योगी आदित्यनाथ की जीवनी, योगी आदित्यनाथ की शिक्षा कितनी है, Yogi Adityanath Ki Shikṣha Kitani Hai, योगी आदित्यनाथ की बायोग्राफी, योगी आदित्यनाथ की शिक्षा, योगी आदित्यनाथ का राजनैतिक जीवन, Yogi Adityanath Ki Jivani, Yogi Adityanath Biography In Hindi

योगी आदित्यनाथ की जीवनी
गोरखपुर के प्रसिध्द गोरखनाथ मंदिर के मंहत योगी आदित्यनाथ अब उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री है. 19 मार्च 2017 को उत्तर प्रदेश के विधान सभा चुनावों में भारतीय जनता पार्टी की बड़ी जीत के बाद यहाँ के 21वें मुख्यमंत्री पद की शपथ ली. योगी आदित्यनाथ का जन्म 5 जून 1972 को उत्तराखंड के पौड़ी गढ़वाल जिले के यमकेश्वर तहसील के पंचुर गाँव में हुआ है. योगी आदित्यनाथ गढवाली राजपूत हैं. इनके पिता का नाम आनंद सिंह बिष्ट और माता का नाम सावित्री देवी है. योगी जी ने सन 1977 में टिहरी गडवाल के गजा के स्कूल से अपनी शिक्षा की सुरुआत की. सन 1989 को इन्होने ऋषिकेश के भरत मन्दिर इन्टर कॉलेज से 12th पास करी और सन 1992 में हेमवती नन्दन बहुगुणा गडवाल विश्वविद्यालय से इन्होने गणित में B.Sc की.

योगी आदित्यनाथ की शिक्षा कितनी है, Yogi Adityanath Ki Shikṣha Kitani Hai
योगी आदित्यनाथ जन्म अजय मोहन बिष्ट के रूप में पौड़ी गढ़वाल जिले (अब उत्तराखंड में) में हुआ था। उनकी शुरुआती शिक्षा प्राथमिक विध्‍यालय ठंगर में हुई थी. उन्होंने विज्ञान में स्नातक किया। योगी आदित्यनाथ ने हेमवती नंदन बहुगुणा गढ़वाल विश्वविद्यालय (Garhwal University) में एडमिशन लिया था, जहां से उन्होंने गणित में बीएससी की डिग्री हासिल की थी.
1977 में, उन्होंने गाजा, टिहरी में स्थानीय स्कूल में पढ़ना शुरू किया और 1987 में दसवीं कक्षा उत्तीर्ण की। 1989 में, उन्होंने ऋषिकेश के श्री भारत मंदिर इंटर कॉलेज से इंटरमीडिएट की परीक्षा उत्तीर्ण। डिग्री के लिए अध्ययन करते हुए, वह 1990 में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद में शामिल हो गए। उन्होंने 1992 में श्रीनगर के हेमवती नंदन बहुगुणा गढ़वाल विश्वविद्यालय से गणित में स्नातक की डिग्री उत्तीर्ण की।

पूरा नाम Born – अजय सिंह बिष्ट Ajay Singh Bisht
उपनाम – योगी Yogi
राष्ट्रीयता Nationality – भारतीय Indian
जन्म – 05 जून 1972 (उम्र 49 वर्ष)
जन्मस्थान – पंचुर, जिला पौड़ी गढ़वाल, उत्तराखण्ड, भारत Panchur, District Pauri Garhwal, Uttarakhand, India
शिक्षा Education – प्राथमिक शिक्षा पौड़ी, उत्तराखण्ड गढ़वाल विश्वविद्यालय, श्रीनगर, उत्तराखण्ड Primary Education Pauri, Uttarakhand Garhwal University, Srinagar, Uttarakhand
शैक्षिक योग्यता educational qualification – गणित में स्नातक (बी० एस० सी०) Bachelor of Mathematics (B.Sc.)
काम Occupation – भारतीय राजनेता , धार्मिक मिशनरी Indian politician, religious missionary
शौक/अभिरुचि Hobby / interest – तैराकी, बैडमिंटन खेलना, पशुओं के साथ खेलना Swimming, playing badminton, playing with animals
Years Active – 1998- Present

पसंदीदा चीजें
पसंदीदा राजनेता – नरेंद्र मोदी
पसंदीदा खाना – गाहद (जो की पर्वतीय क्षेत्र में पायी जाती हैं )
सन 1993 में योगी जी गोरखपुर आए और यहाँ उनकी मुलाक़ात गोरखनाथ मन्दिर के महंत अवैधनाथ जी हुई. महंत अवैधनाथ जी इनके जानकार थे. योगी जी ने अवैधनाथ जी से दिक्षा ले ली और सन 1994 सन्यासी बन गए जिसके चलते इनका नाम अजय सिंह बिष्ट से बदलकर योगी आदित्यनाथ रख दिया गया. महंत अवैधनाथ जी की म्रत्यु के बाद योगी जी को गोरखनाथ मन्दिर का महंत बना दिया गया.
सन 1998 में योगी जी ने गोरखपूर लोकसभा सीट से पहली बार भारतीय जनता पार्टी के टिकट से चुनाव लड़ा और वो जीत गए. 12वीं लोकसभा चुनाव में वो सबसे कम उम्र के सांसद थे उस समय उनकी उम्र केवल 26 वर्ष की थी. 1999 के लोकसभा चुनावों में वो दोबारा सांसद चुने गए. उसके बाद वो सन 2004, 2009 और 2014 के लोक्सभा में चुनाव जीतकर गोरखपूर से सांसद चुने गए. योगी जी गोरख़पूर लोकसभा सीट से लगातार 5 बार सांसद चुने गए है.

योगी आदित्यनाथ की शिक्षा
योगी आदित्यनाथ जी की प्राथमिक शिक्षा गजा गाँव के स्कूल से हुई और दसवीं कक्षा भी इन्हों ने यही से की . इसके बाद सन 1989 मे बारवी कक्षा ऋषिकेश के भरत इंटर मंदिर कॉलेज से की . योगी जी ने गढ़वाल एच.एन.बी विश्वविद्यालय से science मे स्नातक की है . योगी जी जब स्नातक कर रहे थे वे तभी अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद से जुड़े . योगी जी ने हिंदू युवाओं को साथ लाकर एक हिंदू संगठन का भी निर्माण किया है यह संगठन किसी न किसी विवाद मे उलझा रहा है . Police ने इस संगठन पर मऊ मे हुअ दगो का आरोप लगाया ये दंगे मुक्तार अंसारी नाम के विधायक के खिलाफ थे जिन्होने B.J.P के एक विधायक की हत्या कर दी थी .
योगी आदित्यनाथ का परिवार
योगी आदित्यनाथ के पिता जी का नाम आनंद सिंघ बिष्ट था योगी जी के पिता जी एक फोरेस्ट रेंजर और गोरखनाथ मंदिर के महंत थे अपने पिता जी की मृत्यु के बाद अब योगी जी स्वम इस मंदिर के महंत है . योगी आदित्यनाथ जी की माता जी का नाम सावित्री देवी था . योगी जी अपने माता -पिता की पाँचवी औलाद है . योगी जी की तीन बड़ी बहने एक बड़े भाई और दो छोटे भाई है .

योगी आदित्यनाथ का राजनैतिक जीवन
योगी आदित्यनाथ 1998 से लगातार गोरखपुर क्षेत्र का प्रतिनिधित्व कर रहे हैं. योगी यूपी बीजेपी के बड़े चेहरे माने जाते है. योगी आदित्यनाथ 2014 में पांचवी बार लोकसभा सांसद बने. योगी के गुरु अवैद्यनाथ ने सन 1998 में राजनीति से संन्यास लिया और योगी आदित्यनाथ को अपना उत्तराधिकारी घोषित कर दिया. यहीं से योगी आदित्यनाथ की राजनीतिक पारी शुरू हुई. 1998 में गोरखपुर से 12वीं लोकसभा का चुनाव जीतकर योगी आदित्यनाथ संसद पहुंचे तो वह सबसे कम उम्र के सांसद थे, वो 26 साल की उम्र में पहली बार सांसद बने.
हिंदू युवा वाहिनी के संस्थापक – योगी आदित्यनाथ
योगी आदित्यनाथ हिंदू युवा वाहिनी के संस्थापक भी हैं, हिंदू युवा वाहिनी संगठन हिन्दू युवाओं का सामाजिक, सांस्कृतिक और राष्ट्रवादी समूह है. ये संगठन हमेशा किसी न किसी विवाद में उलझा रहा. इस संगठन पर 2005 में मऊ में हुए दंगे का आरोप भी लगा था. यह दंगा भारतीय जनता पार्टी के एक विधायक कृष्णानंदा राय की हत्या के आरोपी मुख़्तार अंसारी को लेकर हुआ था.

योगी आदित्यनाथ का कट्टर हिंदूवादी छवि
कट्टर हिंदूवादी और नाथ सम्प्रदाय के प्रमुख भाजपा से पांच बार सांसद रहे योगी से महंथ बने आदित्यनाथ को अंततः उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री के लिए विधायक दल का नेता चुन लिया गया. राम मंदिर आंदोलन से जुड़े रहे नाथ सम्प्रदाय के महंथ अबैद्य नाथ ने योगी को न सिर्फ दीक्षा देकर गोरखनाथ मंदिर का उत्तराधिकारी बनाया बल्कि अपने ही नेतृत्व में देश की सबसे बड़ी पंचायत में वर्ष 1998 में सांसद बनवाने का काम किया. वर्ष 2007 के गोरखपुर में हुए दंगों में योगी का नाम भी आया और उन्हें मुलायम सरकार में गिरफ्तार भी किया गया. छुआछूत और हिन्दू जातियों को एकता के सूत्र में पिरोने में माहिर योगी के गुरु अवैद्यनाथ की वर्ष 2015 में मौत के बाद योगी आदित्य नाथ महंत आदित्यनाथ बन गए.
ऐसे बढ़ा योगी का कद
अब तक योगी आदित्यनाथ की हैसियत ऐसी बन गई कि जहां वो खड़े होते, सभा शुरू हो जाती, वो जो बोल देते हैं, उनके समर्थकों के लिए वो कानून हो जाता है यही नहीं, होली और दीपावली जैसे त्योहार कब मनाया जाए, इसके लिए भी योगी आदित्यनाथ गोरखनाथ मंदिर से ऐलान करते हैं, इसलिए गोरखपुर में हिंदुओं के त्योहार एक दिन बाद मनाए जाते हैं. गोरखपुर और आसपास के इलाके में योगी आदित्यनाथ और उनकी हिंदू युवा वाहिनी की तूती बोलती है. बीजेपी में भी उनकी जबरदस्त धाक है. इसका प्रमाण यह है कि पिछले लोकसभा चुनावों में प्रचार के लिए योगी आदित्यनाथ को बीजेपी ने हेलीकॉप्टर मुहैया करवाया था.

योगी आदित्यनाथ से जुड़े विवाद
1- योगी अन्य धार्मिक लोगो के धर्मांतरण कराने के लिए विवादों में रहे है. 2005 में, आदित्यनाथ ने कथित रूप से एक शुद्धि अभियान का नेतृत्व किया जिसमें ईसाइयों को हिंदू धर्म के रूपांतरण में शामिल किया गया था. एक ऐसे उदाहरण में, उत्तर प्रदेश के ऐटा शहर में 1800 ईसाई कथित रूप से हिंदू धर्म में परिवर्तित हो गए थे.
2- जनवरी 2007 में गोरखपुर में मुहर्रम के दौरान एक हिंदू समूह और मुसलमानो के बीच में विवाद होने से (राज कुमार अग्रराही) नामक व्यक्ति के घायल होने पर आसपताल में भर्ती कराया. जिसके बाद उन्हें उन उत्तेजक भाषणों के लिए गिरफ्तार किया गया जिनकी वजह से गोरखपुर में दंगे भड़के.
3- 2015 में योगी विवादों में आ गए जब उन्होंने यह टिप्पणी की जो व्यक्ति योग के कारण सूर्य नमस्कार का विरोध करते हैं वह भारत छोड़ सकते हैं. उन्होंने कहा जो लोग सूर्य नमस्कार के रूप में सूर्य भगवन में साम्प्रदायिकता देखते हैं. उनके लिए मेरा अनुरोध है कि वह अपने जीवन को त्याग दें.
4- मीडिया में असहिषुणता के संबंध में योगी आदित्यनाथ ने शाहरुख खान पर विवादास्पद टिप्पणी से विवादों में रहें. जिसमें उन्होंने शाहरुख की तुलना पाकिस्तानी आतंकवादी हाफिज सईद से की थी. उन्होंने कहा शाहरुख खान को यह याद रखना चाहिए कि भारत की बहुसख्यंक आबादी ने ही उन्हें स्टार बनाया है और यदि वे सब लोग उनकी फ़िल्मों का बहिष्कार करेंगे तो उन्हें सड़को पर घूमना पड़ेगा और यह दुर्भाग्यपूर्ण बात है कि शाहरुख हाफिज सईद की वाणी बोल रहे है.

योगी आदित्यनाथ से जुड़ी कुछ दिलचस्प बातें
1- योगी ने 21 वर्ष की आयु में अपना घर छोड़ा और 90 के दशक में सक्रिय रूप से राम मंदिर आंदोलन से जुड़े.
2- उन्होंने ऋषिकेश में गोरखनाथ मंदिर में महंत अवध्यानाथ से मुलाकात की. उसके पश्चात्‌ वह उनके शिष्य बन गए और 1994 में 22 वर्ष की आयु में उत्तर प्रदेश के गोरखपुर में बस गए. उन्होंने फिर अजय से अपना नाम योगी आदित्यनाथ रख लिया.
3- 1996 में योगी की राजनीतिक यात्रा आरम्भ हुई जब उन्हें महंत अवध्यानाथ के चुनाव अभियान के प्रबंधन का प्रभारी नियुक्त किया गया.
4- गोरखपुर निर्वाचन क्षेत्र से 1998 में उन्हें 12वी लोकसभा के सदस्य के रूप में चुना गया. वह लोकसभा के सबसे युवा सदस्य बने. अब तक वह एक ही निर्वाचन क्षेत्र (गोरखपुर) से पाँच बार सासंद रहे है.
5- 2014 लोकसभा चुनाव में योगी ने 1,42,309 मतो के अंतर से चुनाव जीता. जिससे योगी आदित्यनाथ अपने निर्वाचन क्षेत्र के एक लोकप्रिय राजनेता बन गए.
6- योगी के पूर्वर्ती और अध्यात्मिक नेता महंत अवध्यानाथ, हिन्दू महासंघ के अध्यक्ष थे. दोनों ने अपने चुनाव के दौरान हिंदुत्व का एजेंडा रखा.
7- योगी हिन्दू युवा वाहिनी के संस्थापक हैं. यह युवाओ की एक सामाजिक, सांस्कृतिक, और राष्ट्रवादी संस्था है और यह पूर्वी उत्तर प्रदेश के हिन्दुओ में बहुत लोकप्रिय है.
8- मार्च 2010 में आदित्यनाथ कई भाजपा सांसदों में से एक थे, जिन्होंने महिला आरक्षण विधेयक पर पार्टी की कड़ी अनुपालना की थी.
9- पार्टी में बहुत लोकप्रिय होने के पश्चात् भी उनका भाजपा से अच्छे संबंध नहीं थे. एक दशक तक उनका पार्टी के साथ तनावपूर्ण संबंध रहा. 2007 में उत्तर प्रदेश के चुनाव में भाजपा और योगी के बिच में संबंध अच्छे नहीं थे.
10- योगी एक पशु प्रेमी हैं.
11- 19 मार्च 2017 को वह उत्तर प्रदेश के 21वें मुख्यमंत्री बने.

ये भी पढ़े –

  1. विवेकानंद की जीवनी, स्वामी विवेकानंद का जीवन परिचय, स्वामी विवेकानंद की बायोग्राफी, Swami Vivekananda In Hindi, Swami Vivekananda Ki Jivani
  2. शहीदे आज़म भगत सिंह की जीवनी, शहीद भगत सिंह की बायोग्राफी हिंदी में, भगत सिंह का इतिहास, भगत सिंह का जीवन परिचय, Shaheed Bhagat Singh Ki Jivani
  3. महात्मा गांधी की जीवनी, महात्मा गांधी का जीवन परिचय, महात्मा गांधी की बायोग्राफी, महात्मा गांधी के बारे में, Mahatma Gandhi Ki Jivani
  4. डॉ. भीम राव अम्बेडकर की जीवनी, डॉ. भीम राव अम्बेडकर का जीवन परिचय हिंदी में, डॉ. भीमराव अम्बेडकर के अनमोल विचार, Dr. B.R. Ambedkar Biography In Hindi
  5. सुभाष चन्द्र बोस की जीवनी, सुभाष चंद्र बोस की जीवनी कहानी , नेताजी सुभाष चन्द्र बोस बायोग्राफी, सुभाष चन्द्र बोस का राजनीतिक जीवन, आजाद हिंद फौज का गठन
  6. महादेवी वर्मा की जीवनी , महादेवी वर्मा की बायोग्राफी, महादेवी वर्मा की शिक्षा, महादेवी वर्मा का विवाह, Mahadevi Verma Ki Jivani
  7. तानसेन की जीवनी , तानसेन की बायोग्राफी, तानसेन का करियर, तानसेन का विवाह, तानसेन की शिक्षा, Tansen Ki Jivani, Tansen Biography In Hindi
  8. वॉरेन बफे की जीवनी, वॉरेन बफे की बायोग्राफी, वॉरेन बफे का करियर, वॉरेन बफे की पुस्तकें, वॉरेन बफे के निवेश नियम, Warren Buffet Ki Jivani, Warren Buffet Biography In Hindi
  9. हरिवंश राय बच्चन की जीवनी, हरिवंश राय बच्चन की बायोग्राफी, हरिवंश राय बच्चन की कविताएं, हरिवंश राय बच्चन की रचनाएं, Harivansh Rai Bachchan Ki Jivani
  10. रामधारी सिंह दिनकर की जीवनी , रामधारी सिंह दिनकर की बायोग्राफी, रामधारी सिंह दिनकर के पुरस्कार, रामधारी सिंह दिनकर की रचनाएं, Ramdhari Singh Dinkar Ki Jivani
  11. मन्नू भंडारी की जीवनी, मन्नू भंडारी की बायोग्राफी, मन्नू भंडारी का करियर, मन्नू भंडारी की कृतियां, Mannu Bhandari Ki Jivani, Mannu Bhandari Biography In Hindi
  12. अरविन्द घोष की जीवनी, अरविन्द घोष की बायोग्राफी, अरविन्द घोष का करियर, अरविन्द घोष की मृत्यु, Arvind Ghosh Ki Jivani, Arvind Ghosh Biography In Hindi
  13. सम्राट अशोक की जीवनी, सम्राट अशोक की बायोग्राफी, सम्राट अशोक का शासनकाल, सम्राट अशोक की मृत्यु, Ashoka Samrat Ki Jivani, Ashoka Samrat Biography In Hindi
  14. मिल्खा सिंह की जीवनी, मिल्खा सिंह की बायोग्राफी, मिल्खा सिंह का करियर, मिल्खा सिंह का विवाह, मिल्खा सिंह के पुरस्कार, Milkha Singh Ki Jivani, Milkha Singh Biography In Hindi
  15. अटल बिहारी वाजपेयी की जीवनी, अटल बिहारी वाजपेयी की रचनाएं, अटल बिहारी वाजपेयी की कविताएं, Atal Bihari Vajpayee, Atal Bihari Vajpayee Biography In Hindi