दुनियाभर में कोरोना का कहर जारी है. इस महामारी से बचने के लिए वैज्ञानिक और डॉक्टर्स दवा और वैक्सीन बनाने की कोशिश में जुटे हुए हैं. इस बीच मंगलवार 23 जून को योगगुरु बाबा रामदेव (Baba Ramdev) ने दावा किया कि पतंजली ने कोरोना वायरस (Coronavirus) महामारी की पहली आयुर्वेदिक दवा ली है. पतंजलि के संस्थापक योगगुरु रामदेव ने कहा कि दवा का नाम ‘कोरोनिल और श्वासरि’ है. पतंजलि (Patanjali) का दावा है कि क्लीनिकल ट्रायल के दौरान 100 प्रतिशत नतीजे दिखाए पड़े हैं. इससे सात दिन में 100 प्रतिशत कोरोना मरीज ठीक हुए हैं. इसे देशभर में 280 मरीजों पर ट्रायल और रिसर्च करके विकसित किया गया है. बाबा रामदेव की कोरोना आयुर्वेदिक किट लॉन्च होते ही ट्विटर पर #Coronil ट्रेंड कर रहा है. लोग इसे लेकर कई तरह के मीम्स (Memes) और जोक्स शेयर कर रहे हैं… Funny jokes and memes on Baba Ramdev for Corona’s medecine Coronil

उधर, इस कोरोना आयुर्वेदिक किट को लेकर आयुष मंत्रालय (AYUSH) की ओर से प्रतिक्रिया आई है. आयुष मंत्रालय ने संज्ञान लेते हुए कहा कि उसे पतंजलि की इस दवा के बारे में किसी तरह की साइंटफिक स्टडी की सूचना नही है. इतना ही नहीं मंत्रालय ने पतंजलि आयुर्वेद लिमिटेड से कोविड की दवा की कम्पोजिशन, रिसर्च स्‍टडी और सैम्पल साइज समेत तमाम जानकारी मांगी है. वहीं उत्तराखंड सरकार के सम्बंधित लाइसेंसिंग अथॉरिटी से इस प्रोडक्ट की अप्रूवल की कॉपी भी मांगी गई है. साथ ही आयुष मंत्रालय ने पतंजलि ग्रुप से परीक्षण होने तक इस दवा के प्रचार-प्रसार न करने को कहा. Funny jokes and memes on Baba Ramdev for Corona’s medecine Coronil

NOTE : यह लेख केवल सामान्य जानकारी के लिए है. इस दवा से जुड़ी सारी जानकारी पतंजलि की प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान बताई गई बातों पर निर्भर है. The public इस जानकारी की प्रमाणिकता की जिम्मेदारी नहीं लेता.

पतंजलि की कोरोना दवा पर आयुष मंत्रालय ने मांगी जानकारी, विज्ञापन प्रचार पर लगाया रोक

रिपोर्ट में दावा! चीन ने नेपाल के इस गांव पर किया कब्जा, सरकार पर उठे सवाल