उत्तर प्रदेश के कानपुर में राजकीय संवासिनी गृह में कोरोना संक्रमण की जांच के दौरान पता चला कि यहां रहने वाली 57 लड़कियों को कोरोना है और 7 बालिकाएं गर्भवती हैं. इतना ही नहीं इनमें से एक को एचआईवी है दूसरी हेपेटाइटिस सी से ग्रस्‍त है। इस मामले के सामने आने के बाद से हड़कंप मच गया है और उत्तर प्रदेश में अब सियासत तेज होने लगी है। सरकारी बाल संरक्षण गृह की खबरें मीडिया में आने के बाद कांग्रेस की महासचिव प्रियंका गांधी से लेकर समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने योगी सरकार को निशाने पर लिया है। इसके अलावा कई विपक्षी पार्टियों के नेताओं ने घटना पर बीजेपी सरकार पर हमला बोला है। वहीं दूसरी तरफ इस इस मामले पर प्रशासन ने सफाई दी कि कुल 7 गर्भवती हैं और ये शेल्‍टर होम लाने से पहले ही प्रग्‍नेंट थीं। 57 girls corona positive and 7 pregnant in the up kanpur shelter home akhilesh yadav priyanka gandhi attacks on yogi government

यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने घटना पर ट्वीट करते हुए जांच की मांग की है। उन्होंने लिखा है कि इस घटना को लेकर लोगों में गुस्सा है। सरकार शारीरिक शोषण करनेवालों के खिलाफ तुरंत जांच कराए।

‘यूपी की जनता में आक्रोश’
अखिलेश ने ट्वीट किया, ‘कानपुर के सरकारी बाल संरक्षण गृह से आई खबर से यूपी में आक्रोश फैल गया है। कुछ नाबालिग लड़कियों के गर्भवती होने का गंभीर खुलासा हुआ है। इनमें 57 कोरोना और एक एड्स से भी ग्रसित पाई गई है, इनका तत्काल इलाज हो। सरकार शारीरिक शोषण करनेवालों के खिलाफ तुरंत जांच बैठाएं।’

प्रियंका ने कहा मुजफ्फरनगर जैसी घटना
इससे पहले प्रियंका गांधी ने इस घटना को मुजफ्फरपुर की घटना जैसा बताया। उन्होंने सोशल मीडिया में पोस्ट किया, ‘मुजफ्फरपुर (बिहार) के बालिका गृह का पूरा किस्सा देश के सामने है। उत्तर प्रदेश के देवरिया से भी ऐसा मामला सामने आ चुका है।’ कांग्रेस नेता ने कहा कि ऐसे में फिर से इस तरह की घटना सामने आना दिखाता है कि जांच के नाम पर सब कुछ दबा दिया जाता है, लेकिन सरकारी बाल संरक्षण गृहों में बहुत ही अमानवीय घटनाएं घट रही हैं।

इस मामले में मंडलायुक्त डॉ सुधीर एम बोबडे के निर्देश पर जिलाधिकारी डॉ ब्रह्म देव राम तिवारी ने बताया कि इस संरक्षण गृह में कुल 57 कोरोना पॉजिटिव संवासिनी पाई गई हैं। कुल संरक्षित बालिकाओ में 7 बालिकाएं गर्भवती पाई गईं , जिसमें 5 कोरोना पॉजिटिव हैं। शेष 2 निगेटिव पाई गई हैं। पांच पॉजिटिव संवासिनी जनपद आगरा, एटा, कन्नौज फिरोजाबाद व कानपुर के CWC (बाल कल्याण समिति) ने भेजा था। सातों संवासिनी सेल्टर होम आने से पहले ही गर्भवती थीं। 57 girls corona positive and 7 pregnant in the up kanpur shelter home akhilesh yadav priyanka gandhi attacks on yogi government

57 में हुई थी कोरोना की पुष्टि
राजकीय बाल संरक्षण गृह में 57 संवासिनियों में संक्रमण की पुष्टी हुई थी । संक्रमित बालिकाओं को जब कोविड-19 के इलाज के लिए रामा मेडिकल कॉलेज भेजा गया तो वहां जांच में पाया कि दो 17 साल की किशोरियां गर्भवती हैं। गर्भवती होने के साथ ही एक एचआईवी से और दूसरी हेपेटाइटिस सी के संक्रमण से भी ग्रसित है। दोनों गर्भवती किशोरियों को जज्चा-बच्चा हॉस्पिटल भेजा गया है। कोरोना के साथ एचआईवी और हेपेटाइटिस सी के संक्रमण होने के कारण स्वास्थ्य विभाग की चिंताएं और भी बढ गई है।

शेल्टर होम में 171 कोरोना पॉजिटिव
पिछले कई दिनों से बाल संरक्षण गृह में कोरोना के टेस्ट किए जा रहे हैं जिनमें से अब तक कुल 171 पॉजिटिव पाए जा चुके हैं। इनमें से 57 की उम्र 15 से 17 साल की है। बाकी 114 लड़कियों और 37 कर्मचारियों को क्वारंटीन कर दिया गया है। कानपुर पुलिस अब इस तथ्य की जांच कर रही है कि आखिर संवासिनी गृह में कोरोना फैला कैसे।

पुलिस का स्‍पष्‍टीकरण
इस पूरे मामले में कानपुर के SSP दिनेश कुमार पी. का कहना है कि दोनों लड़कियां शेल्टर होम आने से पहले ही प्रेग्नेंट थीं। आरोपितों के खिलाफ केस दर्ज है। एक लड़की कन्नौज तो दूसरी आगरा से आई थी। बेवजह मामले को गलत मोड़ दिया जा रहा है।

सीएम योगी ने की डीएम से बात
राजकीय बालिका गृह में दो 17 साल की बच्चियों के गर्भवती पाए महिला आयोग की सदस्य पूनम कपूर का कहना है कि इस पूरे मामले को सीएम ने संज्ञान में लिया है। सीएम ने कानपुर डीएम से बात की है। 57 girls corona positive and 7 pregnant in the up kanpur shelter home akhilesh yadav priyanka gandhi attacks on yogi government

‘पॉक्‍सो ऐक्‍ट में आती हैं लड़कियां’
महिला आयोग की सदस्य ने कहा कि राजकीय बालगृह में 55 बालिकाएं संक्रमित मिली है। बालिका गृह में काफी लड़कियां पॉक्सो ऐक्ट में आती हैं, कम उम्र की होती हैं और उन्हें वहां रखा जाता है। जब बच्चियों को हैलट अस्पताल भेजा गया था तो हमारा स्टॉफ भी साथ में गया था तो किसी के टच में आ कर संक्रमण फैला होगा। राजकीय बालगृह में किसी भी पुरुष का जाना वर्जित है, वहां पर मेरा स्वयं का भी दौरा होता रहता है। आप लोग इसे अन्यथा नहीं लें।

सील हो गया बालिका गृह
स्वरूप नगर स्थित राजकीय बालिका गृह को पूरी तरह से सील कर दिया गया है। बालिका गृह के स्टॉफ को क्‍वारंटीन कराया गया है। इससे पहले डॉक्टरों के पास दोनों किशारियों की किसी भी प्रकार की बैक हिस्ट्री नहीं थी। डॉक्टरों ने दोनों गर्भवती किशोरियों की बैक हिस्ट्री को समझने के लिए अधिकारियों से संपर्क किया। जिला प्रोबेशन अधिकारी अजीत कुमार के मुताबिक राजकीय बालिका गृह को सील कर दिया गया है। सभी दस्तावेज बालिका गृह में हैं।

Video शेयर कर बोले विकास गुप्ता- गर्व से कहता हूं मैं बाईसेक्सुअल हूं…

राखी सावंत बोली- सपने में आए सुशांत सिंह राजपूत, कहा तुम्हारी कोख से लूंगा पुनर्जन्म, Video देख भड़के फैंस

Tags:
COMMENT