ऐल्कलाइन डायट क्या है? , एल्कलाइन फूड्स लिस्ट इन हिंदी , ऐल्कलाइन डायट के फायदे , एल्कलाइन क्या होता है , अल्कलाइन फूड लिस्ट , एल्कलाइन क्या है , एल्कलाइन भोजन , Benefits of Alkaline Food in Hindi , Alkaline Food List in Hindi , Alkaline Food Meaning in Hindi

ऐल्कलाइन डायट क्या है – Alkaline Foods Benefits in Hindi  , एक अच्छी सेहत के लिए शरीर में Ph लेवल का स्थिर होना बेहद आवश्यक है। अगर पीएच स्‍तर असामान्‍य हो जाए तो आपको कई स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। शरीर में Ph लेवल को सामान्य रखने के लिए एल्कलाइन डायट यानि क्षारीय आहार लेना बहुत जरूरी है। किसी पदार्थ में अम्ल या क्षार के स्तर को मापने की इकाई को पीएच कहा जाता है, और एल्केलाइन डायट अर्थात क्षारीय भोजन से हमारे शरीर का पीएच प्रभावित होता है। जैसा कि पीएच का संतुलन और असंतुलन शरीर पर क्रमशः ख़राब और अच्छा प्रभाव डालता है, पीएच का संतुलित रहना शरीर के लिए बेहद ज़रूरी होता है। ऐल्कलाइन डाइट का हमारे शरीर पर कई प्रकार से प्रभाव होता है, जिसमें आच्छा व बुरा दोनों ही शामिल हैं। what is Alkaline Diet benefits of Alkaline Diet

Alkaline Diet

ऐल्कलाइन डाइट के पीछे सिद्धांत खाने के तरीके को ठीक कर पीएच संतुलन का करना है। इसके अंतर्गत मांस, डेयरी प्रोडक्ट, मिठाई, कैफीन, एल्कोहॉल, कृत्रिम और प्रसंस्कृत खाद्य पदार्थ से परहेज तथा अधिक ताजा फल और सब्जियों तथा नट्स और बीजों का सेवन आता है। लेकिन यहां बात खत्म नहीं होती, ऐल्कलाइन डाइट के भी कुछ फायदे और कमियां होती हैं। लेकिन इन फायदे और कमियों पर बात करने से पहले हमें पीएच और इसकी कार्यप्रणाली को समझना होगा। what is Alkaline Diet benefits of Alkaline Diet

पीएच को जानें

‘‘पीएच हमारे शरीर के फ़्लूइड्स और टिशूज़ का एसिड-ऐल्कलाइन अनुपात है. जब ये अनुपात बिगड़ जाता है-यानी शरीर या तो बहुत एसिडिक हो जाता है या फिर ऐल्कलाइन-यह स्थिति कई तरह की बीमारियों को न्यौता देती है, जैसे-उम्र का तेज़ी से बढ़ना, डीमिनरलाइजेशन, थकान, एन्ज़ाइम की बिगड़ी हुई गतिविधि, सूजन और शरीर के अंगों की क्षति.’ what is Alkaline Diet benefits of Alkaline Diet

Alkaline Diet

Ph लेवल क्यों होना चाहिए संतुलित?

शरीर में पीएच स्‍तर 7.35 से लेकर 7.45 के बीच होना चाहिए। शरीर में Ph स्तर असामान्य होने पर थकान, कमजोर पाचन क्रिया और खराब इम्‍यून सिस्‍टम जैसी समस्याएं हो जाती है, जिससे आप आसानी से बीमारियों की चपेट में आ जाते हैं। what is Alkaline Diet benefits of Alkaline Diet

कैसे जांचें अपने शरीर का पीएच स्तर?

यदि आप अपना एसिड-ऐल्कलाइन स्तर जांचना चाहती हैं तो नज़दीकी मेडिकल स्टोर में जाएं और पीएच टेस्ट स्ट्रिप्स का पैक ख़रीदें. इसे अपने सलाइवा या यूरीन में डूबोएं. आप पूरे दिन कई बार अपना पीएच स्तर जांच सकती हैं, लेकिन इसे जांचने का सबसे सही समय है प्रतिदिन सुबह तय व़क्त पर जांचना. आपका ध्येय सुबह के पीएच स्तर को 6.5 से 7.5 के बीच लाना होना चाहिए. ऐल्कलाइन डायट क्या है – Alkaline Foods Benefits in Hindi 

Ph स्तर को बैलेंस करती है एल्कलाइन डाइट

पीएच स्तर को सामान्य रखने के लिए एल्कलाइन डाइट लेना जरूरी है क्योंकि इसका काम बॉडी के Ph स्तर को संतुलित रखना होता है। हमारा शरीर अम्लीय हो जाने पर बीमारियों का घर बन जाता है और इससे बीमारियों का खतरा भी बढ़ जाता है। वहीं कोशिकाओं को सुचारू रूप से काम करने के योग्य बनने के लिए शरीर को डीटॉक्स करना बेहद जरूरी होता है और एल्कलाइन डाइट ऐसा करने में कारगर होती है। इसके अलावा एल्कलाइन डाइट एंटी-एजिंग की प्रॉब्लम को दूर करने के साथ पाचन क्रिया को भी मजबूत बनाती है। what is Alkaline Diet benefits of Alkaline Diet

क्या है एसिड-ऐल्कली थीअरी?

मुख्य रूप से ऐल्कलाइन डायट बीमारी के एसिड/ऐल्कली थीअरी पर आधारित होता है. ‘‘जब खाए गए भोजन का विघटन होता है तो हमारे शरीर में भोजन के एसिडिक तत्वों से कुछ ग़ैरज़रूरी प्रॉडक्ट्स बनते हैं, जिन्हें भस्म कहा जाता है. ऐल्कलाइन डायट के समर्थकों का मानना है कि एसिडिक भस्म की अधिक मात्रा बीमारियों को आमंत्रित करती है,’’ जोड़ती हैं डॉ बैनर्जी. एसिडॉसिस तब होता है, जब शरीर टॉक्सिन्स को नहीं निकाल पाता, जिसकी वजह से गंभीर स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं पैदा हो जाती हैं. न्यूट्रिशनिस्ट कंचन पटवर्धन बताती हैं,‘‘एसिड की मात्रा अधिक होने की स्थिति में शरीर हड्डियों से कैल्शियम और मैग्नीशियम अवशोषित कर संतुलन बनाने की कोशिश करता है. यह ऑस्टिओपरोसिस की संभावना को बढ़ाता है और त्वचा को पीला, बालों को रूखा और नाख़ूनों को नाज़ुक बनाता है.’’what is Alkaline Diet benefits of Alkaline Diet

Alkaline Diet

कैसा हो हमारा सही खानपान?

ऐल्कलाइन बनानेवाले आहार शरीर के डीटॉक्सिफ़िकेशन प्रणाली के दबाव को कम करते हुए हमारी सेहत में सुधार लाते हैं. अपने सिस्टम को ऐल्कलाइन करके आप कैंसर जैसी बीमारियों के प्रसार को रोक सकती हैं और बढ़ती उम्र से लड़ने की अपनी क्षमता को बढ़ा सकती हैं. इसके लिए फलों, सब्ज़ियों और पौधों से मिलनेवाले आहार खाने और ढेर सारा पानी पीने की ज़रूरत है. चिंता, स्मोकिंग, कैफ़ीन, शुगर, मैदा और गोश्त न खाएं. ‘‘ताज़े हरी सब्ज़ियों के जूस में क्लोरोफ़िल, ऐंटीऑक्सीडेंट्स और पोषक तत्वों की मात्रा अधिक होती है,’’ बताते हैं होलिस्टिक हेल्थ एक्स्पर्ट मिकी मेहता. पूरी तरह से अपनी डायट को बदलना, न केवल मुश्क़िल है, बल्कि विपरीत परिणाम भी दे सकता है, यह बताते हुए डॉ पई धीरे-धीरे बदलाव करने की सलाह देती हैं. शुरुआत के लिए:what is Alkaline Diet benefits of Alkaline Diet

ऐल्कलाइन डाइट के फायदे

ऐल्कलाइन डाइट का सारा संकेन्द्रण शरीर के पीएच स्तर के संतुलन को कायम रखना होता है। हमारा शरीर अम्लीय हो जाने पर बीमारियों का घर बन जाता है और रोग ऐसे में शरीर को घेर लते हैं। विशेषज्ञ भी इस खुराक की सिफारिश करते हैं क्योंकि इसे नियमित रूप से लेना आसान होता है। कोशिकाओं को सुचारू रूप से काम करने योग्य बनने के लिए शरीर से विषाक्त पदार्थों को बाहर कर इसे डीटॉक्स करना बेहद ज़रूरी होता है और ऐल्कलाइन डाइट ऐसा करने में कारगर होती है। इसके अलावा ऐल्कलाइन डाइट जबड़ों को यथा स्थान सुदृढ़ बनाए रखने में सहायक होती है और दर्द के एहसास को घटाती है। यह डाइट बुढापे बुढ़ाने की रफ़्तार को भी कम करती है। यह खाने के उचित पाचन में भी मददगार होती है। कुल मिलाकर आपको एक स्वस्थ और छरहरी काया देने में ऐल्कलाइन डाइट बड़े काम की होती है। what is Alkaline Diet benefits of Alkaline Diet

डाइट में शामिल करें एल्कलाइन फूड्स

कंद-मूल
एल्कलाइन डाइट में मूली (सफेद, लाल और काली), चुकंदर, गाजर, शलजम और सहिजन आदि का सेवन करें। महज 15-20 मिनट तक भाप में पकाने के बाद ही ये आहार खाएं। इससे दिनभर पेट भी भरा रहता है और शरीर को पर्याप्‍त ऊर्जा भी मिलती है। साथ ही इनका सेवन करने से वजन भी कंट्रोल में रहता है। what is Alkaline Diet benefits of Alkaline Diet

ब्रोकली
ब्रोकली, गोभी, बंद गोभी, ब्रसेल्स स्प्राउट्स और इस प्रकार की अन्‍य सब्जियां का सेवन भी शरीर में Ph लेवल को बैलेंस रखता है। साथ ही इनका सेवन करने से हार्ट डिसीज व कैंसर का खतरा भी कम होता है।ऐल्कलाइन डायट क्या है – Alkaline Foods Benefits in Hindi 

हरी पत्‍तेदार सब्जियां
इसमें गोभी, शलजम का साग, पालक आदि सब्जियां शामिल होती हैं। इनमें से पालक सबसे अधिक सेहतमंद सब्‍जी होती है। इन सब्जियों में विटामिन के और फोलेट की मात्रा काफी अधिक होती है, जो पाचन क्रिया को दुरुस्‍त रखने के साथ Ph लेवल को भी बैलेंस करते हैं। साथ ही इससे लंबे समय तक पेट भरे होने का अहसास होता है, जिससे वजन को काबू में रखने में भी मदद मिलती है। what is Alkaline Diet benefits of Alkaline Diet

लहसुन
जब बात सेहतमंद आहार की होती है तो लहसुन का नाम सबसे पहले आता है। दिल के लिए फायदेमंद होने के साथ-साथ इससे खराब इम्यून सिस्टम, हाई ब्लड प्रैशर और लिवर की समस्याएं भी दूर रहती है।

शिमला मिर्च
शिमला मिर्च सबसे अधिक क्षारीय आहार में शामिल है। इसमें मौजूद एंजाइम्‍स और एंटीबैक्‍टीरियल गुण शरीर की हानिकारक फ्री रेडिकल्‍स से लड़ने में मदद करते हैं। इतना ही नहीं, यह तनाव व डिप्रैशन जैसी बीमारियों से लड़ने में भी काफी मदद करता है।

नींबू
यह कुदरती कीटाणुनाशक है, जो आपके जख्‍मों को भरने का काम करता है। इतना ही नहीं, नींबू खांसी, कोल्‍ड, फ्लू और सीने में जलन से भी राहत दिलाता है। यह लिवर के लिए भी काफी फायदेमंद होता है। what is Alkaline Diet benefits of Alkaline Diet

ओरेगेनो
ओरेगेनो में ऐसे तत्व पाए जाते हैं जोकि कई तरह की बीमारियों से रक्षा करते हैं। यह व्हाइट ब्लड सेल्स के प्रोडक्शन को बढ़ाकर इम्यून सिस्टम को मजबूत करते हैं। साथ ही क्षारीय होने के कारण इससे Ph स्तर भी संतुलित रहता है। साथ ही इसका नियमित सेवन युरिनेरी ट्रैक्ट प्रॉब्लम, मासिक धर्म संबंधी समस्याओं को भी कम करता है.

Alkaline Diet

ऐल्कलाइन डाइट की कमियां

ऐल्कलाइन डाइट के बारे में अनुसंधान सीमित ही हैं। कई स्वास्थ्य विशेषज्ञ ऐल्कलाइन डाइट को पूरी तरह से अनावश्यक बताते हैं, क्योंकि हमारा शरीर स्वतः ही स्वाभाविक रूप से पीएच संतुलन बनाए रखने के लिए बना होता है। हालांकि इस विषय पर पर्याप्त शोध नहीं हुए हैं। दी जर्नल ऑफ़ एनवायर्नमेंटल एंड पब्लिक हेल्थ की 2012 की रिपोर्ट में पूर्व में प्रकाशित अध्ययनों की समीक्षा की और मूल रूप से मिश्रित निष्कर्ष दिया था। what is Alkaline Diet benefits of Alkaline Diet , ऐल्कलाइन डायट क्या है – Alkaline Foods Benefits in Hindi 

इन 4 तरीकों से लगाएं एलोवेरा जेल, झड़ते बालों से मिलेगा छुटकारा (How to apply aloe vera gel to stop hair loss)

हिचकी क्यों आती है ? इन 10 घरेलू उपायों से तुरंत करें उपचार

गर्भ में लड़का है या लड़की जानने के अचूक तरीके – How to predict baby gender during pregnancy