हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन क्या है, हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन का उपयोग क्यों किया जाता है,  हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन (Hydroxychloroquine ) के साइड इफेक्ट्स क्या हैं, What Is Hydroxychloroquine in Hindi, Hydroxychloroquine Tablet Uses in Hindi, Hcqs 200 Tablet Uses in Hindi, Hcqs 400 Tablet Uses in Hindi, Hcqs 400 Uses in Hindi

हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन क्या है?
हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन एक प्रिस्क्रिप्शन ड्रग है। यह एक ओरल टैबलेट के रूप में आता है।हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन ब्रांड-नाम ड्रग प्लाक्वेनिल के रूप में उपलब्ध है। यह एक सामान्य संस्करण में भी उपलब्ध है। जेनेरिक दवाओं की कीमत आमतौर पर ब्रांड-नाम संस्करण से कम होती है।संयोजन चिकित्सा के एक भाग के रूप में हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन का उपयोग किया जा सकता है। इसका मतलब है कि आपको इसे अन्य दवाओं के साथ लेने की आवश्यकता हो सकती है।

हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन  का उपयोग क्यों किया जाता है ? 
Hydroxychloroquine (HCQS) का प्रयोग-
1- मलेरिया प्रोफिलैक्सिस (Malaria Prophylaxis) – हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन (Hydroxychloroquine ) मलेरिया के लिए प्रोफीलैक्सिस के रूप में प्रयोग किया जाता है।
2- मलेरिया (Malaria) – हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन (Hydroxychloroquine ) से मलेरिया के इलाज में मांसपेशियों में दर्द, ठंड और थकान के साथ बुखार की विशेषता है।
3- अमीबियासिस (Amebiasis) – हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन (Hydroxychloroquine ) अमैबिसिस में प्रयोग किया जाता है जो कि परजीवी संक्रमण होता है। जो एंटेमेइका हिस्टोलिटिका की वजह से आंत और अमिबिक लीवर फोड़े को प्रभावित करता है।
4- सिस्टमिक ल्यूपस एरिथेमेटोस (Systemic Lupus Erythematosus; sle) के उपचार में किया जाता है।

किसे हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन (Hydroxychloroquine ) नहीं लेनी चाहिए
1- एलर्जी (Allergy) – 4-एमिनोक्विनोलिन यौगिकों से ज्ञात एलर्जी वाले रोगियों में सही नहीं है |
2- रेटिनल या दृश्य क्षेत्र में परिवर्तन (Retinal Or Visual Field Changes) – किसी भी दृष्टि हानि के रोगियों में सिफारिश नहीं है।
3- लिवर रोग
4- एनीमिया
5- पोरफाइरिया
6- हृदय रोग
7- सोरायसिस

हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन (Hydroxychloroquine ) के साइड इफेक्ट्स क्या हैं?
1- धुंधली दृष्टि (Blurred Vision)
2- कंफ्यूजन (Confusion)
3- दस्त (Diarrhoea)
4- चक्कर आना (Dizziness)
5- स्किन रैश (Skin Rash)
6- हेयर लॉस (Hair Loss)
7- आँखों में धूप के प्रति संवेदनशीलता की वृद्धि (Increased Sensitivity Of The Eyes To Sunlight)

हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन (Hydroxychloroquine ) सम्बंधित सवाल – जवाब
1- सवाल – इस दवा का प्रभाव कितनी अवधि तक रहता है?
जवाब- इस दवा का प्रभाव 9 से 15 दिनों की औसत अवधि के लिए रहता है।
2- सवाल – इसका असर कब शुरू होता है?
जवाब- इस दवा का प्रभाव 1 से 2 घंटे में देखा जा सकता है।
3- सवाल – क्या कोई गर्भावस्था की चेतावनी और सावधानियां है?
जवाब- गर्भवती महिलाओं में इस दवा की सिफारिश नहीं की जाती है जब तक कि वह आवश्यक नहीं है।
4- सवाल – क्या इसकी आदत पड़ जाती है?
जवाब- कोई आदत बनाने की प्रवृत्तियों की सूचना नहीं मिली है।
5- सवाल – क्या कोई स्तनपान चेतावनी होती है?
जवाब- यह दवा स्तन के दूध के माध्यम से उत्सर्जित करने के लिए जाना जाता है। स्तनपान महिलाओं के लिए यह सिफारिश नहीं है|.
6- सवाल – इस दवा का प्रभाव किडनी पर क्या होता है?
जवाब- कभी-कभी इस दवा से किडनी को नुकसान पहुंच सकता है।
7- सवाल – इस दवा का जिगर (लिवर) पर क्या असर होता है?
जवाब- इस से लीवर पर गंभीर असर हो सकता है, अगर आपको भी इसके साइड इफेक्ट देखने को मिले तो आप दवा का सेवन न करें और इस बारे में डॉक्टर से पूछें।
8- सवाल – क्या ह्रदय पर इस दवा  का प्रभाव पड़ता है?
जवाब- हृदय काफी हद तक इससे सुरक्षित है, हालांकि लेने से पहले डॉक्टर की सलाह लेने से बेहतर परिणाम मिल सकता है। इसके खराब परिणाम बेहद कम होते है।
9- सवाल – क्या इस दवा को लेते समय गाड़ी चलाना या कैसी भी बड़ी मशीन संचालित करना सुरक्षित है?
जवाब- हां, आप इस दवा को लेने के बाद वाहन चलाने या उद्योग में मशीन के पास भी काम कर सकते हैं।
10- सवाल – क्या ये दवा को लेना सुरखित है?
जवाब- हां, डॉक्टर के कहने पर आप ये दवा खा सकते हैं।
11- सवाल – क्या मनोवैज्ञानिक विकार या मानसिक समस्याओं के इलाज में ये दवा इस्तेमाल की जा सकती है?
जवाब- नहीं, मस्तिष्क विकार में इस दवा का उपयोग कारगर नहीं है।

हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन की खुराक छूटना
यदि आपकी कोई खुराक छूट जाती है तो याद आने पर जल्दी से जल्दी खुराक का सेवन करें। यदि आपकी अगली खुराक का समय निकट है तो छूटी हुई खुराक छोड़ दें और अपने खुराक का शिड्यूल दोबारा शुरू करें। छूटी हुई खुराक की भरपाई करने के लिए अतिरिक्त दवा का सेवन ना करें। यदि आप नियमित रूप से अपनी खुराक लेना भूल जा रहे हैं तो अलार्म लगाएं या अपने परिवार के किसी सदस्य को याद दिलाने के लिए कहें। यदि हाल में आपने कई खुराकें छोड़ दी हैं तो छूटी हुई दवाओं की भरपाई के लिए समय में परिवर्तन और नए समय के बारे में चर्चा करने के लिए कृपया अपने चिकित्सक से परामर्श लें।

हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन की अधिक मात्रा
निर्देशित खुराक से ज्यादा का सेवन ना करें। ज्यादा दवा के उपयोग से आपके लक्षणों में सुधार नहीं होगा, बल्कि इससे विषाक्तता या गंभीर दुष्प्रभाव हो सकते हैं। यदि आपको लगता है कि आपने या किसी और ने हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन की ज्यादा खुराक ले ली है तो कृपया अपने नजदीकी अस्पताल या नर्सिंग होम के आपातकालीन विभाग में जाएँ। आवश्यक जानकारी पाने में चिकित्सकों की सहायता करने के लिए अपने साथ मेडिसिन बॉक्स, कंटेनर या लेबल ले जाएँ।

हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन (Hydroxychloroquine ) का संग्रहण
1- दवाओं को गर्मी और सीधी रोशनी से दूर, कमरे के तापमान पर रखें। दवाओं को फ्रीज़ में ना रखें जब तक कि अंदर दिए गए पैकेज के अनुसार ऐसा करने का निर्देश ना दिया गया हो। दवाओं को बच्चों और पालतू जानवरों से दूर रखें।
2- दवाओं को शौचालय या नाली में ना बहाएं जब तक कि ऐसा करने के लिए निर्देशित नहीं किया है। इस प्रकार से फेंकी गयी दवाएं पर्यावरण को नुकसान पहुंचा सकती हैं। हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन को सुरक्षित रूप से समाप्त करने के बारे में और अधिक जानकारी पाने के लिए अपने दवा विक्रेता या चिकित्सक से परामर्श लें।

हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन (Hydroxychloroquine ) के इंटरैक्शन क्या है?
जब भी आप एक से अधिक दवा लेते हैं या इसे किसी अन्य खाद्य या पेय पदार्थों के साथ मिलाने पर इंटरैक्शन होने का खतरा रहता हैं।
रोग के साथ इंटरैक्शन
1- ऑकुलोटॉक्सिटी (Oculotoxicity) – आँख विकार वाले रोगियों में इस दवा की सिफारिश नहीं की जाती है। नेत्र समारोह की जाँच बंद करना आवश्यक है। अस्पष्ट दृष्टि के किसी भी लक्षण, पढ़ने में कठिनाई दिखाई देने पर उपचार बंद नहीं किया जाना चाहिए।
2- शराब के साथ इंटरैक्शन- शराब के साथ ये दवा न ले । ये बहुत खतरनाक हो सकता है। सेवन से पहले अपने चिकित्सक से परामर्श करना उचित है।

दवाओं के साथ इंटरैक्शन
1- एथाम्बुटोल (Ethambutol) – यह दवाएं तंत्रिका हानि के जोखिम को बढ़ा सकती हैं यदि एक साथ दी गई हो। स्तब्ध हो जाना, झुनझुनी हाथ या पैर में सनसनी के किसी भी लक्षण को डॉक्टर से सूचित किए जाने चाहिए। नैदानिक ​​स्थिति के आधार पर एक वैकल्पिक चिकित्सा पर सलाह की जानी चाहिए।
2- फ्लुकोनाज़ोले (Fluconazole) – ये दवाएं अनियमित हृदय ताल के जोखिम को बढ़ा सकती हैं। यदि आप किसी भी दिल की दवाएं ले रहे हैं तो डॉक्टर को सूचित करें। हृदय समारोह की जाँच बंद करना आवश्यक है। आप में से किसी लक्षण जैसे घबराहट, चक्कर आना और सांस लेने में कठिनाई आदि में उपचार करता है।
3- ट्रामाडोल (Tramadol) – ये दवाएं दौरे के जोखिम को बढ़ा सकती हैं यदि एक साथ मिलती है। यदि आपको बरामदगी या सिर की चोट का कोई इतिहास हो तो डॉक्टर को सूचित करें| दौरे के किसी भी लक्षण डॉक्टर को सूचित किया जाना चाहिए। चिकित्सा की स्थिति के आधार पर एक वैकल्पिक श्रेणी का दवा लेना चाहिए।
4- क्विनीडाइन (Quinidine) – यह दवाएं अनियमित हृदय ताल के जोखिम को बढ़ा सकती हैं। यदि आप किसी भी दिल की दवाएं ले रहे हैं तो डॉक्टर को सूचित करें। हृदय समारोह की जाँच बंद करना आवश्यक है। उपचार को रोक दें, यदि आप किसी भी प्रकार के लक्षणों, चक्कर आना और साँस लेने में कठिनाई का अनुभव करते हैं।

हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन (Hydroxychloroquine ) के खुराक की जानकारी
कृपया अपने चिकित्सक से परामर्श लें। बिना डॉक्टर की सलाह के ये दवा लेना बुरे परिमाण दे सकता है।

हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन का इतिहास – Hydroxychloroquine / HCQ History
HCQ कहानी 1638 में शुरू होती है जब पेरू के वायसराय काउंटेस की पत्नी सिनकोना को नई दुनिया ( New World ) में रहते हुए मलेरिया हुआ। “अनुमोदित” approved चिकित्सा करने के बजाय जो की रक्त-त्याग होता था , उनका एक हर्बलिस्ट द्वारा एक पेड़ की छाल (अंततः काउंटेस-सिनकोना ट्री से नामित) के साथ इलाज किया गया था। उसकी प्रतिक्रिया नाटकीय थी; जब वायसराय स्पेन लौट आया, तो वह अपने साथ सामान्य उपयोग के लिए पाउडर की बड़ी आपूर्ति लेकर आया, जो उस समय चर्च द्वारा नियंत्रित था और इस तरह उसे जेसुइट पाउडर कहा जाता था।

क्विनिन अमेरिका के दक्षिणी राज्यों में मलेरिया के इलाज के लिए लोक दवाओं और पेटेंट उपचार में एक सामान्य घटक बन गया , साथ ही साथ सामान्य अस्वस्थता के लिए। 1940 के दशक तक, क्विनिन या इसके व्युत्पन्न क्लोरोक्वीन को इसके मलेरिया-रोधी गुणों के लिए मान्यता प्राप्त थी और वर्ल्ड वॉर २ के दौरान प्रशांत में लड़ रहे सैनिकों के बीच इसका उपयोग किया गया। हालांकि, यह भी ध्यान दिया गया था कि इस यौगिक में महत्वपूर्ण विषाक्तता थी। 1945 में, हाइड्रॉक्सिलेशन के माध्यम से इस यौगिक के एक संशोधन से एचसीक्यू HCQ का विकास हुआ, जो कम विषाक्त पाया गया और आज भी बिना बदलाव के उपयोग में बना हुआ है।

समय के साथ, चिकित्सकों ने दवा के साथ प्रयोग करना शुरू कर दिया और 1950 के दशक की शुरुआत में एसएलई SLE के इलाज के लिए इसका इस्तेमाल करना शुरू किया। उस बीमारी में सफलता के बाद (अन्य उपलब्ध एजेंटों के सापेक्ष सफल था बाकी उपलब्ध एजेंट्स बिलकुल भी सफल नहीं थे), यह एक अन्य आर्थ्रोपैथी, आरए arthropathy, RA में कोशिश की गई थी। हालांकि, बेहतर प्रतिक्रियाएं पाने के लिए, चिकित्सकों ने खुराक पे जयादा जोर दिया और आश्चर्य की बात नहीं, विषाक्तता, सबसे उल्लेखनीय रेटिनल विषाक्तता, खुद को दवा की सीमित विशेषता के रूप में पेश करना शुरू कर दिया। चिकित्सक निराश नहीं हुए , चिकित्सकों ने खुराक को समायोजित किया और इसे संयोजन चिकित्सा में उपयोग करने पर विचार करना शुरू किया, जो 1980 के दशक में लोकप्रिय हो गया और हाल ही के अध्ययनों में ट्रिपल थेरेपी की उल्लेखनीय प्रभावकारिता को दिखाया गया है, जब एचटीक्यू HCQ को एमटीएक्स MTX और सल्फालाज़िन sulfasalazine के साथ जोड़ा गया था।

हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन एक रेसिमिक मिश्रण है जिसमें एक आर और एस एनैन्टीओमर ( R and S Enantiomer ) होता है। हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन भी क्लोरोक्वीन की तरह एक एमिनोक्विनोलिन है। यह आमतौर पर अनियंत्रित मलेरिया, संधिशोथ, क्रोनिक डिसाइड ल्यूपस एरिथेमेटोसस और प्रणालीगत ल्यूपस एरिथेमेटोसस के उपचार में निर्धारित दवा है। हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन का उपयोग उन क्षेत्रों में मलेरिया के प्रोफिलैक्सिस के लिए भी किया जाता है जहां क्लोरोक्वीन प्रतिरोध की संभावना नहीं है। यह द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान कम गंभीर प्रभावों के साथ क्विनैक्रिन के व्युत्पन्न के रूप में विकसित किया गया था। क्लोरोक्वीन और हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन दोनों को SARS-CoV-2 के उपचार के लिए जांच की जा रही है. 18 अप्रैल 1955 को हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन को एफडीए की मंजूरी दी गई

COVID19 and हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन (Hydroxychloroquine )
अमेरिका ने इप्का लेबोरेटरीज को क्यों बन किया था 
अगस्त 2019 के अंत में, यूएस एफडीए US FDA ने भारत की इप्का लेबोरेटरीज Ipca Laboratories  को प्रतिबन्ध कर दिया था, जो दुनिया की 70% के करीब हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वाइन दवा बनाने वाली कंपनी है “कास्केड ऑफ़ फेललिएर ”  ( एक कैस्केडिंग विफलता इंटरकनेक्टेड भागों की प्रणाली में एक प्रक्रिया है जिसमें एक या कुछ भागों की विफलता अन्य भागों की विफलता को ट्रिगर कर सकती है )। इस मामले में, एफडीए FDA ने कहा, फर्म के गुणवत्ता नियंत्रण विश्लेषकों ने मानक परीक्षण प्रक्रियाओं को सही से नहीं माना।

यूएस एफडीए US FDA की इपका की विनिर्माण प्रक्रियाओं में वर्षों से चली आ रही जांच के कारन 2016 में स्विट्जरलैंड की कंपनी ग्लोबल फंड ( Switzerland-based Global Fund ) को एड्स, क्षय रोग और मलेरिया से बचाने वाली दवाओं के लिए प्रेरित किया ताकि इम्पालायारिक Antimalarial   दवाओं के आपूर्तिकर्ताओं की सूची से इप्का Ipca को हटा दिया जाए।

हाइड्रोक्सीक्लोरोक्‍वीन का दुनिया में सबसे बड़ा उत्पादक है भारत, उत्पादन क्षमता भी जबर्दस्त
भारत मलेरिया के इलाज में उपयोग होने वाली हाइड्रोक्सीक्लोरोक्‍वीन दवा का सबसे बड़ा उत्‍पादक है. इस दवा को अब कोरोना वायरस संक्रमण के इलाज में पासा पलटने वाला माना जा रहा है. अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप इसी दवा की आक्रमक तरीके से मांग कर रहे हैं. दवा उद्योग का कहना है कि देश के पास हाइड्रोक्सीक्लोरोक्‍वीन दवा का तेजी से उत्पादन बढ़ाने की क्षमता है. ट्रंप की इस दवा की मांग के बाद भारत इसके निर्यात पर पाबंदी हटाने को सहमत हो गया है. इससे पहले कोरोना वायरस महामारी के बीच इस दवा समेत दो दर्जन से अधिक रसायनों के निर्यात पर पाबंदी लगाई गई थी. निर्यात पर पाबंदी हटाने से पहले अधिकारियों ने इस बात का आकलन किया कि कोरोना वायरस महामारी को देखते हुए देश को इस दवा की कितनी जरूरत है.

क्‍या है स्थिति?
1- इंडियन फार्मास्यूटिकल एलायंस (आईपीए) के महासचिव सुदर्शन जैन के अनुसार, दुनिया में आपूर्ति होने वाली कुल हाइड्रोक्सीक्लोरोक्‍वीन में भारत की हिस्सेदारी 70 फीसदी है. देश में हर महीने 40 टन हाइड्रोक्सीक्लोरोक्‍वीन (एचसीक्यू) उत्पादन की क्षमता है. यह 200-200 एमजी के करीब 20 करोड़ टैबलेट के बराबर बैठता है.
2- चूंकि इस दवा का उपयोग रूमेटाइड आर्थराइटिस जैसी ‘ऑटो इम्यून’ बीमारी के इलाज में भी किया जाता है, इसके कारण मैन्‍यूफैक्‍चरर्स के पास उत्पादन क्षमता अच्छी है जिसे वे कभी भी बढ़ा सकते हैं.

कौन सी कंपनियां करती हैं उत्‍पादन?
इपका लैबोरेटरीज, जाइडस कैडिला और वालेस फार्मास्यूटिकल्स शीर्ष दवा कंपनियां हैं जो देश में एचसीक्यू का विनिर्माण करती हैं. जैन ने कहा कि भारत में मौजूदा मांग को पूरा करने के लिए उत्पादन क्षमता पर्याप्त है. अगर जरूरत पड़ती है तो कंपनियां उत्पादन बढ़ाने को लेकर प्रतिबद्ध हैं.

क्‍यों अमेरिका नहीं बनाता है यह दवा?
1- हाल ही में स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय ने करीब 10 करोड़ एचसीक्यू टैबलेट का ऑर्डर इपका लेबोरेटरीज और जाइडस कैडिला को दिया. इस दवा का विनिर्माण अमेरिका जैसे विकसित देशों में नहीं होता. इसका कारण उन देशों में मलेरिया का नहीं होना है.
2- हालांकि, हाल में इस दवा की खरीद और उपयोग को प्रतिबंधित किया गया क्योंकि इसका उपयोग चयनित रूप से कोरोना वायरस संक्रमित के इलाज में किया जा रहा है. इसका कारण इसमें ‘एंटीवायरल’ विशेषताओं का होना है.

क्‍या हो सकती है किल्‍लत?
1- भारत एचसीक्यू में इस्तेमाल 70 फीसदी जरूरी रसायन चीन से लेता है और फिलहाल आपूर्ति स्थिर है. दवा उद्योग के अधिकारियो का कहना है कि देश में एचसीक्यू के पर्याप्त भंडार हैं और कंपनियां घरेलू मांग के साथ-साथ निर्यात को पूरा करने में सक्षम हैं.
2- भारत ने 25 मार्च को एचसीक्यू के निर्यात पर पाबंदी लगा दी थी और इसे दो दर्जन रसायानों (एपीआई) की सूची में डाला जिसका निर्यात नहीं किया जा सकता. भारत इस दवा का सबसे बड़ा निर्यातक है.

हाइड्रोक्सीक्लोरोक्‍वीन Hydroxychloroquine और कोविड-19 के बारे में अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न
1- सवाल – क्या कोरोनोवायरस संक्रमण के खिलाफ HCQS प्रभावी है?
जवाब – एचसीक्यूएस वर्तमान में विभिन्न नैदानिक ​​परीक्षणों (मानव में अनुसंधान अध्ययन) में कोरोनोवायरस संक्रमण की रोकथाम और COVID-19 (कोरोनोवायरस के कारण होने वाली बीमारी) के रोगियों के उपचार के लिए अध्ययन के अधीन है। इस दवा ने प्रयोगशाला अध्ययन (इन विट्रो अध्ययन) में कोरोनावायरस के खिलाफ कुछ गतिविधि दिखाई है। हालांकि, निष्कर्ष निकालने के लिए आवश्यक है कि HCQS कोरोनवायरस के खिलाफ प्रभावी है।
2- सवाल – क्या कोरोनोवायरस संक्रमण के प्रोफिलैक्सिस के लिए HCQS का उपयोग किया जा सकता है?
जवाब –  COVID-19 (ICMR द्वारा गठित) के लिए राष्ट्रीय टास्क फोर्स ने केवल कुछ उच्च जोखिम वाले आबादी (यानी वायरस के संपर्क में उच्च जोखिम वाले लोगों) या आपातकालीन स्थितियों में कोरोनवायरस संक्रमण की रोकथाम के लिए HCQS के उपयोग की सिफारिश की है। यह COVID-19 के संदिग्ध या पुष्ट मामलों की देखभाल में शामिल स्पर्शोन्मुख स्वास्थ्य सेवा श्रमिकों और प्रयोगशाला-पुष्ट मामलों के स्पर्शोन्मुख घरेलू संपर्कों के मामले में प्रोफिलैक्सिस के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है।

हाइड्रोक्सीक्लोरोक्‍वीन दवाओं के प्रकार और कीमत की जानकारी 

निर्माता –इप्का लेबोरेटरीज लिमिटेड
Manufacturer – Ipca Laboratories Ltd
एक्सपायरी – बनाए जाने की तारीख से 24 महीने तक
1- एचसीक्यूएस 200 टैबलेट– HCQS 200 Tablet
साल्ट कंपोजिशन / Salt Composition –  हाइड्रोक्सीक्लोरोक्‍वीन ( 200), Hydroxychloroquine (200mg)
Price – MRP₹99.29 , 15 tablets in 1 strip
2- एचसीक्यूएस 300 टैबलेट– HCQS 300 Tablet
साल्ट कंपोजिशन / Salt Composition –  हाइड्रोक्सीक्लोरोक्‍वीन ( 300), Hydroxychloroquine (300mg)
Price –MRP₹139.1, 10 tablets in 1 strip
3- एचसीक्यूएस 400 टैबलेट– HCQS 400 Tablet
साल्ट कंपोजिशन / Salt Composition –  हाइड्रोक्सीक्लोरोक्‍वीन ( 400), Hydroxychloroquine (400mg)
Price – MRP₹133.39, 10 tablets in 1 strip

निर्माता –कैडिला फार्मास्युटिकल्स लिमिटेड
Manufacturer – Cadila Pharmaceuticals Ltd
1- ह्य्द्रोकाड 200 टैबलेट– Hydrocad 200 Tablet
साल्ट कंपोजिशन / Salt Composition –  हाइड्रोक्सीक्लोरोक्‍वीन ( 200), Hydroxychloroquine (200mg)
Price – MRP₹60.48 , 10 tablets in 1 strip

निर्माता –मोलकुले इंडिया प्राइवेट लिमिटेड
Manufacturer – Molekule India Pvt Ltd
1- एमसीक्यूएस 200 टैबलेट– Mcqs 200 Tablet
साल्ट कंपोजिशन / Salt Composition –  हाइड्रोक्सीक्लोरोक्‍वीन ( 200), Hydroxychloroquine (200mg)
Price – MRP₹69.9 , 10 tablets in 1 strip

निर्माता –टोरेंट फार्मास्युटिकल्स लिमिटेड
Manufacturer – Torrent Pharmaceuticals Ltd
1- ह्क़्टर 200 टैबलेट– Hqtor 200 Tablet
साल्ट कंपोजिशन / Salt Composition –  हाइड्रोक्सीक्लोरोक्‍वीन ( 200), Hydroxychloroquine (200mg)
Price – MRP₹64.9 , 10 tablets in 1 strip
2- ह्क़्टर 400 टैबलेट– Hqtor 400 Tablet
साल्ट कंपोजिशन / Salt Composition –  हाइड्रोक्सीक्लोरोक्‍वीन ( 400), Hydroxychloroquine (400mg)
Price – MRP₹130.8 , 10 tablets in 1 strip

निर्माता –टी जी बी फार्मा लिमिटेड
Manufacturer – TBG pharma ltd
1- एरा एच् 200 टैबलेट– Era-H 200 Tablet
साल्ट कंपोजिशन / Salt Composition –  हाइड्रोक्सीक्लोरोक्‍वीन ( 200), Hydroxychloroquine (200mg)
Price – MRP₹62 , 10 tablets in 1 strip

निर्माता –एल डोराडो बायो टेक प्राइवेट लिमिटेड
Manufacturer – El-Dorado Bio-Tech Pvt Ltd
1- क्यू-राडो 400 टैबलेट– Q-Rado 400 Tablet
साल्ट कंपोजिशन / Salt Composition –  हाइड्रोक्सीक्लोरोक्‍वीन ( 400), Hydroxychloroquine (400mg)
Price – MRP₹94.33 , 10 tablets in 1 strip

नोट – आप इस दवा को डॉक्टर के सलाह के बाद ही प्रयोग करे। बिना डॉक्टर के सलाह के ये दवा लेना जोखिम हो सकता है। डॉक्टर द्वारा प्रिस्क्राइब की गई मात्रा में निर्धारित समय तक हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन (Hydroxychloroquine ) खाना सुरक्षित है। Hydroxychloroquine Tablets Uses Side Effects Dose Brand Name Price in India in Hindi

Disclaimer – हमारा एकमात्र उद्देश्य यह सुनिश्चित करना है कि इसके उपभोक्ताओं को विशेषज्ञ-समीक्षा, सटीक और भरोसेमंद जानकारी मिले। हालांकि, इसमें दी गई जानकारी को एक योग्य चिकित्सक की सलाह के विकल्प के रूप में उपयोग नहीं किया जाना चाहिए। यहां दी गई जानकारी केवल सूचना के उद्देश्यों के लिए है यह सभी संभावित दुष्प्रभावों, दवा बातचीत या चेतावनी या अलर्ट को कवर नहीं कर सकता है। कृपया अपने चिकित्सक से परामर्श करें और किसी भी बीमारी या दवा से संबंधित अपने सभी प्रश्नों पर चर्चा करें। हमारा मकसद सिर्फ जानकारी देना है।

हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन क्या है, हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन का उपयोग क्यों किया जाता है,  हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन (Hydroxychloroquine ) के साइड इफेक्ट्स क्या हैं, What Is Hydroxychloroquine in Hindi, Hydroxychloroquine Tablet Uses in Hindi, Hcqs 200 Tablet Uses in Hindi, Hcqs 400 Tablet Uses in Hindi, Hcqs 400 Uses in Hindi

स्वास्थ्य से सम्बंधित आर्टिकल्स – 

  1. बीकासूल कैप्सूल खाने से क्या फायदे होते हैं, बिकासुल कैप्सूल के लाभ, Becosules Capsules Uses in Hindi, बेकासूल, बीकोस्यूल्स कैप्सूल
  2. शराब छुड़ाने की आयुर्वेदिक दवा , होम्योपैथी में शराब छुड़ाने की दवा, शराब छुड़ाने के लिए घरेलू नुस्खे , शराब छुड़ाने का मंत्र , शराब छुड़ाने के लिए योग
  3. अनवांटेड किट खाने के कितने दिन बाद ब्लीडिंग होती है, अनवांटेड किट खाने की विधि Hindi, अनवांटेड किट ब्लीडिंग टाइम, अनवांटेड किट की कीमत
  4. गर्भाशय को मजबूत कैसे करे, कमजोर गर्भाशय के लक्षण, गर्भाशय मजबूत करने के उपाय, बच्चेदानी का इलाज, बच्चेदानी कमजोर है, गर्भाशय योग
  5. जिम करने के फायदे और नुकसान, जिम जाने से पहले क्या खाएं, जिम जाने के बाद क्या खाएं,  जिम जाने के फायदे, जिम जाने के नुकसान,  जिम से नुकसान
  6. माला डी क्या है, Mala D Tablet Uses in Hindi, माला डी कैसे काम करती है, Maladi Tablet, माला डी गोली कब लेनी चाहिए
  7. Unienzyme Tablet Uses in Hindi, Unienzyme गोली, यूनिएंजाइम की जानकारी, यूनिएंजाइम के लाभ, यूनिएंजाइम के फायदे,यूनिएंजाइम का उपयोग
  8. मानसिक डर का इलाज, फोबिया का उपचार, डर के लक्षण कारण इलाज दवा उपचार और परहेज, डर लगना, मानसिक डर का इलाज, मन में डर लगना
  9. हिंदी बीपी, उच्च रक्तचाप के लिए आहार, High Blood Pressure Diet in Hindi, हाई ब्लड प्रेशर में क्या नहीं खाना चाहिए, हाई ब्लड प्रेशर डाइट
  10. क्या थायराइड लाइलाज है, थ्रेड का इलाज, थायराइड क्‍या है, थायराइड के लक्षण कारण उपचार इलाज परहेज दवा,  थायराइड का आयुर्वेदिक
  11. मोटापा कम करने के लिए डाइट चार्ट, वजन घटाने के लिए डाइट चार्ट, बाबा रामदेव वेट लॉस डाइट चार्ट इन हिंदी, वेट लॉस डाइट चार्ट
  12. हाई ब्लड प्रेशर के लक्षण और उपचार, हाई ब्लड प्रेशर, बीपी हाई होने के कारण इन हिंदी, हाई ब्लड प्रेशर १६० ओवर ११०, बीपी हाई होने के लक्षण
  13. खाना खाने के बाद पेट में भारीपन, पेट में भारीपन के लक्षण, पतंजलि गैस की दवा, पेट का भारीपन कैसे दूर करे, पेट में भारीपन का कारण
  14. योग क्या है?, Yoga Kya Hai, योग के लाभ, योग के उद्देश्य, योग के प्रकार, योग का महत्व क्या है, योग का लक्ष्य क्या है, पेट कम करने के लिए योगासन, पेट की चर्बी कम करने के लिए बेस्‍ट योगासन