिवार के सदस्यों को प्रसाद बांटें. वहीं यदि आपने मंगलावर का व्रत रखा है तो ध्यान रहे कि आपको इस दिन सिर्फ एक बार शाम के समय भोजन करना है. इस दौरान आप अपने भोजन में केवल मीठा भोजन सम्मिलित करें. दिन में आप दूध, केले और मीठे फलहार को शामिल करें. महिलाएं इस बात का ध्यान रखें कि व्रत और पूजा के दौरान वह हनुमान जी को लाल वस्त्र या सिंदूर ना चढ़ाएं क्योंकि हनुमान जी ब्रम्हचारी थे. साथ ही वे अपने शुद्ध दिनों में ही हनुमान जी की पूजा अर्चना करें. उपर दी गई विधि से अगर मेष राशि के जातक पूरी श्रद्धा व आस्था से पूजा करेंगे तो जल्द ही उनके अच्छे दिन आएंगे.

2. राम जी की पूजा करने से आएंगे अच्छे दिन
मेष राशि के लोग अच्छे दिन लाने के लिए राम जी की पूजा करें. राम जी की पूजा के लिए मेष राशि के जातक सूर्योदय से पहले उठ जाएं व सभी नित्यकर्मों से निवृत्त हो स्नानादि कर स्वच्छ वस्त्र पहन लें. अब श्री राम जी के समक्ष दीप जलाएं, श्री राम का ध्यान लगाएं और अपनी मनोकामनाएं मांगे. इसके बाद श्री राम को मिष्ठान, फल, फूल आदि अर्पित करें. पूजा करते समय इस बात का ध्यान रखें कि भगवान श्रीराम की पूजा में तुलसी का पत्ता होना अनिवार्य है क्योंकि श्रीराम विष्णु जी के अवतार हैं और भगवान विष्णु को तुलसी बेहद प्रिय है. इसके बाद राम जी के मंत्र ॐ नमो भगवते रामचंद्राय: का जाप करें. अगर संभव हो तो घर में हवन कराएं. अंत में श्री राम की आरती करें. पूजा के बाद रामचरितमानस, रामायण और रामरक्षास्तोत्र का पाठ जरूर करें. इसे पढ़ना बहुत शुभ माना जाता है. अगर मेष राशि के लोग इस तरह से श्री राम की पूजा करें तो शाघ्र ही उनका अच्छा समय/ वक्त आ जाएगा.

B. मंगलवार का व्रत करने से आएंगे अच्छे दिन
मेष राशि के जातक अगर मंगलवार का व्रत करें तो उनके अच्छे दिन आने में ज्यादा समय नहीं लगेगा. जैसा कि आप जानते हैं मंगलवार का दिन जीवन में सब मंगल ही मंगल करने वाले संकटमोचक हनुमान जी (Lord Hanuman) की उपासना के लिए जाना जाता है. साथ ही साथ इस दिन मंगल देवता (Mangal Dev) की भी पूजा की जाती है, जिनके नाम पर इस वार का नाम रखा गया है. इन दोनों ही देवताओं का आशीर्वाद पाने के लिए मंगलवार का व्रत रखा जाता है. अगर मेष राशि के लोग पूरे विधि विधान से मंगलवार का व्रत करें तो उनके जीवन से जुड़े सभी संकट दूर हो जाएंगे, उन्हें सुख, संपत्ति और आरोग्य की प्राप्ति होगी. शत्रुओं का नाश होगा तथा उनके जीवन में अच्छे दिन आएंगे.
मंगलवार व्रत की विधि
मंगलवार का व्रत किसी भी मास के शुक्ल पक्ष के पहले मंगलवार से शुरु किया जाता सकता है. इस व्रत को करने वाले साधक को मंगलवार के दिन बगैर सिला हुआ लाल कपड़ा (जैसे लाल रंग की धोती) पहनकर ही श्री हनुमान जी की उपासना करनी चाहिए. व्रत वाले दिन हनुमान जी को धूप, दीप, नैवेद्य, लाल रंग के फल, लाल रंग के फूल, लाल रंग की मिठाई, नारियल आदि चढ़ाना चाहिए. इसके बाद हनुमान चालीसा या श्री हनुमानाष्टक का पाठ करना चाहिए. यदि आपके घर के पास मंगल देव का मंदिर हो तो उनकी भी विधि-विधान से पूजा करें और न हो तो घर पर ही उनका नाम लेकर विधि-विधान से पूजा करें. उसके बाद मंगलवार व्रत की कथा पढ़ें अथवा किसी के माध्यम से सुनें. ध्यान रहे कि मंगलवार के व्रत में व्रती को गेहूं और गुड़ से बना प्रसाद ग्रहण करना चाहिए. साथ ही साथ इन्हीं चीजों का दान किसी ब्राह्मण को करना चाहिए. मंगलवार के व्रत में साधक को भूलकर भी नमक का सेवन नहीं करना चाहिए. अपने जीवन में अच्छे दिन लाने के लिए मेष राशि के जातकों को कम से कम 21 मंगलवार का व्रत रखते हुए अंतिम मंगलवार को खैर की लकड़ी से हवन करना चाहिए.

C. सोमनाथ ज्योतिर्लिंग पर पूजा करने से मेष राशि के आएंगे अच्छे दिन
भगवान शंकर के पृथ्वी पर 12 ज्योतिर्लिंग हैं और इन सभी ज्योतिर्लिंगों का अपना अलग महत्व है. शास्त्रों के अनुसार भगवान शंकर के ये सभी ज्योतिर्लिंग प्राणियों को दु:खों से मुक्ति दिलाने व जीवन में सुखों को लाने में मददगार हैं. इन सभी ज्योतिर्लिंगों को 12 राशियों से भी जोड़कर देखा जाता है. इस आधार पर मेष  राशि वालों को अपने अच्छे दिन लाने के लिए गुजरात के सौराष्ट्र क्षेत्र (काठियावाड़) के वेरावल बंदरगाह में स्थित सोमनाथ ज्योतिर्लिंग के सोमनाथ देव की पूजा करनी चाहिए. सोमनाथ ज्योतिर्लिंग का निर्माण स्वयं चन्द्रदेव ने किया था. इस मंदिर में सोमनाथ देव की पूजा पंचामृत से की जाती है. कहा जाता है कि जब चंद्रमा को शिव ने शाप मुक्त किया तो उन्होंने जिस विधि से साकार शिव की पूजा की थी उसी विधि से आज भी सोमनाथ की पूजा होती है. इसलिए मेष राशि वालों को सोमनाथ देव की पूजा पंचामृत से करनी चाहिए. गंगाजल, दूध, दही, शहद व घी को मिलाकर पंचामृत का निर्माण किया जाता है. शिव परिवार को पंचामृत अर्पण करने का भी विशेष महत्व है. सोमवार के दिन शिव की पंचामृत पूजा हर मनौती को पूरा करने वाली मानी गई है. अगर मेश राशि के जातक सोमनाथ ज्योतिर्लिंग के सोमनाथ देव की पूजा पंचामृत से करें तो जल्द ही उनके अच्छे दिन आएंगे.

मेष राशि की किस्मत कब चमकेगी?, Mesh Rashi Ki Kismat Kab Chamkegi?
A. मंगल दोष निवारण से चमकेगी मेष राशि की किस्मत
जानकारी हो कि मेष लग्न की बाधक राशि कुंभ तथा बाधक ग्रह शनि है. मंगल नेक और बद (खराब या अशुभ) होता है. मांस खाने, भाइयों से झगड़ने और क्रोध करने से मंगल अशुभ होता है. इसके अलावा यदि कुंडली के प्रथम, चतुर्थ, सप्तम, अष्टम अथवा द्वादश भाव में मंगल होता है तब इसे मंगलिक दोष माना जाता है. इसलिए मेष राशि के जातक यहां दिए जा रहे मंगल दोष निवारण का उपाय कर अपनी किस्मत चमका सकते हैं-
1. मेष राशि वालों का राशि स्‍वामी मंगल को माना जाता है जो कि स्‍वभाव से काफी उग्र होते हैं. इस वजह से मेष वालों को क्रोध काफी आता है. बेहतर होगा कि आप हर बात में धैर्य से काम लें.
2. काले और नीले रंग से दूर रहें. आसमानी रंग का उपयोग कर सकते हैं.
3. राशि की उग्रता को कम करने के लिए मेष के जातकों को रात में सोते वक्‍त सिरहाने एक गिलास पानी रखकर सोना चाहिए. सुबह उस जल को किसी गमले में डाल दें.
4. हमेशा अपनों से बड़ों का सम्मान करें और उनसे आशीर्वाद लेते रहें
5. कभी-कभी गुलाबी या लाल चादर पर सोएं. घर से जब भी बाहर निकलें, जेब में लाल रंग का रूमाल रखकर ही निकलें. दिन ढलने के बाद राशि स्‍वामी मंगल ग्रह की कृपा पाने के लिए बच्‍चों में गुड़ बांटें.
6. ग्रहों को शांति रखने के लिए आपको बांए हाथ में चांदी का छल्‍ला धारण करना चाहिए. इसके साथ ही साधु, संतों , मां और गुरुओं की सेवा करें.
7. आपकी राशि के लोगों को मीठी वस्‍तुओं का व्‍यापार नहीं करना चाहिए. इसके साथ ही आंगन में नीम का पेड़ लगाएं.
8. प्रतिदिन हनुमान चालीसा पढ़ें.
9. मेष राशि के जातकों को अपनी किस्मत चमकाने के लिए कमल के गट्टे की माला लाल वस्त्र में बांधकर अपने गले में धारण करना चाहिए अथवा इसे मंदिर में रखना रखना चाहिए.
10. रोज सुबह 108 बार ‘ ऊं आदित्याय नम:’ मंत्र का जाप करें.
11. मसूर की दाल बहते जल में प्रवाहित करें या मंदिर में दान करें.
12. सफेद रंग का सुरमा आंखों में लगाएं.
13. किसी से कोई वस्‍तु मुफ्त में न लें.
14. हाथी के दांत से बनी किसी वस्‍तु का प्रयोग न करें.
15. विधवाओं की नि:स्वार्थ मदद करें.
16. मेहमानों को मिठाई जरूर खिलाएं.
17. इस राशि वाले जातकों को अपनी मनोकांक्षा पूरी करने के लिए- ‘ॐ क्रां क्रीं क्रौं सः भौमाय नमः’- मंत्र का 10000 जाप करना चाहिए .

मेष राशि की परेशानी, Mesh Rashi Ki Pareshani
मेष राशि के कई जातक अपने जीवन का ज्यादातर समय परेशानी में बिताते हैं, उनका स्वभाव ही कई बार उनकी परेशानी की वजह बन जाता है. आइये जानते हैं वे कौन से कारण हैं जिसके चलते मेष राशि के व्यक्ति परेशान रहते हैं-
1. मेष राशि वाले कुछ व्यक्ति जिद्दी स्वभाव के भी होते हैं. ये लोग तब तक अपनी गलती नहीं मानते, जब तक उन्हें किसी तरह का भारी नुकसान नहीं उठाना पड़ जाए.
2. इस राशि के लोगों को जल्दी क्रोध आ जाता है और ऐसे लोग अपमान सहन नहीं कर सकते हैं.
3. मेष राशि के जातक को स्वयं के गुप्त भेदों के प्रकट हो जाने का डर रहता है.
4. इस राशि वाले पुरुष में एक विशिष्ट गुण होता है कि यदि ये लोग एक बार किसी के हो जाते हैं, तो उन्हें अपना सब कुछ दे बैठते हैं. अपने इस व्यवहार के कारण उन्हें अक्सर हानि उठानी पड़ जाती है.
5. परिवार में अक्सर किसी एक व्यक्ति से इनकी खटपट चला करती है.
6. मेष राशि का व्यक्ति चर्चा के दौरान बहुत जोश दिखाता है, और इस वजह से वह गलत को भी सही कहने से हिचकते नहीं है. अपनी बात को सही साबित करने के लिए ये किसी भी हद तक चले जाते हैं.
7. मेष राशि वाला व्यक्ति प्रेम के विषय में दूसरों को मूर्ख बनाता है.

मेष राशि वाले दुखी क्यों रहते हैं?, Mesh Rashi Vale Dukhi Kyon Rehte Hain? 
मेष राशि मंगल की राशि है. इस राशि के जातक काफी भावुक होते हैं और बात बात पर उदास हो जाते हैं. मेष राशि के जातक जीवन के कई महत्वपूर्ण पहलुओं में सफलता हासिल करने के लिए काफी मेहनत करते हैं, पर इन्हें सफलता कम ही मिलती है. ये अपने भविष्य को लेकर काफी चिंतित रहते हैं. इस राशि के कई मूल निवासी असंभव विचारों को पूरा करने का प्रयास करते हैं, इन्हे बहुत जल्दी क्रोध आ जाता है, और इनका क्रोध ही इनके दुख का सबसे बड़ा कारण है. मेष राशि के व्यक्ति थोड़े से जिद्दी स्वभाव के होते हैं, जिस किसी चीज को पाने के ये जिद्द पकड़ ले उसे पाने के लिए अपना पूरा दम लगा देते हैं. पर जब वो चीज इन्हें नहीं मिलती तो ये लोग दुखी हो जाते हैं. यह प्रेम करना और प्रेम पाना तो जानते हैं परंतु प्रेम निभाने में ये कई बार असफल होते हैं, इन्हें रिश्तों को निभाने में परेशानी आती हैं. यदि मेष राशिवालों का मंगलबद है तो इन्हें प्रेम में असफलता ही हाथ लगती है. जिसके चलते ये दुखी रहते हैं. इस राशि के व्यक्ति कम समय और कम मेहनत करके अमीर बनने का ख्वाब देखते हैं, जबकि ऐसा संभव नहीं है, फलस्वरूप इस तरह के खयाली पुलाव व सपने भी इन राशि के जातकों के दुख का बड़ा कारण है.

दुखों से छुटकारा पाने के उपाय, Dukho Se Chutkara Paane Ke Upay
1. दुखों से छुटकारा पाने के लिए मंगलवार को हनुमान जी का व्रत रखें. यदि व्रत रखना संभव न हो सके तो हनुमान जी की पूजा अवश्य करें.
2. दुखों से छुटकारा पाने के लिए हर मंगलवार हनुमान चालीसा या बजरंग बाण का पाठ अवश्य करें. ऐसा करने से अवश्य ही आपकी मनोकामना पूर्ण होगी.
3. मेष राशि के जातक कोई भी महत्वपूर्ण कार्य मंगलवार को करें तो श्रेष्ठ फल प्राप्त होगा.
4. प्रत्येक मंगलवार को हनुमान जी के मंदिर में जाकर बूंदी का प्रसाद चढ़ाकर बांटना शुभ रहेगा. इससे जीवन में आने वाली अकस्मात परेशानियां दूर हो जाएंगी.
5. हनुमान जी को चोला चढ़ाये और चने का भोग लगाएं.
6. मंगलवार के दिन गरीबो को गुड़ बांटे, तथा हनुमान जी को गुलाब की माला अर्पित करें.
7. मेष राशि के लोग दुख से निजात पाने के लिए बहन, बुआ और बेटियों को अक्‍सर उपहार देते रहें.
8. हर मंगलवार को मीठी रोटी गाय को खिलाएं, इससे अवश्य ही मेष राशि को दुखो से छुटकारा मिलेगा.

मेष राशि के अच्छे दिन कब आएंगे, Mesh Rashi Ke Acche Din Kab Aaenge, मेष राशि की किस्मत कब चमकेगी?, मेष राशि का अच्छा समय कब आएगा?, मेष राशि की परेशानी, मेष राशि वाले दुखी क्यों रहते हैं?, Mesh Rashi Ki Kismat Kab Chamkegi?, Mesh Rashi Ka Achchha Samay Kab Aaega?, Mesh Rashi Ki Pareshani, Mesh Rashi Vale Dukhi Kyon Rehte Hain?, मेष राशि का अच्छा वक्त कब आएगा, Mesh Rashi Ka Achchha Vakt Kab Aaega