कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने कहा है कि उत्तर प्रदेश सरकार कोरोना वायरस की टेस्टिंग की जानकारी नहीं दे रही है. उनका कहना है कि यूपी सरकार सही जानकारी नहीं दे रही है और सच्चाई छुपा रही है। उन्होंने कहा कि यूपी सरकार ने दो दिनों से जांच की संख्या को बताना बंद कर दिया है. प्रियंका ने कहा है कि यूपी में पूल टेस्टिंग के नाम से कई दर्जन लोगों के स्वाब इकट्ठे एक ही किट द्वारा टेस्ट किए जा रहे हैं. Priyanka Gandhi tweeted these suggestions to the Yogi government regarding Corona

प्रियंका गांधी वाड्रा ने सरकार को आगाह करते हुए कहा कि हेल्थ एक्सपर्ट ने इस प्रक्रिया के लिए सख्त नियम तय किए हैं जिनका सही पालन न होने से नुकसान हो सकता है. उन्होंने कहा है कि सरकार को पूल टेस्टिंग के इस्तेमाल में पूरी सावधानी बरतनी चाहिए और इसके बारे में जानकारी देनी चाहिए.

कांग्रेस महासचिव ने ट्वीट कर कहा कि उत्तर प्रदेश में टेस्टिंग को लेकर काफी लोग चिंता व्यक्त कर रहे हैं, कोरोना से लड़ाई में पारदर्शिता बड़े काम की चीज है. सर्व समाज और सरकार मिलकर ही इस महामारी को शिकस्त दे सकते हैं. इस संदर्भ में कुछ सुझावों को मैं यहां साझा कर रही हूं. Priyanka Gandhi tweeted these suggestions to the Yogi government regarding Corona

जांच की संख्या में पारदर्शिता रखे यूपी सरकार
आगे प्रियंका गांधी वाड्रा ने कहा कि पूरी दुनिया इस बात को मानती है कि ढंग से और ज्यादा टेस्टिंग के जरिए ही कोरोना के संक्रमण से बचा जा सकता है, उत्तर प्रदेश सरकार ने दो दिनों से जांच की संख्या को बताना बंद कर दिया है. टेस्टिंग को लेकर पूरी तरह से पारदर्शिता होनी चाहिए ताकि जनता को जानकारी मिले और इस बीमारी के खिलाफ समाज और प्रशासन एकजुट होकर लड़ पाए. आंकड़ों और सच्चाई को छुपाने से समस्या और घातक हो जाएगी, यूपी सरकार को ये जल्द समझना चाहिए.

दर्जनों लोगों के स्वाब एक ही किट से हो रहे हैं टेस्ट

कांग्रेस महासचिव ने कहा कि राज्य के किस लैब में रोजाना कितने टेस्ट हो रहे हैं, केजीएमयू सहित प्रदेश के दूसरे जांच घरों की प्रतिदिन की क्षमता क्या है, इसके जनता के पास रखना बहुत ही महत्वपूर्ण है. उन्होंने कहा, “उत्तर प्रदेश में पूल टेस्टिंग के नाम से कई दर्जन लोगों के स्वाब इकट्ठे एक ही किट द्वारा टेस्ट हो रहे हैं, हेल्छ एक्स्पर्ट्स ने इस प्रक्रिया के लिए सख्त नियम तय किए हैं, और इसका पालन न करने से नुकसान हो सकता है, सरकार को पूल टेस्टिंग के इस्तेमाल में पूरी सावधानी बरतनी चाहिए और इस बारे में जनता को सही जानकारी देनी चाहिए.

क्वारनटीन केंद्रों में WHO की गाइडलाइन का हो पालन

योगी सरकार को क्वारनटीन केंद्रों के बारे सलाह देते हुए प्रियंका गांधी ने कहा कि इस केंद्रों में विश्व स्वास्थ्य संगठन की गाइडलाइंस का पालन करना बहुत जरूरी है, इन केंद्र में भोजन और नाश्ता की उपलब्धि, स्वास्थ्यकर्मियों द्वारा प्रति दिन जांच और केंद्र की स्वच्छता रिपोर्ट जारी होनी चाहिए. उन्होने कहा कि क्वारनटीन की अवधि पूरी होने के बाद व्यक्तियों को घर भेजने के पश्चात दोबारा जांच करने की योजना स्पष्ट की जानी चाहिए.

बदलते समय के साथ कोरोना बदला, अब दिख रहे ये नए लक्षण

Coronavirus Lockdown: आज से कौन-कौन सी दुकानें खुलेंगी, सरकार ने जारी किया स्पष्टीकरण

Tags:
COMMENT