ग़ज़ल: न मैं समझा न आप आए कहीं से – अनवर देहलवी (na main samjha na aap aae kahin se – ANWAR DEHLVI Ghazal)

न मैं समझा न आप आए कहीं से
पसीना पोछिए अपनी जबीं से

चली आती है होंटों पर शिकायत
नदामत टपकी पड़ती है जबीं से

अगर सच है हसीनों में तलव्वुन
तो है उम्मीद-ए-वस्ल उन की नहीं से

कहाँ की दिल-लगी कैसी मोहब्बत
मुझे इक लाग है जान-ए-हज़ीं से

इधर लाओ ज़रा दस्त-ए-हिनाई
पकड़ दें चोर दिल का हम यहीं से

जुनूँ में इस ग़ज़ब की ख़ाक उड़ाई
बनाया आसमाँ हम ने ज़मीं से

वहाँ आशिक़-कुशी है ऐन-ईमाँ
उन्हें क्या बहस ‘अनवर’ कुफ़्र-ओ-दीं से

na maiñ samjhā na aap aa.e kahīñ se
pasīna pochhiye apnī jabīñ se

chalī aatī hai hoñToñ par shikāyat
nadāmat Tapkī paḌtī hai jabīñ se

agar sach hai hasīnoñ meñ talavvun
to hai ummīd-e-vasl un kī nahīñ se

kahāñ kī dil-lagī kaisī mohabbat
mujhe ik laag hai jān-e-hazīñ se

idhar laao zarā dast-e-hinā.ī
pakaḌ deñ chor dil kā ham yahīñ se

junūñ meñ is ġhazab kī ḳhaak uḌaa.ī
banāyā āsmāñ ham ne zamīñ se

vahāñ āshiq-kushī hai ain-īmāñ
unheñ kyā bahs ‘anvar’ kufr-o-dīñ se

हिंदी गजल: तीर पर तीर लगाओ तुम्हें डर किस का है – अमीर मीनाई (Tir Par Tir Lagao Tumhein Dar Kis Ka Hai- Ameer Minai shayari in Hindi)

हिंदी शायरी: उन से हम लौ लगाए बैठे हैं – अनवर देहलवी (un se hum lau lagae baiThe hain – Anwar Dehlvi Hindi Shayari)

टुडे स्पेशल 11 अगस्त: जोक ऑफ द डे (Chutkule in Hindi, Jokes)

टुडे स्पेशल (11 अगस्त): कोट्स ऑफ द डे (Quotes in Hindi)

टुडे स्पेशल 11 अगस्त का इतिहास, आज का विचार, बिल गेट्स् के विचार (Bill Gates today thought in Hindi, 11 August Today History)

Shayari, Shayari for Love, Shayari in Hindi, Sher o Shayari Hindi, Hindi Shayari on Dosti, शेरो शायरी