दही सेहत के लिए बेहद फायदेमंद होता है. दही का प्रयोग न सिर्फ आपको सेहतमंद बनाता है बल्कि खूबसूरती भी देता है. जी हां दही में सेहत के साथ-साथ खूबसूरती के राज भी छिपे हैं. दही का प्रयोग पेट के लिए खासतौर पर फायदेमंद माना जाता है. इसमें प्रोटीन, कैल्शियम, राइबोफ्लेविन के अलावा विटमिन बी-6 और विटमिन बी-12 जैसे पोषक तत्व पाए जाते हैं. दही में मौजूद बैक्टीरिया हमारे शरीर को स्वस्थ रखने में मददगार होता है. अगर आपको अपनी सेहत के साथ खूबसूरती भी चाहिए तो खाने में नियमित रूप एक कटोरी दही का सेवन करना शुरू कर दीजिए.

दही खाने से नहीं होती एसीडीटी
आज के समय में ज्यादातर लोगों को खाना खाने के बाद एसीडीटी की परेशानी होने लगती है. अगर आपको भी ऐसी कोई परेशानी है तो सोचिए नहीं तुरंत अपने खाने में दही का इस्तेमाल शामिल कर लीजिए. रोजाना दही का सेवन शरीर में पीएच का बैलेंस बनाए रखने में कारगर होता है. इसके अलावा पेट में खाने से पैदा हुई गर्मी को भी कम करने में बेहद लाभदायक होता है, नियमित रूप से दही खाने से आपको एसिडिटी की समस्या नहीं होगी. ये आपके खाने को पचाने में भी बहुत कारगर साबित होता है.

दही में कैल्शियम का भंडार
दही खाने में स्वादिस्ट तो होता ही है साथ ही इसमें प्रचूर मात्रा में कैल्शियम भी पाया जाता है. यह आपकी हड्डियों को मजबूती बनाता है. साथ ही, दांत और नाखूनों को भी मजबूत बनाता है. दही खाने से आपकी मांसपेशियों को सही ढंग से काम करने में मदद मिलती है. इसके अलावा हींग का छौंक लगाकर दही खाने से जोड़ों के दर्द में फायदा मिलता है. यह स्वादिष्ट होने के साथ-साथ पौष्टिक भी है. इसमें छिपा है खूबसूरती का खजाना गर्मियों के समय में दही का सेवन किसी वरदान से कम नहीं है. गर्मियों के मौसम में अक्सर शरीर पर तेज धूप पड़ने से त्वचा टैन हो जाती है. ऐसे में दही आपके लिए बेहद फायदेमंद साबित होता है. दही टैनिंग कम करने के लिए बेहतर विकल्प है. इतना ही नहीं, दही में बेसन मिलाकर लगाने से आपके उजड़े हुए चेहरे पर भी चमक आती है. दही की मलाई को मुंह के छालों पर दिन में दो-तीन बार लगाने से आपके छाले दूर हो जाते हैं.

दही खाते समय बरतें ये सावधानियां
दही सेहत के लिए बेहद लाभकारी होता है लेकिन इसका गलत तरीके से सेवन करना आपको बीमार भी कर सकता है. दही का प्रयोग हमेशा सुबह और दोपहर के समय ही करना ठीक माना जाता है. रात्रि से समय दही का सेवन करना सेहत के लिए हानिकार हो सकता है. सर्दी, जुखाम या गला खराब जैसी शिकायतें भी हो सकती हैं. ज्यादातर ऐसा तब होता है जब आप दही खाने के बाद खुले आसमान में नींद का आनंद लेते हैं. इसके अलावा सर्दियों के समय में दही का प्रयोग कम मात्रा में करना चाहिए. क्योंकि इसकी तासीर ठंडी होती है. गर्भवती महिलाओं को दही के सेवन से पहले डॉक्टरी सलाह जरूर लेनी चाहिए.

रस्सी कूदने के फायदे नुकसान , रस्सी कूदने का सही समय , रस्सी कूदने का सही तरीका , रस्सी कूदने के फायदे और नुकसान , रस्सी कूदने के नुकसान

पेट के लिए साइकिल चालने के लाभ , साइकिल चालने के लाभ , साइकिलिंग के फायदे , साइकिल चलाने के फायदे , साइकिलिंग के फायदे इन हिंदी , क्या साइकिल चलाने से पेट कम होता है