-Rahul Gandhi opposed this decision of the central government, said – understand chronology … this is a suit-boot government- कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने केंद्र की मोदी सरकार पर एक बार फिर निशाना साधा है. राहुल ने कारोबारी घरानों को बैंक खोलने की अनुमति को लेकर केंद्र पर कटाक्ष किया है. राहुल गांधी ने क्रोनोलॉजी समझाते हुए कहा कि पहले बड़ी कंपनियों का कर्ज माफी होगा, फिर उन कंपनियों को बड़े कर छूट मिलेंगे और अब इन कंपनियों के द्वारा बनाए गए बैंक में लोगों की सेविंग दे देना. राहुल गांधी ने आरबीआई के पूर्व गवर्नर रघुराम राजन के एक बयान का हवाला देते हुए कहा कि मोदी सरकार पूरी तरह से सूट बूट की सरकार है. दरअसल राहुल गांधी ने रघुराम राजन के जिस बयान को अपने ट्वीट में शामिल किया है, उसमें उन्होंने बड़े कॉरपोरेट घरानों को बैंक खोलने की अनुमति देने की सिफारिशों को गलत बताया है.

राहुल गांधी ने रघुराम राजन के बयान से जुड़ी खबर अपने ट्वीट में शेयर करते हुए लिखा, ‘क्रोनोलॉजी समझिए: पहले कुछ बड़ी कंपनियों की कर्जमाफी होगी. इसके बाद कंपनियों के टैक्स में भारी कटौती होगी. और अब, आम जनता की बचत के रुपए इन्हीं कंपनियों की तरफ से स्थापित किए गए बैंकों को दिए जाएंगे. #SuitBootkiSarkar.’

suit-boot government

क्या है पूरा मामला
आपको बता दें कि हाल ही में भारतीय रिजर्व बैंक की एक आंतरिक कमेटी ने प्राइवेट बैंकों के लाइसेंस नियमों को लेकर कुछ नई सिफारिशें दी हैं. इस रिपोर्ट में उन गैर बैंकिंग वित्तीय संस्थानों को निजी बैंकों के लाइसेंस देने की सिफारिश की गई है, जिनकी कुल संपत्ति 50 हजार करोड़ रुपए से ज्यादा है. साथ ही इस रिपोर्ट में बड़े कॉरपोरेट्स को भी बैंकिंग लाइसेंस देने की बात कही गई है. इस रिपोर्ट के लेकर आरबीआई के पूर्व गवर्नर रघुराम राजन और पूर्व डिप्टी गवर्नर विरल आचार्य ने सोमवार को कहा कि बड़े कॉरपोरेट्स को बैंकिंग लाइसेंस देने की वकालत करना एक ‘बुरा विचार’ है.-Rahul Gandhi opposed this decision of the central government, said – understand chronology … this is a suit-boot government-

Maharashtra: शिवसेना के विधायक प्रताप सरनाई पर ED ने कसा शिकंजा, घर और दफ्तर पर की छापेमारी

टेलीविजन इंडस्ट्री को एक और बड़ा झटका, ससुराल सिमर का फेम एक्टर आशीष रॉय का 55 वर्ष की आयु में निधन