एचआईवी और एड्स में अंतर, एचआईवी/एड्स के उपचार, एचआईवी के लक्षण, एड्स एचआईवी के लक्षण, एड्स का पता कैसे चलता है, एचआईवी का इलाज, एड्स का इलाज, World AIDS Day HIV Symptoms, Signs and Aids Treatment, HIV Aur AIDS Mein Antar, HIV Ke Lakshan, AIDS Ke Lakshan

एचआईवी/एड्स के उपचार, एचआईवी के लक्षण
World Aids Day Hiv Symptoms, Signs and Aids Treatment- आज विश्व एड्स दिवस है। हर साल एक दिसंबर को मनाए जाने वाले इस खास दिवस का उद्देश्य एचआईवी संक्रमण की वजह से होने वाली जानलेवा बीमारी एड्स के बारे में जागरूकता बढ़ाना है। अक्सर देखा गया है कि लोग इस बीमारी के लक्षणों को अनदेखा करते हैं फिर इसकी चपेट में आकर जान तक गवां बैठते हैं।

ज्यादातर लोग एचआईवी और एड्स को एक ही बीमारी मानते हैं, जबकि ऐसा नहीं है। ये दोनों बीमारियां अलग-अलग हैं। ये आपस में जुड़े हुए हैं लेकिन दोनों का मतलब एक नहीं है। साथ ही यह भी जानना चाहिए कि एचआईवी के हर मरीज को एड्स हो, यह जरुरी नहीं। आइए, जानते हैं दोनों के बारे में।

क्या है एचआईवी?
एचआईवी का मतलब होता है मानव इम्यूनोडिफीसिअन्सी वायरस। यह वायरस मूलत: सेक्स के माध्यम से फैलता है। जब किसी एचआईवी संक्रमित पुरुष या महिला के साथ असुरक्षित यौन संबंध बनाया जाता है, तब बिना सुरक्षा के सेक्स करने पर यह वायरस शरीर में प्रवेश कर जाता है। इसके अलावा शरीर से निकलने वाले फ्लूइड जैसे कि वेजाइना से निकलने वाला फ्लूइड या सिमेन, लार या ब्लड के संपर्क में आने से भी हो सकता है। एचआईवी वायरस की जांच करने पर जब रिपोर्ट पॉजिटिव आती है, तो उसे एचआईवी पॉजिटिव कहा जाता है।

एड्स क्या है?
एड्स का पूरा नाम एक्वायर्ड इम्यून डेफिसिएंसी सिंड्रोम है। यह मूलत: किसी व्यक्ति के इम्यून सिस्टम यानी कि प्रतिरोधक क्षमता का ध्वस्त हो जाना है। किसी एचआईवी पॉजिटिव व्यक्ति को एड्स होने में दो से 10 साल तक का समय लग जाता है। इस स्टेज में व्यक्ति के शरीर की इम्यूनिटी बेहद कम हो जाती है और ऐसे में उसे एक साथ कई तरह के इंफेक्शन होने का खतरा बढ़ जाता है।

एचआईवी और एड्स में अंतर
एचआईवी इंफेक्शन का एक्सट्रीम स्टेज है- एड्स। एचआईवी एक ऐसा वायरस होता है, जो शरीर के इम्यून सिस्टम को बेहद कमजोर बना देता है। अगर सही समय पर एचआईवी का पता न चले तो शरीर में इंफेक्शन बढ़ता चला जाता है और फिर ये एड्स बन जाता है। हालांकि शुरुआती स्टेज में ही एचआईवी का पता चल जाए तो दवाओं और सही इलाज से यह नियंत्रित हो सकता है।

क्या है एड्स के लक्षण
1- वजन घटना
2- शरीर में लाल चकत्ते होना
3- रात में पसीना आना
4- गला सूखना
5- मांसपेशियों में दर्द
6- बार-बार बुखार आना, ठंड लगना

चिकित्सकों के अनुसार इस बीमारी के आरंभिक लक्षणों को पहचानना मुश्किल होता है। अगर आप सावधान रहें और शुरुआत में ही पता चल जाए, तो इसे नियंत्रित किया जा सकता है और लंबे समय तक आप स्वस्थ रह सकते हैं।

एचआईवी एड्स का इलाज
एड्स की सबसे खतरनाक बात यह होती है कि एचआईवी एड्स का वायरस शरीर में प्रवेश करने के बाद संक्रमित व्यक्ति के आनुवांशिक तत्वों से जुड़ जाता है और आने वाली पीढ़ियों भीलगातार संक्रमण से प्रभावित होती है। एड्स का अब तक कोई भी इलाज नहीं है, लेकिन समय पर बीमारी के पता चलने से मरीज को बचाया जा सकता है।

एचआईवी और एड्स में अंतर, एचआईवी/एड्स के उपचार, एचआईवी के लक्षण, एड्स एचआईवी के लक्षण, एड्स का पता कैसे चलता है, एचआईवी का इलाज, एड्स का इलाज, World AIDS Day HIV Symptoms, Signs and Aids Treatment, HIV Aur AIDS Mein Antar, HIV Ke Lakshan, AIDS Ke Lakshan

स्वास्थ्य से सम्बंधित आर्टिकल्स – 

  1. बीकासूल कैप्सूल खाने से क्या फायदे होते हैं, बिकासुल कैप्सूल के लाभ, Becosules Capsules Uses in Hindi, बेकासूल, बीकोस्यूल्स कैप्सूल
  2. शराब छुड़ाने की आयुर्वेदिक दवा , होम्योपैथी में शराब छुड़ाने की दवा, शराब छुड़ाने के लिए घरेलू नुस्खे , शराब छुड़ाने का मंत्र , शराब छुड़ाने के लिए योग
  3. कॉम्बिफ्लेम टेबलेट की जानकारी इन हिंदी, कॉम्बिफ्लेम टेबलेट किस काम आती है, Combiflam Tablet Uses in Hindi, Combiflam Syrup Uses in Hindi
  4. ज्यादा नींद आने की वजह, Jyada Nind Kyon Aati Hai, ज्यादा नींद आना के कारण, ज्यादा नींद आना, शरीर में सुस्ती, शरीर में थकावट
  5. अनवांटेड किट खाने के कितने दिन बाद ब्लीडिंग होती है, अनवांटेड किट खाने की विधि Hindi, अनवांटेड किट ब्लीडिंग टाइम, अनवांटेड किट की कीमत
  6. गर्भाशय को मजबूत कैसे करे, कमजोर गर्भाशय के लक्षण, गर्भाशय मजबूत करने के उपाय, बच्चेदानी का इलाज, बच्चेदानी कमजोर है, गर्भाशय योग
  7. जिम करने के फायदे और नुकसान, जिम जाने से पहले क्या खाएं, जिम जाने के बाद क्या खाएं,  जिम जाने के फायदे, जिम जाने के नुकसान,  जिम से नुकसान
  8. माला डी क्या है, Mala D Tablet Uses in Hindi, माला डी कैसे काम करती है, Maladi Tablet, माला डी गोली कब लेनी चाहिए
  9. Unienzyme Tablet Uses in Hindi, Unienzyme गोली, यूनिएंजाइम की जानकारी, यूनिएंजाइम के लाभ, यूनिएंजाइम के फायदे,यूनिएंजाइम का उपयोग
  10. मानसिक डर का इलाज, फोबिया का उपचार, डर के लक्षण कारण इलाज दवा उपचार और परहेज, डर लगना, मानसिक डर का इलाज, मन में डर लगना
  11. हिंदी बीपी, उच्च रक्तचाप के लिए आहार, High Blood Pressure Diet in Hindi, हाई ब्लड प्रेशर में क्या नहीं खाना चाहिए, हाई ब्लड प्रेशर डाइट
  12. क्या थायराइड लाइलाज है, थ्रेड का इलाज, थायराइड क्‍या है, थायराइड के लक्षण कारण उपचार इलाज परहेज दवा,  थायराइड का आयुर्वेदिक
  13. मोटापा कम करने के लिए डाइट चार्ट, वजन घटाने के लिए डाइट चार्ट, बाबा रामदेव वेट लॉस डाइट चार्ट इन हिंदी, वेट लॉस डाइट चार्ट
  14. हाई ब्लड प्रेशर के लक्षण और उपचार, हाई ब्लड प्रेशर, बीपी हाई होने के कारण इन हिंदी, हाई ब्लड प्रेशर १६० ओवर ११०, बीपी हाई होने के लक्षण
  15. खाना खाने के बाद पेट में भारीपन, पेट में भारीपन के लक्षण, पतंजलि गैस की दवा, पेट का भारीपन कैसे दूर करे, पेट में भारीपन का कारण
  16. योग क्या है?, Yoga Kya Hai, योग के लाभ, योग के उद्देश्य, योग के प्रकार, योग का महत्व क्या है, योग का लक्ष्य क्या है, पेट कम करने के लिए योगासन, पेट की चर्बी कम करने के लिए बेस्‍ट योगासन