लठमार होली , ब्रज की लट्ठमार होली , मथुरा में किन्हें कहते हैं ‘होरियारे’ , बरसाने की लट्ठमार होली , Lathmar Holi (लट्ठमार होली) , Mathura Lathmar Holi Katha

लठमार होली

Holi : मथुरा में फाल्गुन मास की शुक्ल पक्ष की नवमी के दिन लट्ठमार होली (Lathmar Holi) खेली जाती है. इस दिन नंदगांव के लड़के या आदमी यानी ग्वाला बरसाना जाकर होली (Holi) खेलते हैं. वहीं, अगले दिन यानी दशमी पर बरसाने की ग्वाले नंदगांव में होली (Holi ) खेलने पहुंचते हैं. ये होली बड़े ही प्यार के साथ बिना किसी को नुकसान पहुंचाए खेली जाती है. इसे देखने के लिए हज़ारों भक्त बरसाना और वृंदावन पहुंचते हैं. हर साल इस मज़ेदार होली को खेला जाता है. Mathura Lathmar Holi Katha and History

लट्ठमार होली (Lathmar Holi) खेलने की शुरुआत भगवान कृष्ण और राधा के समय से हुई. मान्यता है कि भगवान कृष्ण अपने सखाओं के साथ बरसाने होली खेलने पहुंच जाया करते थे. कृष्ण और उनके सखा यहां राधा और उनकी सखियों के साथ ठिठोली किया करते थे, जिस बात से रुष्ट होकर राधा और उनकी सभी सखियां ग्वालों पर डंडे बरसाया करती थीं. लाठियों के इस वार से बचने के लिए कृष्ण और उनके दोस्त ढालों और लाठी का प्रयोग करते थे. प्रेम के साथ होली खेलने का ये तरीका धीरे-धीरे परंपरा बन गया.

इसी वजह से हर साल होली के दौरान बरसाना और वृंदावन में लट्ठमार होली खेली जाती है. पहले वृंदावनवासी कमर पर फेंटा लगाए बरसाना की महिलाएं के साथ होली खेलने पहुंचते हैं. फिर अगले दिन बरसानावासी वृंदावन की महिलाओं के संग होली खेलने जाते हैं. Mathura Lathmar Holi Katha and History

ये होली बरसाना और वृंदावन के मंदिरों में खेली जाती है. लेकिन खास बात ये औरतें अपने गांवों के पुरूषों पर लाठियां नहीं बरसातीं. वहीं, बाकी आसपास खड़े लोग बीच-बीच में रंग ज़रूर उड़ाते हैं. लट्ठमार होली खेल रहे इन पुरुषों को होरियारे भी कहा जाता है और महिलाओं को हुरियारिनें.

ब्रज की होली – बरसाने की लठमार होली Mathura Lathmar Holi Katha and History

होली फाल्गुन मास का सबसे खास और हिंदू वर्ष का सबसे अंतिम त्यौहार होता है। अंतिम इसलिये क्योंकि फाल्गुन पूर्णिमा हिंदू वर्ष का अंतिम दिन माना जाता है और अगले दिन यानि चैत्र प्रतिपदा से नव वर्ष की शुरुआत हो जाती है। तो इस त्यौहार में साल के जाने और नये साल के आने की खुशी तो शामिल होती ही है साथ ही फसलों के साथ भी इसका अहम रिश्ता है क्योंकि गेंहू आदि की फसलें पकने लग जाती हैं। इसलिये तो होलिका में अधपके अनाज प्रसाद के रूप में ग्रहण किया जाता है। और इसी खुशी में नाचना-गाना और एक दूसरे के प्रेम के रंग में रंग जाना होता है। हालांकि होली मनाने की कई कथाएं प्रचलित हैं लेकिन मान्यता यह है कि सबसे पहले होली भगवान श्री कृष्ण ने राधा रानी के साथ खेली थी इसलिये ब्रज की होली आज भी दुनिया भर में प्रसिद्ध है। तो आइये जानते हैं कुछ प्रसिद्ध होलिका उत्सवों के बारे में।

ब्रज की होली

ब्रज में होली के मुख्यत: दो रूप मिलते हैं एक ओर जहां यहां होली पर लठों की बरसात होती है तो दूसरी ओर फूलों की। जिस होली में लठों से मार पड़ती है उसे लठमार होली कहते हैं जिसमें लोग राधा-कृष्ण बनकर नृत्य करते हुए, लोकगीतों को गाते हुए फूलों से होली खेलते हैं वह फूलों की होली कहलाती है।

लठमार होली

बरसाने की लठमार होली जगत प्रसिद्ध है। इसमें नंदगांव (भगवान श्री कृष्ण के लालन-पालन का स्थान) के पुरूष बरसाना (राधा रानी का गांव) के राधारानी यानि की लाडली जी के मंदिर में ध्वजा फहराने का प्रयास करते हैं जिन्हें लठमार कर बरसाना कि महिलाएं दूर रखती हैं। पुरूष इसका प्रतिरोध नहीं कर सकते वे केवल गुलाल डाल सकते हैं लेकिन अगर कोई पुरूष महिलाओं की पकड़ में आ जाता है तो उसकी कुटाई तो होती ही है साथ ही उसे महिलाओं के कपड़े पहनकर श्रृंगार कर नाचना भी पड़ता है। फिर अगले दिन बरसाना के पुरूष नंदगांव की महिलाओं पर रंग डालने जाते हैं। होली का यह पर्व यहां कई दिनों तक चलता है।

फूलों की होली

वृंदावन सहित देश के कई हिस्सों में कृष्ण मंदिरों में होली के अवसर पर सांस्कृतिक कार्यक्रमों के आयोजन होते हैं जिसमें कलाकार राधा-कृष्ण का रूप धारण कर नृत्य करते हैं व फगुआ के गीत गाते हैं इसमें नृत्य के साथ-साथ एक दूसरे पर फूलों की बरसात भी की जाती है इस प्रकार फूलों की होली खेली जाती है। अबीर गुलाल को प्राकृतिक रंगों से बनाया जाता है जिससे वातावरण भी मनमोहक हो जाता है। फूलों की खुशबू तो आनंदित करती ही है। Mathura Lathmar Holi Katha and History

फाग

हरियाणा सहित पश्चिमी उत्तर प्रदेश में होली देवर-भाभी के प्रेम का त्यौहार भी है इस दिन भाभियां अपने देवर को दुपट्टे से बनाये गये कौड़े से पीटती हैं व देवर भाभियों को रंग लगाने के साथ-साथ उन पर पानी भी डालते हैं। इस क्षेत्र में रंगवाली होली के फाग के नाम से भी जाना जाता है। Mathura Lathmar Holi Katha and History

होली का त्योहार क्यों मनाते हैं ? , होली क्यों मनाते हैं ? ,रंगों का त्यौहार होली कब और क्यों मनाते हैं? , होली क्यों मनाई जाती है? , होली की कहानी , होली की कथा , Holi Ka Tyohar Kyu Manaya Jata Hai ,Holi Kyu Manaya Jata Hai ,Why We Celebrate Holi Festival in Hindi

होली पर स्किन और हेयर केयर के लिए ज़रूरी टिप्स , होली में ऐसे रखें त्वचा और बालों का ख्याल , होली के लिए प्री स्किन और हेयर केयर टिप्‍स , Holi Special Beauty Tips in Hindi ,  Pre Holi Tips For Skin And Hair Care

होली पर स्किन और हेयर केयर , होली पर घरेलू नुस्खे , होली हेयर केयर टिप्स इन हिंदी, होली फेस केयर टिप्स , होली पर स्किन और हेयर केयर के लिए अपनाएं ये 14 घरेलू नुस्खे , Hair and skin care tips for Holi , Essential Skin Care Tips For Safe Holi in Hindi

Skin Care Tips For Safe Holi in Hindi , होली के रंगों में सराबोर होने से पहले जान लें स्किन केयर टिप्स

होली पर ऐसे रखें त्वचा और बालों का ध्यान , होली पर त्‍वचा और बालों की कैसे करें देखभाल , Beauty Tips for Holi , Holi Skin And Hair Care

कैसे छुड़ायें होली के रंग ? , चेहरे पर लगे होली के रंग छुड़ाने के तरीके , होली के जिद्दी रंग छुड़ाने के आसान और घरेलू तरीके , इन उपायों से छुड़ाएं होली के जिद्दी रंग , How to Remove Colour from Your Skin on Holi ,How to Remove Holi Colour , Dos and Dont on Holi

होली के रंग कैसे छुड़ाये ? , होली का रंग छुड़ाने के आसान तरीके , ऐसे छुड़ाएं होली के रंग , छुड़ाएं चेहरे से होली के रंग , Holi Ke Colours Kaise Hataye? , Tips To Remove Holi Colors , How to Remove Holi Colour Hindi

हर्बल होली , होली के कलर कैसे बनाएं , होली कलर्स बनाने की विधि , होली पर कैसे बनाएं प्राकृतिक रंग , घर पर ही बना लें होली के हर्बल कलर, Ghar Par Holi Ke Natural Colours Kaise Banaye , Holi Herbal Colors, How to Make Natural Colour at Home

होली के कलर कैसे खरीदें ? , होली के कलर , होली के रंग , नेचुरल ली के कलर्स खरीदने के टिप्स ,  होली के ऑर्गेनिक कलर्स , Tips for Buying Natural Holi Colors

होली पर बरतें ये सावधानी , होली गाइडलाइन हिंदी , होली पर सावधानियां , होली खेलने से पहले सावधानियां ,Tips for a Healthy & Safe Holi , Holi Safety Tips in Hindi , How Holi Should be Played

होली कोट्स, हैप्पी होली कोट्स , होली संदेश , होली की शुभकामनाएं , होली पर सर्वश्रेष्ठ सुविचार , होली के शुभकामना सन्देश ,Happy Holi Quotes in Hindi , Holi Quotes in Hindi , Holi Quotes in English

होली के उपाय , होली के टोटके , होली के अचूक उपाय और टोटके , होली ज्योतिषीय उपाय , Holi Totke in Hindi, Holi Ke Totke in Hindi, Holi Ke Din Totke, Holi Ke Upay Hindi Me , Holi Ke Din Kya Karna Chahie

बृज की होली , मथुरा की होली , मथुरा वृंदावन में होली , ब्रज की होली का आनंद , Brij Ki Holi , Mathura Ki Holi , Vrindavan Ki Holi