-Owaisi said on the demand for law against Love Jihad, said – such propaganda of hate will not work- देश के अलग-अलग राज्यों से शादी के नाम पर धर्मपरिवर्तन (लव जिहाद) के खिलाफ कानून बनाने की आवाजें उठ रही है. जिसको लेकर अब ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने ‘लव जिहाद’ की आड़ लेकर अंतर-धार्मिक विवाह करने वालों के खिलाफ निशाना साधा है. ओवैसी ने कहा है कि ऐसे कानून लाने वाले राज्‍यों को पहले संविधान पढ़ लेना चाहिए. ओवैसी का कहना है कि जिन राज्यों में लव जिहाद को लेकर कानून बनाए जाने की बात कही जा रही है वो संवैधानिक प्रावधानों का उल्लंघन है.

कुछ राज्यों द्वारा लव जिहाद का कानून बनाने की बात पर ओवैसी ने कहा कि यह अनुच्छेद 14 और 21 का घोर उल्लंघन होगा. विशेष विवाह अधिनियम को तब भंग किया जाएगा. अंतर-धार्मिक विवाह का विरोध करने वालों को संविधान का अध्ययन करना चाहिए. नफरत का ऐसा प्रचार काम नहीं करेगा. बीजेपी बेरोजगारी का शिकार हुए युवाओं को विचलित करने के लिए यह नाटक कर रही है.

समाचार एजेंसी एएनआई से बातचीत में ग्रेटर हैदराबाद नगरनिगम चुनाव पर ओवैसी ने कहा कि हैदराबाद बाढ़ प्रभावित रहा है. मोदी सरकार ने हैदराबाद को कौन सी वित्तीय सहायता प्रदान की है? वे इसे (चुनाव) सांप्रदायिक रंग देने की कोशिश कर रहे हैं क्योंकि उन्होंने उस समय कोई मदद नहीं की. उनकी यह चाल यहां काम नहीं करेगी, लोग जानते हैं.

ओवैसी ने बीजेपी पर तंज कसा. उन्होंने कहा कि यदि आप रात में एक बीजेपी नेता को जगाते हैं और उनसे कुछ नाम बताने के लिए कहते हैं, तो वे ओवैसी का नाम लेंगे. इसके बाद वो गद्दार, आतंकवाद और अंत में पाकिस्तान पर आ जाएंगे. बीजेपी को बताना चाहिए कि 2019 के बाद उन्होंने तेलंगाना को, खासकर हैदराबाद को कौन सी वित्तीय मदद मुहैया कराई है.-Owaisi said on the demand for law against Love Jihad, said – such propaganda of hate will not work-

प्रतापगढ़ः दबंगो की प्रताड़ना से परेशान ITI के छात्र ने की आत्महत्या, सुसाइड नोट मे लिखा ‘मैं कायर नहीं हूं’

Drugs Case: 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजे गए भारती-हर्ष, जमानत याचिका पर कल होगी सुनवाई