-Madhya Pradesh by-election: Election Commission removes Congress leader Kamal Nath from Star campaigners- मध्य प्रदेश उपचुनाव से पहले कांग्रेस को चुनाव आयोग की तरफ से बड़ा झटका लगा है. आयोग ने आदर्श आचार संहिता का बार-बार उल्लंघन करने का कारण बताते हुए मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ से स्टार प्रचारक का दर्जा छीन लिया है. बता दें कि वर्तमान में मध्य प्रदेश में विधानसभा उपचुनाव के लिए प्रचार चल रहा है. इसी सिलसिले में चुनाव आयोग राजनीतिक दलों और उनके नेताओं की बयानबाजी पर कड़ी नजर रखे हुए है, कुछ दिनों पहले कमलनाथ ने कैबिनेट मंत्री इमरती देवी के लिए आपत्तिजनक शब्द का इस्तेमाल किया था जिसको लेकर उनकी काफी निंदा हुई थी.

इमरती देवी को लेकर दिए गए विवादित बयान के बाद चुनाव आयोग ने उन्हें फटकार लगाई थी, साथ ही इलेक्शन कमीशन ने कमलनाथ के टिप्पणी को आचार संहिता का उल्लंघन मानते हुए दोबारा गलती नहीं करने की नसीहत दी थी. हालांकि इसके बावजूद कमलनाथ ने अपने बयानों पर संयम नहीं रखा. शुक्रवार को चुनाव आयोग ने उनसे स्टार प्रचारक का दर्जा छीनते हुए कहा कि उपचुनाव के लिए अब से कुछ भी प्रचार कार्यक्रम किया में हिस्सा लिया तो उसका पूरा खर्च प्रचार कार्यक्रम आयोजित होने वाले विधानसभा क्षेत्र के उम्मीदवार द्वारा वहन किया जाएगा.

मध्य प्रदेश की 28 सीटों पर हो रहे उपचुनाव में बस कुछ दिन ही रह गए हैं. यही वजह है कि सभी पार्टियों के नेताओं ने जोर-शोर से प्रचार में लगे हुए हैं. जिन सीटों पर चुनाव होने हैं उनमें ग्वालियर-चंबल क्षेत्र की 16 सीटें ऐसी हैं जो सिंधिया के प्रभाव क्षेत्र वाली हैं. ज्योतिरादित्य सिंधिया इसी क्षेत्र में सभा करने पहुंचे थे. उन्होंने कहा कि भाजपा वह पार्टी है जिसके प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में राम मंदिर का मार्ग प्रशस्त हुआ है. इसके बाद भीड़ से जय सियाराम के नारे लगने लगे. इस पर सिंधिया ने कहा यहां जय जय सियाराम के नारे लगते हैं और कांग्रेस में ? वहां जय-जय कमलनाथ के नारे लगते हैं.-Madhya Pradesh by-election: Election Commission removes Congress leader Kamal Nath from Star campaigners-

शिवसेना ने कंगना से मुकाबले के लिए उर्मिला मातोंडकर को दिया विधान परिषद का टिकट

फिल्म स्कूल से निकाली गई थीं भूमि पेडनेकर, कुछ यूं चुकाई थी 13 लाख की फीस, जानिए कैसे बनीं बॉलीवुड एक्ट्रेस