स्किन एलर्जी , स्किन एलर्जी के कारण लक्षण उपचार और सावधानियां , त्वचा की एलर्जी से राहत पाने के घरेलू उपाय ,  स्किन एलर्जी ,  त्वचा की एलर्जी का इलाज , Skin Allergy Ka Ilaj in Hindi , Skin Allergy Ka Desi Ilaj in Hindi , Skin Sllergy Ki Dawa , Skin Allergy in Hindi

स्किन एलर्जी – कारण , लक्षण , उपचार और सावधानियां – स्किन एलर्जी इन हिंदी :बदलते मौसम में स्किन एलर्जी की समस्या होना आम है। मगर यह परेशानी जब व्यक्ति को एक बार चपेट में ले तो जल्दी पीछा छोड़ने का नाम नहीं लेती। दवाइयों का सेवन करने के बावजूद भी एलर्जी की समस्या बार-बार होती रहती है। प्रदूषण या खाने में मिलावट के कारण आजकल लोगों में एलर्जी की समस्या बढ़ रही है, जिसमें से स्किन एलर्जी भी एक है। स्किन एलर्जी होने के कारण त्वचा का लाल होना और खुजली जैसी परेशानी हो जाती है, जोकि धीरे-धीरे चर्म रोग का कारण भी बन सकती हैं। ऐसे में कुछ आसान से घरेलू नुस्खे अपनाकर स्किन एलर्जी की समस्या से हमेशा के लिए छुटकारा पाया जा सकता है।

क्या है एलर्जी

स्किनोलॉजी स्किन एंड हेयर क्लिनिक, दिल्ली की डर्मटोलॉजिस्ट डॉ. निवेदिता दादू का कहना है कि वास्तव में, एलर्जी कोई रोग है ही नहीं। यह मात्र शारीरिक लक्षणों में परिवर्तन है, जिसे सही उपचार से दूर किया जा सकता है। सुगंधित पदार्थ, फूलों के पराग, धूलकण, पेट्रोल या केरोसिन तेल की गंध, फफूंदी, दर्द निवारक गोलियां इत्यादि इसी श्रेणी में आते हैं। इन सारे कारकों को एलर्जन (प्रतिजन) की संज्ञा दी गयी है, जो शरीर में प्रविष्ट होने पर एलर्जिक पदार्थों के उत्पादन को अभिप्रेरित (Motivate) करते हैं। उत्पादित एंटीबॉडी (Antibody)और पहले से शरीर में स्थित एंटीबॉडी में परस्पर एक प्रतिक्रिया होती है। इस प्रतिक्रिया के फलस्वरूप शरीर में कुछ हानिकारक रसायन उत्पादित होते हैं जो एलर्जी के लक्षण उत्पन्न करते हैं। एंटीबॉडी जो मुख्य रूप से एलर्जी कारक होते हैं, उसी प्रतिजन (Antigen) के अनुसार होते हैं, जो उन्हें उत्पन्न करता है। ये रक्त के गामा ग्लोबुलिन वाले अंश में मौजूद होते हैं। ये एंटीजेन और एंटीबॉडी जब परस्पर प्रतिक्रिया करते हैं, तो हिस्टामिन और सेरोटोनिन नामक रसायनिक पदार्थ मुक्त करते हैं, जो शरीर ताप अनियंत्रण, श्वास अनियंत्रण, त्वचा शोध जैसी परेशानियां उत्पन्न करते हैं।

स्किन एलर्जी के कारण 

  • मौसम में बदलाव
  • धूल मिट्टी के कणों के कारण
  • जानवरों को छूने के कारण
  • दर्द निवारक दवाओं का सेवन
  • टैटू का त्वचा पर बुरा प्रभाव
  • किसी फूड के कारण
  • ड्राई स्किन से त्वचा में एलर्जी
  • किसी कीड़े मकोड़े का काटना

स्किन एलर्जी के लक्षण 

  • त्वचा पर लाल धब्बे पड़ना
  • खुजली होना
  • फुंसी-दाने हो जाना
  • रैशेज या क्रैक पड़ना
  • जलन होना
  • त्वचा में खिंचाव पैदा होना
  • छाले या पित्त होना

स्किन एलर्जी के घरेलू उपचार – त्वचा की एलर्जी से राहत पाने के घरेलू उपाय

एलोवेरा – एलोवेरा जेल और कच्चे आम के पल्प को मिक्स करके त्वचा पर लगाएं। इस लेप को लगाने से स्किन एलर्जी की जलन, खुजली और सूजन से राहत मिलती है।

दलिया – दलिया में विटामिन होता है जो त्वचा के लिए लाभकारी होता है और एलर्जी को भी कम करने में मदद करता है। एक कप गुनगुने पानी में दलिया को ग्राइंड कर के मिला लें और फिर इस मिश्रण को प्रभावित हिस्से पर लगाकर 30 मिनट छोड़ दें और फिर अच्छी तरह धो लें।

बेकिंग सोडा – बेकिंग सोडा एंटी-एलर्जी की तरह काम करता है। बेकिंग सोडा को हल्के गुनगुने पानी में मिलाकर प्रभावित हिस्से पर लगाएं और 30 मिनट तक छोड़ दें। अब धो लें।

अधिक पानी पीना – स्किन एलर्जी होने पर अपने शरीर को अधिक से अधिक हाइड्रेट रखें। इसके लिए एक दिन में कम से कम 10 ग्लास पानी जरूर पीएं। अधिक पानी का सेवन आपको सनबर्न और फ्लू से बचाएगा।

कपूर और नारियल तेल – कपूर को पीसकर उसमें नारियल का तेल मिक्स करें। इसके बाद इसे खुजली वाली जगहें पर लगाएं। दिन में कम से कम 2 बार इस मिक्चर को लगाने से आपकी एलर्जी की समस्या दूर हो जाएगी।

फिटकरी – एलर्जी वाली जगहें को फिटकरी के पानी से धोएं। उसके बाद इसपर कपूर और सरसों का तेल मिक्स करके लगाएं। आप चाहें तो इसकी जगहें फिटकरी और नारियल का तेल मिक्स करके भी लगा सकते हैं।

नींबू – नींबू का इस्तेमाल स्किन एलर्जी के दौरान एक बेहतर विकल्प होता है। नींबू में एंटीसेप्टिक और एंटी-बैक्टीरियल गुण होता है जो त्वचा की एलर्जी को कम करने में मदद करता है। एलर्जी वाली जगह पर नींबू के रस को लगाकर थोड़ी देर छोड़ दें और फिर अच्छी तरह धो लें। इससे आपको जल्द राहत मिलेगी।

नीम – एंटी बैक्टीरियल और एंटी इंफ्लेमेटरी गुणों से भरपूर नीम एलर्जी की समस्या को दूर करने का रामबाण इलाज है। इसके लिए नीम के पत्तों को रात के समय पानी में भिगो दें और सुबह इसका पेस्ट बनाकर लगाएं। इससे आपकी स्किन एलर्जी मिनटों में गायब हो जाएगी।

एलर्जी के लक्षण टाइप्स

  • नाक की एलर्जी- नाक में खुजली होना, छीकें आना, नाक बहना, नाक बंद होना या बार-बार जुकाम होना आदि।
  • आंख की एलर्जी- आखों में लालिमा, पानी आना, जलन होना, खुजली आदि।
  • श्वसन प्रक्रिया की एलर्जी- इसमें खांसी, सांस लेने में तकलीफ एवं अस्थमा जैसी गंभीर समस्या हो सकती है।
  • त्वचा की एलर्जी- त्वचा की एलर्जी में त्वचा पर खुजली होना, दाने निकलना, एग्जीमा, पित्ती उछलना आदि शामिल है।
  • पूरे शरीर की एलर्जी- कभी-कभी कुछ लोगों में एलर्जी से गंभीर स्तिथि उत्पन्न हो जाती है। सारे शरीर में एक साथ गंभीर लक्षण उत्पन्न हो जाते हैं। ऐसी स्तिथि में तुरंत हॉस्पिटल लेकर जाना चाहिए।

एलर्जी होने पर बरतें ये सावधानियां

  • अपने साबुन को बदलकर किसी एंटीबैक्टीरियल साबुन का इस्तेमाल करें।
  • स्किन एलर्जी होने पर त्वचा में बार-बार खुजली न करें।
  • ज्यादा से ज्यादा खुली हवा में रहें।
  • अगर आपको किसी फूड से एलर्जी है तो उससे दूर रहें।
  • सबसे महत्वपूर्ण बात, अगर आपको पता चल गया है कि किस चीज से आपको एलर्जी होती है तो उससे दूर रहें

डॉक्टर की राय अपनाएं, एलर्जी भगाएं

  • फल-सब्जियों का खूब सेवन करें।
  • रोज 1 खजूर लें। सलाद खाएं।
  • एलर्जी होने पर त्वचा को केवल पानी से धोएं। साबुन या फेसवॉश का प्रयोग न करें।
  • कैलेमाइन लोशन फायदेमंद रहता है।
  • डॉक्टर की सलाह से एंटी-एलर्जिक दवाएं लें।
  • अगर हाथों में एलर्जी हो गई है तो नाखूनों को छोटा रखें और बर्तन साफ करने या कपड़े धोने से पहले कॉटन के दस्ताने पहनें।

पतंजलि स्किन एलर्जी मेडिसिन

इसमें एलोवेरा का अर्क होता है। यह एक ट्यूब में आता है जो इसे स्वच्छ और उपयोग करने के लिए सुविधाजनक बनाता है। पतंजलि एलोवेरा जेल अच्छी त्वचा को बनाए रखने में मदद करता है। पैक का आकार 150 मिलीलीटर है.
Patanjali Natural Saunarya Aloevera Gel , MRP: Rs 90 , 150ML

बेकासूल्स कैप्सूल के फायदे – बिकोसुल टेबलेट के फायदे – बेकासूल्स जेड कैप्सूल Becosules Capsules 

थायराइड क्‍या है ? थायराइड के लक्षण, कारण, उपचार, इलाज, परहेज, दवा, निदान, जटिलताएं