विश्व कैंसर दिवस कब और क्यों मनाया जाता है, 4 फरवरी विश्व कैंसर दिवस का उद्देश्य, विश्व कैंसर दिवस महत्व, कैंसर क्या है- प्रकार, कारण, लक्षण, इलाज, सावधानियां, World Cancer Day Kyu Manaya Jata Hai, World Cancer Divas Kab Manya Jata Hai, What is Cancer- Symptoms, Types, Causes, Treatment

विश्व कैंसर दिवस क्यों मनाया जाता है, विश्व कैंसर दिवस कब मनाया जाता है, विश्व कैंसर दिवस का इतिहास, (4 February World Cancer Day History In Hindi, World Cancer Day Kyu Manaya Jata Hai, World Cancer Divas Kab Manya Jata Hai)
कैंसर से बचाव और उसके प्रति जागरूकता पैदा करने के उद्देश्य से पूरे विश्व में प्रत्येक वर्ष 4 फरवरी को विश्व कैंसर दिवस मनाया जाता है. विश्व कैंसर दिवस मनाने की शुरुआत सन 1933 में हुई, जब अंतर्राष्ट्रीय कैंसर नियंत्रण संघ (UICC) द्वारा स्विट्ज़रलैंड के जिनेवा में पहली बार विश्व कैंसर दिवस मनाया गया और इसकी स्थापना की गई थी. 4 फरवरी 1993 को UICC ने कुछ अन्य प्रमुख कैंसर सोसाइटी के सपोर्ट, रिसर्च इंस्टिट्यूट, ट्रीटमेंट सेंटर और पेशेंट ग्रुप की सहायता से इसका आयोजन किया था. कैंसर के बढ़ते प्रकोप और इसके भयावह परिणामों को देखते विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा प्रत्येक वर्ष विश्व कैंसर दिवस मनाने का निर्णय लिया गया, ताकि आने वाले समय में इसके प्रति जागरूकता का आंकड़ा बढ़े और कई जिंदगि‍यों को इससे बचाया जा सके.

विश्व कैंसर दिवस का महत्व , World Cancer Day 
विश्व कैंसर दिवस हर साल 4 फरवरी को मनाया जाता है. इस दिन लोगों को जागरूक करने के लिए विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है कि कैंसर से पीड़ित व्यक्ति का अलग से इलाज नहीं किया जाता है, उन्हें समाज में एक आम व्यक्ति की तरह रहने और उनके लिए कोई भी रिश्ता बदलने का अधिकार नहीं चाहिए. उनकी इच्छाओं को उनके रिश्तेदारों द्वारा पूरा किया जाना चाहिए, भले ही उनके जीने की संभावना न हो. यह बहुत महत्वपूर्ण है कि उन्हें एक आम आदमी की तरह अच्छा महसूस करना चाहिए और यह महसूस नहीं करना चाहिए कि उन्हें कुछ उपचार दिया जा रहा है क्योंकि वे मरने वाले हैं. उन्हें आत्म-सम्मान महसूस करने की आवश्यकता है और उनके समाज और घर में एक समान वातावरण की आवश्यकता है.

विश्व कैंसर दिवस का क्या उद्देश्य है?, What Is The Purpose Of World Cancer Day In Hindi
हर साल विश्व कैंसर दिवस 4 फरवरी को मनाया जाता है. UICC का प्राथमिक उद्देश्य कैंसर पीड़ित व्यक्तियों की संख्या में कमी करना और इसके कारण होने वाली मृत्यु दर में कमी लाना है. साथ ही लोगों में कैंसर के लक्षणों को पहचान पाने के लिए प्रयास करना, उनमें जागरुकता बढ़ाना, लोगों को शिक्षित करना, सरकारी और गैर-सरकारी संगठनों को दुनिया भर में इस बीमारी के खिलाफ लड़ने के लिए तैयार करना है.

कैसे मनाते हैं विश्व कैंसर दिवस, World Cancer Divas Kaise Manya Jata Hai
विश्व कैंसर दिवस यानी 4 फरवरी को इस घातक बीमारी की रोकथाम के लिए सरकारी और गैर-सरकारी संगठन दुनिया भर के देशों में कैंप लगाते हैं, व्याख्यानों और सेमिनारों का आयोजन करते हैं. इन आयोजनों में आम जनता को भी शामिल किया जाता है, ताकि उन्हें इस बीमारी के प्रति जागरूक किया जा सके. उन्हें अलग-अलग कैंसर के लक्षणों के बारे में भी बताया जाता है, ताकि शुरुआती लक्षणों को देखते ही इसका इलाज करवा कर कैंसर को दूर किया जा सके.भारत में भी सरकारी और गैर-सरकारी संगठनों द्वारा कैंसर को लेकर कई तरह के आयोजन (स्वास्थ्य एवं जागरूकता कैंप लगाना, रैली, नुक्कड़ नाटक, सेमिनार आदि) किए जाते हैं. भारत में कैंसर के मरीजों की बढ़ती संख्या को देखते हुए नवंबर महीने की 7 तारीख को राष्ट्रीय स्तर पर कैंसर अवेयरनेस डे मनाया जाता है.

कैंसर क्या होता है?, What is Cancer In Hindi, Cancer Kya Hota Hai
शरीर कई प्रकार कि कोशिकाओं से बना होता है. यह कोशिकाएं शरीर में बदलावों के कारण बढ़ती रहती हैं. जब ये कोशिकाएं अनियंत्रित तौर पर बढ़ती हैं और पूरे शरीर में फैल जाती हैं, तब यह शरीर के बाकि हिस्सों को उनका काम करने में कठिनाइयां उत्पन्न करने लगती हैं. इससे उन हिस्सों पर कोशिकाओं का गुच्छा सौम्य गांठ या ट्यूमर बन जाता है. इस अवस्था को कैंसर कहते हैं. यही ट्यूमर घातक होता है और बढ़ता रहता है. वर्तमान समय में कैंसर तेजी से पैर पसारने वाली बीमारी है, जो शरीर के किसी भी अंग में अलग-अलग रूपों में फैल सकती है. कैंसर किसी भी उम्र में हो सकता है. यदि कैंसर का सही समय पर पता ना लगाया गया और उसका उपचार ना हो तो इससे मौत का जोखिम बढ़ सकता है. कैंसर एक गंभीर बीमारी है जिसके कारण पूरे विश्व में मौत का ग्रास बनने वाले लोगों की संख्या लगातार बढ़ रही है.

कैंसर के प्रकार, Types Of Cancer
कैंसर के कई प्रकार हैं या यूं कहें कि कैंसर के सौ से भी अधिक रूप है. जैसे- स्तन कैंसर, सर्वाइकल कैंसर, ब्रेन कैंसर, बोन कैंसर, ब्लैडर कैंसर, पेंक्रियाटिक कैंसर, प्रोस्टेट कैंसर, गर्भाशय कैंसर, किडनी कैंसर, लंग कैंसर, त्वचा कैंसर, स्टमक कैंसर, थायरॉड कैंसर, मुंह का कैंसर, गले का कैंसर इत्यादि.

देश में सबसे अधिक होने वाली मौतों में कुछ प्रमुख कैंसर – महिलाओं में सबसे अधिक मौत ब्रेस्ट कैंसर, गर्भाश्य कैंसर और सर्वाइकल कैंसर से होती हैं. पुरुषों में सबसे अधिक मौत फुस्फुस, आमाशय, यकृत, कोलेस्ट्रोल और ब्रेन कैंसर से होती है. कैंसर से मरने वाले लोगों में महिलाओं का प्रतिशत पुरुषों से अधिक है.

कैंसर के कारण, Causes of Cancer 
कैंसर कई तरह का होता है और हर कैंसर के होने के अलग-अलग कारण हैं. लेकिन कुछ मुख्य कारक ऐसे भी हैं जिनसे कैंसर होने का ख़तरा किसी को भी हो सकता है. ये कारक हैं-
1. वजन बढ़ना या मोटापा.
2. अधिक शारीरिक सक्रियता ना होना.
3. एल्कोहल और नशीले पदार्थों का अधिक मात्रा में सेवन करना.
4. कैंसर में पौष्टिक आहार ना लेना.
5. अपनी दिनचर्या में व्यायाम को शामिल ना करना.

कैंसर के अन्य कारण
1. कैंसर आनुवांशिक भी हो सकता है. कई बार कैंसर से पीडि़त माता या पिता के जीन बच्चे में भी आ जाते हैं जिससे बच्चे को भविष्य में कैंसर होने की आशंका बढ़ जाती है.
2. किसी गंभीर बीमारी के कारण भी आपको कैंसर हो सकता है. यानी यदि आप किसी गंभीर बीमारी के लिए दवाएं ले रहे हैं तो इन दवाओं के साइड इफेक्ट्स के कारण आप कैंसर के शिकार हो सकते हैं.
3. कई बार उम्र के बढ़ने के साथ भी शरीर में चुस्ती-फुर्ती नहीं रहती और उम्र के पड़ाव पर व्यक्ति बीमार पड़ने लगता है, ऐसे में कई बार कैंसर भी हो जाता है.

कैंसर के लक्षण, Cancer Symptoms In Hindi
इसके लक्षण अलग-अलग प्रकार के कैंसर पर आधारित होता है. जैसे ब्रेस्ट कैंसर में निपल्स के आस-पास गांठ होना, मेटास्टैसिस ब्रेस्ट कैंसर में थकान, लंग्स और दिमाग में तेज़ दर्द होता है. लेकिन सबसे आम लक्षणों में मूत्राशय की आदतों में बदलाव, गले में खराश, स्तनों और टेस्टिकल्स का मोटा होना या गांठ पड़ना, खाना निगलने में कठिनाई, शरीर पर मौजूद मस्सों या तिल का रंग और आकार बदलना, अचानक वजन का बढ़ना और कम होना, ज़्यादा थकान, उलटी, बार-बार बुखार और बीमार होना होता है. ​

कैंसर का इलाज Cancer Treatment In Hindi
डॉक्टर कैंसर की स्टेज, मरीज की बीमारियों का इतिहास और लक्षणों देखकर इलाज करता है. आमतौर पर इसका इलाज सर्जरी, कीमोथेरेपी और रेडिएशन से किया जाता है.
1. सर्जरी – इसमें डॉक्टर इफेक्टिड एरिया को शरीर से अलग करते हैं. जैसे ब्रेस्ट कैंसर होने पर ब्रेस्ट को हटा दिया जाता है. प्रोस्टेट कैंसर होने पर प्रोस्टेट ग्लैंड को निकाल दिया जाता है. सभी तरह के कैंसर में सर्जरी की जरूरत नहीं होती. जैसे ब्लड कैंसर को सिर्फ दवाइयों से ठीक किया जा सकता है.
2. कीमोथेरेपी – इसमें ड्रग्स या दवाइयों के जरिए कैंसर सेल्स को खत्म किया जाता है. कुछ कीमो में आईवी (नसों में सुइयों के जरिए) से ठीक किया जाता है, कुछ में आपको दवाई दी जाती है. यह दवाइयां पूरे शरीर में अपना असर दिखाती हैं और हर जगह फैले कैंसर को खत्म करती हैं.
3. रेडिएशन – इसमें कैंसर की बढ़ती सेल्स को रोककर उन्हें मारा जाता है. कभी-कभार सिर्फ रेडिएशन या फिर सर्जरी और कीमो के दौरान इससे इलाज किया जाता है. इसमें आपके पूरे शरीर को एक्स-रे मशीन में डाला जाता है, और कैंसर सेल्स को खत्म किया जाता है.

सावधानियाँ
कैंसर से बचने के लिए तंबाकू उत्पादों का सेवन बिलकुल न करें, कैंसर का ख़तरा बढ़ाने वाले संक्रमणों से बचकर रहें, चोट आदि होने पर उसका सही उपचार करें और अपनी दिनचर्या को स्वस्थ बनाए. कैंसर के ज़्यादातर मामलों में फेफड़े और गालों के कैंसर देखने में आते हैं, जो तंबाकू उत्पादों का अधिक सेवन करने का नतीजा होता है. ऐसे मामलों में उपचार बेहद जटिल हो जाता है और मरीज़ के बचने के चांस भी कम हो जाते हैं. इसके साथ ही आजकल महिलाओं में स्तन कैंसर काफ़ी ज़्यादा देखने में आ रहा है जो बेहद खतरनाक होने के साथ काफ़ी पीड़ादायक होता है. यदि सही समय पर अगर इसके लक्षणों को पहचान कर उपचार किया जाए तो इसका इलाज बेहद सरल बन जाता है. कैंसर से सबसे ज़्यादा ख़तरा होता है युवाओं को जो आजकल की भागदौड़ भरी ज़िंदगी में खुद को तनाव मुक्त रखने के लिए धूम्रपान का सहारा लेते हैं. विश्व को कैंसर मुक्त करने के लिए आप भी कदम बढ़ाएं और खुद तथा अपने सगे सबंधियों को तंबाकू, सिगरेट, शराब आदि से दूर रहने की सलाह दीजिए.

स्वास्थ्य से सम्बंधित आर्टिकल्स – 

  1. बीकासूल कैप्सूल खाने से क्या फायदे होते हैं, बिकासुल कैप्सूल के लाभ, Becosules Capsules Uses in Hindi, बेकासूल, बीकोस्यूल्स कैप्सूल
  2. शराब छुड़ाने की आयुर्वेदिक दवा , होम्योपैथी में शराब छुड़ाने की दवा, शराब छुड़ाने के लिए घरेलू नुस्खे , शराब छुड़ाने का मंत्र , शराब छुड़ाने के लिए योग
  3. ज्यादा नींद आने की वजह, Jyada Nind Kyon Aati Hai, ज्यादा नींद आना के कारण, ज्यादा नींद आना, शरीर में सुस्ती, शरीर में थकावट
  4. अनवांटेड किट खाने के कितने दिन बाद ब्लीडिंग होती है, अनवांटेड किट खाने की विधि Hindi, अनवांटेड किट ब्लीडिंग टाइम, अनवांटेड किट की कीमत
  5. गर्भाशय को मजबूत कैसे करे, कमजोर गर्भाशय के लक्षण, गर्भाशय मजबूत करने के उपाय, बच्चेदानी का इलाज, बच्चेदानी कमजोर है, गर्भाशय योग
  6. जिम करने के फायदे और नुकसान, जिम जाने से पहले क्या खाएं, जिम जाने के बाद क्या खाएं,  जिम जाने के फायदे, जिम जाने के नुकसान,  जिम से नुकसान
  7. माला डी क्या है, Mala D Tablet Uses in Hindi, माला डी कैसे काम करती है, Maladi Tablet, माला डी गोली कब लेनी चाहिए
  8. Unienzyme Tablet Uses in Hindi, Unienzyme गोली, यूनिएंजाइम की जानकारी, यूनिएंजाइम के लाभ, यूनिएंजाइम के फायदे,यूनिएंजाइम का उपयोग
  9. मानसिक डर का इलाज, फोबिया का उपचार, डर के लक्षण कारण इलाज दवा उपचार और परहेज, डर लगना, मानसिक डर का इलाज, मन में डर लगना
  10. हिंदी बीपी, उच्च रक्तचाप के लिए आहार, High Blood Pressure Diet in Hindi, हाई ब्लड प्रेशर में क्या नहीं खाना चाहिए, हाई ब्लड प्रेशर डाइट
  11. क्या थायराइड लाइलाज है, थ्रेड का इलाज, थायराइड क्‍या है, थायराइड के लक्षण कारण उपचार इलाज परहेज दवा,  थायराइड का आयुर्वेदिक
  12. मोटापा कम करने के लिए डाइट चार्ट, वजन घटाने के लिए डाइट चार्ट, बाबा रामदेव वेट लॉस डाइट चार्ट इन हिंदी, वेट लॉस डाइट चार्ट
  13. हाई ब्लड प्रेशर के लक्षण और उपचार, हाई ब्लड प्रेशर, बीपी हाई होने के कारण इन हिंदी, हाई ब्लड प्रेशर १६० ओवर ११०, बीपी हाई होने के लक्षण
  14. खाना खाने के बाद पेट में भारीपन, पेट में भारीपन के लक्षण, पतंजलि गैस की दवा, पेट का भारीपन कैसे दूर करे, पेट में भारीपन का कारण
  15. योग क्या है?, Yoga Kya Hai, योग के लाभ, योग के उद्देश्य, योग के प्रकार, योग का महत्व क्या है, योग का लक्ष्य क्या है, पेट कम करने के लिए योगासन, पेट की चर्बी कम करने के लिए बेस्‍ट योगासन

विश्व कैंसर दिवस कब और क्यों मनाया जाता है, 4 फरवरी विश्व कैंसर दिवस का उद्देश्य, विश्व कैंसर दिवस महत्व, कैंसर क्या है- प्रकार, कारण, लक्षण, इलाज, सावधानियां, World Cancer Day Kyu Manaya Jata Hai, World Cancer Divas Kab Manya Jata Hai, What is Cancer- Symptoms, Types, Causes, Treatment