कंप्यूटर क्या है, कंप्यूटर का हिंदी नाम, कंप्यूटर की परिभाषा, कंप्यूटर का फुल फॉर्म, कंप्यूटर हिंदी में, What Is Computer, Name of Computer in Hindi, Definition of Computer, Computer Full form, Computer in Hindi

कंप्यूटर क्या है?
कंप्यूटर एक इलेक्ट्रॉनिक मशीन है जो उपयोगकर्ता द्वारा दिए गए निर्देशों को ग्रहण करती है और डाटा को प्रोसेस करती है. जैसा कि हम सब जानते है कि आज कंप्यूटर हमारे लाइफ का बहुत ही इंपॉर्टेंट हिस्सा बन चुका है. यह हमारे बहुत सारे काम कम समय में और बहुत ही आसानी से कर देता है. तो चलिए आज हम आपके लिए कंप्यूटर से जुड़ी कुछ जानकारी लेकर आए है.

कंप्यूटर का हिंदी नाम
सबसे पहले हम बात करते है कि कंप्यूटर को हिंदी में क्या कहते है तो आपको बता दें कि कंप्यूटर को हिंदी में संगणक कहते हैं. यह एक ऐसी इलेक्ट्रॉनिक मशीन है जो यूजर द्वारा इनपुट किये गए डाटा को इनपुट डिवाइस के स्वीकार करती है, फिर उसे प्रोसेस करने के बाद सूचनाओं को आउटपुट डिवाइस के द्वारा रिजल्ट के रूप में दिखाता है. इसमें डाटा को स्टोर भी कर सकते हैं जिससे इसे भविष्य में इस्तेमाल कर सकते हैं. Computer लैटिन भाषा के शब्द Computare से बना हुआ है जिसका मतलब होता है गणना करना.

कंप्यूटर का फुल फॉर्म क्या है?
C – Commonly
O – Operated
M – Machine
P – Particularly
U – Used for
T – Technical
E – Educational
R – Research

कंप्यूटर की परिभाषा क्या है?
कंप्यूटर एक इलेक्ट्रॉनिक यन्त्र है जो यूजर से इनपुट किये गए डाटा को प्रोग्राम के अनुसार प्रोसेस करता है और इसके बाद आउटपुट के रूप में रिजल्ट दिखाता है. जिसे भविष्य में भी प्रयोग किया जा सकता है.

कंप्यूटर के स्क्रीन को क्या कहते हैं?
हम जब इस यंत्र में काम करते हैं तो इसके लिए मॉनिटर का इस्तेमाल करते हैं जो की इसका एक आउटपुट डिवाइस हैं. तो आप खुद ही ये समझ सकते हैं की स्क्रीन को मॉनिटर कहते हैं.

कंप्यूटर के स्क्रीन को क्या कहते हैं?
हम जब इस यंत्र में काम करते हैं तो इसके लिए मॉनिटर का इस्तेमाल करते हैं जो की इसका एक आउटपुट डिवाइस हैं. तो आप खुद ही ये समझ सकते हैं की स्क्रीन को मॉनिटर कहते हैं.

कंप्यूटर कैसे काम करता है?
दोस्तों डेस्कटॉप और लैपटॉप में तो हर कोई काम करता है. लेकिन सबको ये मालूम नहीं होता की आखिर यह काम कैसे करता है. तो चलिए आपको बताते है कि कंप्यूटर कैसे काम करता है

  • Input:– सबसे पहले इनपुट डिवाइस से यूजर डाटा को इसमें डालता है उसे input कहते हैं.
    ये set of data या information होता है. जो की कई प्रकार के होते हैं जैसे letters, numbers, words, audio, video इत्यादि.
  • Processing:– ये एक internal process होता है. Input किये हुए डाटा को program में दिए instruction के आधार पर process करता है.
  • Output:– Processed data को रिजल्ट के रूप में मॉनिटर पर देखते हैं उसे output बोलते हैं. जब डाटा process हो जाता है तो वो monitor स्क्रीन, प्रिंटर, audio device के जरिये हमे मिल जाता है.

कंप्यूटर का आविष्कार किसने किया?
बात करें कंप्यूटर के आविष्कार की तो इसका आविष्कार दुनिया के सबसे बड़े आविष्कारों में से एक है. क्यों की इसने पूरी दुनिया को बदल दिया. सारे काम अब इसी से किये जाते है. इसने इंसानो के काम को बहुत आसान बना दिया है.

  • क्या आप जानते है की इस का आविष्कार किसने किया और इसके जनक कौन हैं. अगर नही मालूम तो जान लीजिये की इस का आविष्कार जिस इंसान ने किया था उनका नाम Charles Babbage है.
  • Charles Babbage इस के पिता कहे जाते हैं जिन्होंने 1822 में Differential engine नाम से mechanical कंप्यूटर बनाया था.
  • वैसे तो इस को develop या विकसित करने में बहुत सारे लोगों ने वक़्त के साथ योगदान दिया है. 1837 में उन्होंने Analytical engine के रूप में पहला modern सिस्टम दुनिया के सामने लाया.
  • Analytical engine में ALU (Arithmetic and Logic unit), basic flow control और integrated memory का प्रयोग किया था.
  • आजकल के सिस्टम भी इसी मॉडल के आधार पर बनाये जाते हैं. यही वजह है की उन्हें modern age सिस्टम का जनक कहा जाता है.

कंप्यूटर का महत्व क्या है
1- शिक्षा के क्षेत्र में उपयोग
2- वैज्ञानिक अनुसन्धान
3- मौसम और प्राकृतिक विपदा की जानकारी और भविष्यवाणी
4- मनोरंजन में प्रयोग
5- घर और कार्यालय के कार्यों में विशेष योगदान
6- आटोमेटिक मशीन का सञ्चालन

कंप्यूटर की विशेषता एवं फायदे

1- सस्ता यन्त्र होना
एक ज़माना हुआ करता था जब एक सिस्टम खरीदना सबके बस की बात नहीं थी क्यूंकि इसकी कीमत काफी ज्यादा हुआ करती थी. साथ ही लोग इसके उपयोग भी नहीं जानते थे लेकिन आज का समय ऐसा आ चूका है जब शक्तिशाली सिस्टम के लिए अधिक पैसे खर्च नहीं करने पड़ते. काम करने लायक अच्छे और फ़ास्ट डेस्कटॉप/लैपटॉप अब काफी दाम में मिल जाते जाते है.यही यही वजह है की आज घर घर में डेस्कटॉप/लैपटॉप देखने को मिल जाता है.

2- ऑनलाइन खरीददारी, इंटरनेट बैंकिंग, मनोरंजन का सबसे बड़ा श्रोत
इस के फायदों में सबसे बड़ा फायदा ये है की इंटरनेट कनेक्ट कर के हम इस के जरिये इंटरनेट बैंकिंग का प्रयोग कर सकते हैं. घर बैठे हम बैंक से जुड़े काम डेस्कटॉप या लैपटॉप की ही मदद से पूरा कर सकते हैं.
इसके अलावा इसका प्रयोग कर के हम किसी भी सामान की ऑनलाइन शॉपिंग कर सकते हैं और घर बैठे ही उस सामान को अपने घर पर मंगवा सकते हैं. डेस्कटॉप/लैपटॉप का एक सबसे बड़ा उपयोग मनोरंजन का क्षेत्र है. हम इस में फ़िल्में देख सकते हैं गाने सुन सकते हैं, गेम खेल सकते हैं.

3- समय की बचत
जब से डेस्कटॉप/लैपटॉप का इस्तेमाल काम के लिए होना शुरू हुआ तब से इसने मनुष्य का 80% वक़्त बचा दिया अब भले वो क्षेत्र सरकारी ऑफिस हो, मैन्युफैक्चरिंग कंपनी हो, बैंक हो या फिर कोई छोटी दुकान हो. हर जगह इसके उपयोग से काफी अधिक समय की बचत होती है. अगर हम बात करें किसी बैंक की पैसे जमा करने के लिए एक लम्बी कतार होती थी क्यूंकि बैंक के clerk अपना काम खुद ही अपने से करते थे इसके फाइल और रजिस्टर में सारा हिसाब किताब करते थे इसमें काफी वक़्त निकल जाता था.
लेकिन इस मशीन के आने से इसने घंटों का काम मिनटों में निपटना शुरू कर दिया और बैंक से भीड़ को बहुत कम कर दिया.

4- संचार का माध्यम
इंटरनेट कनेक्शन और सिस्टम मिलकर एक बहुत ही modern संचार सिस्टम बनाते हैं.
आज इंटरनेट में फेसबुक, गूगल प्लस, इंस्टाग्राम, ट्विटर है जिससे हम घर रह रहे रिश्तेदारों से चैटिंग और कॉल के द्वारा जुड़ने का साधन देता है. इसके अलावा हम इसकी मदद से उन्हें देखते हुए भी वीडियो चाट की मदद से बातें भी कर सकते हैं.

5- स्टोरेज क्षमता का अधिक होना
काम किये जाने वाले फाइल और डाक्यूमेंट्स बड़े साइज के होते हैं लेकिन यही काम जब हम desktop/Laptop में करते हैं तो उसके फाइल और डाक्यूमेंट्स को रखने की हमे कोई टेंशन नहीं होती.
क्यों की जो हम रियल लाइफ में एक कमरे में जितने डाक्यूमेंट्स नहीं रख सकते उससे कई गुना अधिक फाइल और डाक्यूमेंट्स कंप्यूटर में स्टोर कर के रख सकते हैं.

6- घर बैठे पैसे कमाने का जरिया
इसकी वजह ये है की स्टोरेज काफी अधिक होती है और अच्छी बात ये है की हम लाखों डाक्यूमेंट्स के बिच से एक डाक्यूमेंट को सिर्फ सेकण्ड्स में ढूंढ के निकाल सकते हैं. जबकि रियल लाइफ में हमे इस काम में घंटों लग सकते हैं या फिर कई दिन भी लग सकते हैं. आज ये सिर्फ संचार, मनोरंजन का ही साधन नहीं रहा बल्कि आज ये ऑनलाइन घर बैठे पैसे कमाने का भी श्रोत बन चूका है. इस का क्षेत्र इतना बड़ा है की इस में पैसे कमाने के अनेक तरीके हैं. जैसे की फोटो एडिटिंग, यूट्यूब चैनल, ब्लॉग्गिंग, डिजाइनिंग, फ्रीलांस के रूप में भी पैसे कमा सकते हैं.

कंप्यूटर के हानि/नुक्सान

1- समय की बर्बादी
इस आविष्कार ने मनुष्य के काम को तो बहुत आसान कर दिया है. साथ ही ये हमारे काम को कम समय में पूरा कर के वक़्त की बचत भी करता है लेकिन हर अच्छे चीज़ में भी कुछ बुराई होती हो सकती अगर इसका उपयोग सही से न किया जाये. आजकल युवा बचपन से ही डेस्कटॉप या फिर लैपटॉप का प्रयोग करते हैं और उन में दिनभर सिस्टम के सामने में बैठने की आदत पड़ जाती है. साथ ही कुछ युवा Photoshoot के लिए DSLR, और गेम खेलने में इतने मगन होते हैं की उन्हें पढाई लिखे से नाता नहीं रखते.
इसके अलावा कुछ लोग सोशल मीडिया में रहकर दिनभर अपना वक़्त देते हैं और समय की बर्बादी करते हैं.

2- आँखों का नुक्सान
हर रोज़ दिनभर सिस्टम के सामने बैठ कर लगातार आँखें उसकी मॉनिटर में टिका कर काम करना पड़ता है. मॉनिटर सामने बैठकर देखना पड़ता है काम करने के लिए . जिसकी वजह से आँखों में बहुत ही बुरा असर पड़ता है. अधिकतर लोग जो मॉनिटर के सामने हर रोज़ बैठ कर काम करते हैं उन्हें चश्मा जल्दी ही लग कुछ लोगों की आँखों में बहुत ही बुरा प्रभाव पड़ता है.

3- बेरोज़गारी – कम मैनपावर की आवश्यकता
कंप्यूटर अकेले कई लोगों का काम करती है. आजकल हर मैन्युफैक्चरिंग कंपनी, सरकारी ऑफिस, स्कूल, कॉलेज और बैंक में डेस्कटॉप लगे होते हैं. जो काम 4 लोग किया करते थे उसे एक अकेला सिस्टम पूरा करता है और उसे चलाने के लिए सिर्फ एक ही आदमी की जरुरत पड़ती है. इस तरह हर जगह 4 में से 3 लोगों को बेरोज़गारी का सामना करना पड़ता है. जॉब अवसर कम हो गए क्यों की कम लोगों की जरुरत रह गई.

4- सोशल नेटवर्किंग साइट का अधिक प्रयोग
आजकल सभी लोग चाहे मोबाइल हो या लैपटॉप हर जगह सोशल मीडिया से जुड़े रहते हैं. दिनभर उस पर बैठ कर टाइम निकलते रहते हैं. इससे फायदा तो कुछ नहीं होता लेकिन लोग सोशल मीडिया की आदत इसके बिना नहीं रे सकते.

5- सुरक्षा पर खतरा
सारा काम अब कंप्यूटर में किया जाता है. उसी में सारे डॉक्यूमेंट को स्टोर कर के रखा जाता है. हमेशा बना होता है की अगर हार्ड ड्राइव में किसी वायरस का infection हुआ तो वो सारे डाटा को बर्बाद कर सकता है. बुरे लोग बस दूसरों को नुक्सान पहुँचाने में लगे रहते हैं और बड़ी बड़ी कंपनियों के डाटा को बर्बाद करने के लिए गलत तरीकों का सहारा लेते हैं.

6- कंप्यूटर का मनुष्य पर हावी होना
आज artificial intelligence पर काफी तेज़ी से काम शुरू हो चूका है. ऐसे सिस्टम बनाये जा रहे हैं जो लोगों से बात कर सके, समझ सके और interact कर सके. अगर किसी रोज़ ये यंत्र इतनी शक्तिशाली हो जाये की वो अपने फैसले खुद ही ले और कभी गलत या negative condition में चला जाये तो ये एक मनुष्य जाती के लिए खतरा भी साबित हो सकता है.

धीरूभाई अंबानी की जीवनी , धीरूभाई अंबानी की बायोग्राफी, धीरूभाई अंबानी का करियर, धीरूभाई अंबानी के विचार, Dhirubhai Ambani Ki Jivani, Dhirubhai Ambani Biography In Hindi, Dhirubhai Ambani Career, Dhirubhai Ambani Thoughts

वैलेंटाइन डे 2021 गिफ्ट (Valentine Day 2021 Gift Ideas In Hindi) लड़कियों के लिए गिफ्ट, लड़कों के लिए गिफ्ट, गर्लफ्रेंड के लिए गिफ्ट, बॉयफ्रेंड के लिए गिफ्ट, पत्नी के लिए गिफ्ट, पति के लिए गिफ्ट, कस्टमाइज गिफ्ट, हैंडमेड गिफ्ट, Best Gift For Girls, Best Gift For Boys, Best Gift For Girlfriend, Best Gift For Boyfriend, Best Gift For Husband, Best Gift For Wife, Handmade Gift Ideas, Customized Gifts

छत्रपति साहू महाराज की जीवनी , छत्रपति साहू महाराज की बायोग्राफी, छत्रपति साहू महाराज की शिक्षा, छत्रपति साहू महाराज का विवाह, Chhatrapati Sahu Maharaj Ki Jivani, Chhatrapati Sahu Maharaj Biography In Hindi, Chhatrapati Sahu Maharaj Education, Chhatrapati Sahu Maharaj Vivah

ज्योतिबा फुले की जीवनी , ज्योतिबा फुले की बायोग्राफी, ज्योतिबा फुले का विवाह, ज्योतिबा फुले के कार्य, Jyotiba Phule Ki Jivani, Jyotiba Phule Biography In Hindi, Jyotiba Phule Vivah, Jyotiba Phule Works