घाव सुखाने की अंग्रेजी दवा टेबलेट नाम, घाव सुखाने के घरेलू उपाय, घाव सुखाने की एंटीबायोटिक दवा Tablet, ऑपरेशन के टांके सुखाने की दवा, घाव सुखाने की टेबलेट का नाम, घाव सुखाने की एंटीबायोटिक दवा का नाम, घाव सुखाने की क्रीम, जख्म सुखाने की अंग्रेजी दवा, घाव जल्दी भरने के लिए क्या खाये, Jakham Sukhane Ki Tablet, कटे हुए घाव पर क्या लगाना चाहिए, Ghav Sukhane Ki Dava, Ghav Sukhane Ki Tablet, घाव सुखाने की दवा, घाव सुखाने की आयुर्वेदिक दवा, जख्म सुखाने की दवा, घाव भरने की दवा, Ghav Sukhane Ke Upay, Ghaw Ka Dawa, Ghav Sukhane Ke Liye Antibiotic, Ghaw Sukhne Ki Medicine

घाव की दवा, Ghav Sukhane Ki Dava

जब बॉडी पर कोई घाव होता है तो शरीर उसे तुरंत ही ठीक करने की प्रक्रिया मे लग जाता है. रोजमर्रा के जीवन में छोटी-मोटी चोट किसी को भी लग सकती है. यदि आपकी स्किन कट या छिल गई है, तो उस घाव को यूं ही खुला न छोड़ कर उस पर मरहम लगाना चाहिए। आइए जानते हैं कुछ ऐसे नुस्खे जिनका उपयोग करके आप छोटे-मोटे घावों को जल्दी से ठीक किया जा सकता है.

घाव सुखाने के घरेलू उपाय

1-हल्दी और गौमूत्र : हल्दी का प्रयोग घाव भरने में बहुत असरदार साबित होता है. हल्दी में एंटीसेप्टिक गुण होने के कारण इन्फेक्शन और साइड इफ़ेक्ट से बचने में मदद मिलती है. गोमूत्र का प्रयोग घाव को साफ़ करने के लिए करे। ऐसा करने से घाव जल्द भर जाता है और दर्द में भी आराम मिलता है ऐसा करने के बाद हल्दी का लेप लगाये.
2- एलोवेरा : ज़ख़्म गहरा न हो तो एलो वेरा जेल का प्रयोग कीजिए. इससे घाव की सूजन कम हो जाती है, साथ ही ज़ख़्म को ज़रूरी नमी मिल जाती है. गहरे और खुली चोटों पर ऐलो वेरा का प्रयोग नहीं करना चाहिए. ऐलोवेरा से एलर्जी होने की संभावना बहुत ही कम है, लेकिन यदि त्वचा का रंग लाल हो जाए तो डॉक्टर से मिलें. कटे छिले पर ऐलो वेरा का रस बहुत फ़ायदेमंद है.
3- लहसुन :बहुत समय से लहसुन का इस्तेमाल जख्म भरने के लिए किया जाता है, लहसुन खून को रोकने, दर्द को कम करने में मदद करता है, और साथ ही ये आपके शरीर की प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में भी आपकी मदद करता है, इसके इतेमाल के लिए लहसुन का पेस्ट बनाकर उसे सीधा ही घाव पर लगाएं, और फिर उसके ऊपर से पट्टी को बांध दें, उसके 20 मिनट बाद पट्टी को उतार कर उस स्थान को अच्छे से धो लें, दिन में दो बार इस उपचार को करने से आपको जल्द ही जख्म को भरने में मदद मिलती है.
4- शहद :शहद बहुत ही गुणकारी औषधि है जिसका उपयोग पुराने समय से ही बहुत से रोगों में किया जाता है. शहद में एंटी बेक्टरीअल तत्व होते है जो घाव को बेक्टेरिया से बचाने में मदद करते है. यदि घाव हल्का हो तो उसे साफ़ करने के बाद शहद लगाकर उसपर पट्टी बांध दे ऐसा करने से घाव सूखने में कम वक्त लगता है. स्किन की सूजन दूर करने में भी शहद बहुत कारगर है शहद लगाने से सूजन से राहत मिलती है.
5- नीम :नीम का इस्तेमाल एक आयुर्वेदिक औषधि की तरह किया जाता है, नीम में एंटी बैक्टेरियल गुणों के साथ ऐसे फैटी एसिड भी पाएं जाते है जो आपके घाव को भरने में आपकी मदद करते है, और आप इसे घाव को सुखाने की दवा के रूप में भी इस्तेमाल कर सकते है, इसके लिए एक चम्मच नीम के पत्तो के रस में हल्दी को मिलाकर एक पेस्ट को तैयार करें, और घाव पर लगाएं, अब इस घाव को ऐसे ही कुछ घंटो के लिए छोड़ दे, और थोड़ी देर बाद हलके गरम पानी से धो लें, इस उपाय को तब तक करें जब तक की घाव अच्छे से ठीक न हो जाएँ.
6- सिरका – सिरका भले ही कटी त्वचा पर लगाने से जलता है, लेकिन यह घाव को भरने में बिल्कुल भी समय नहीं लेता. इसकी एक बूंद रूई पर डाल कर घाव पर लगाइए। घाव जल्दी ठीक हो जाएगा.
7- चीनी – चीनी घाव से रिस रहे पानी को जल्दी से सोख लेती है और इंफेक्शन को दूर रखती है.
8- टी बैग – यदि घाव में से खून बह रहा हो तो उस पर टी बैग लगा लें। इससे घाव जल्दी भर जाएगा.
9- घाव भरने के घरेलू उपाय में नारियल तेल का उपयोग – नारियल का तेल प्रभावी रूप से अपनी अद्भुत जीवाणुरोधी, जलन विरोधी, मॉइस्चराइजिंग और उपचार गुणों के कारण घावों को ठीक कर सकता है. यह कई अध्ययनों से सिद्ध हुआ है. नारियल का तेल संक्रमण को भी दूर रख सकता है और घाव का निशान भी मिटा सकता है।घायल क्षेत्र पर अतिशुद्ध नारियल के तेल को लगाएं. नमी को रोकने के लिए उस पर एक पट्टी लगाएं। दिन में 2 या 3 बार नारियल के तेल को पुन: लगाएं और पट्टी बदल दें। निशान को रोकने के लिए कई दिनों तक इस उपाय का पालन करें.

आयुर्वेदिक डाइट – घाव जल्दी भरने के लिए क्या खाएं?

1- मिल्क प्रोडक्ट भी है काम का -यदि आप अपनी डाइट में डेयरी प्रोडक्ट जैसे मिल्क और पनीर को एड करते हैं तो चोट के घावों को जल्दी ठीक होने में मदद मिलती है. दरअसल मिल्क प्रोडक्ट में प्रोटीन और जिंक की मात्रा अच्छी होती है जो घाव भरने में असरदार भूमिका निभाते हैं.
2- स्वीट पटैटो में है एंटीऑक्सीडेंट्स – शकरकंद में विटामिन ए, विटामिन बी और विटामिन सी की अच्छी मात्रा होने के साथ ही एंटीऑक्सीडेंट्स प्रोपर्टीज भी होती है। इस संबंध में हुई एक रिसर्च से सामने आया कि शकरकंद के एंटीऑक्सीडेंट घाव को तेजी से भरने में असरदार होते हैं.
3- विटामिन सी – शरीर की बहुत-सी क्रियाओं के संचालन के लिए विटामिन सी महत्वपूर्ण होता है। इसके अलावा यह टिश्यूज का निर्माण कर घाव को भरने में भी असरदार होता है. साथ ही शरीर की रोग-प्रतिरोधक क्षमता को भी बढ़ाता है. इसलिए अपनी डाइट में विटामिन सी वाले फूड जैसे आंवला, अमरूद, नींबू, ऑरेंज, स्ट्रोबेरी, पाइनऐपल, किवी, ब्रोकली, फूलगोभी, टमाटर, पालक, पत्तागोभी आदि को शामिल करें। इससे बीमारों से लडऩे की ताकत मिलेगी.
4- जरूरी है तरल पदार्थ – घाव को भरने में तरल पदार्थ भी महत्वपूर्ण होते हैं। लेकिन तरल पदार्थ से मतलब यह नहीं है कि आप कॉफी, एल्कोहल या कार्बोनेटेड ड्रिंक्स का सेवन करना शुरू कर दें बल्कि आपको पानी, फलों का जूस और हेल्दी सूप का सेवन ज्यादा करना चाहिए. इस तरह तरल पदार्थो के अवशोषण से घाव जल्दी भरते हैं.

Ghav Sukhane Ki Tablet

घाव सुखाने की अंग्रेजी दवा टेबलेट नाम
1- मोनोसेफ-ओ 200 टैबलेट Monocef-O 200 Tablet – यह फेफड़ों के इन्फेक्शन्स में असरदार है (जैसे. न्यूमोनिया), यूरिनरी ट्रैक्ट, कान, नेज़ल साइनस, गले और त्वचा. यह बैक्टीरिया को मारता है, जिसमें आपके लक्षणों को बेहतर बनाने में और इंफेक्शन के इलाज में मदद मिलती है.
MRP₹154.75, 1 स्ट्रिप में 10 टेबलेट्स
निर्माता -एरिस्टो फार्मास्युटिकल्स प्राइवेट लिमिटेड
दवा के घटक -सैफ्पोडोक्साइम प्रोक्सेटिल (200मि.ग्रा)
स्टोरेज के निर्देश – रूम टेम्परेचर पर स्टोर करें (10-30°C)
2- फ्लैम पी 100mg/500mg टैबलेट Flam P 100mg/500mg- दर्द और सूजन को कम करने के लिए किया जाता है. इसका इस्तेमाल मांसपेशियों में दर्द, पीठ दर्द, दांत दर्द या कान और गले में दर्द से राहत देने के लिए भी किया जा सकता है.
MRP₹30, 1 स्ट्रिप में 10 टेबलेट्स
निर्माता -केम बायोटेक हेल्थकेयर
दवा के घटक -एसेक्लोफेनाक (100मि.ग्रा) + पैरासिटामोल (500मि.ग्रा)
स्टोरेज के निर्देश -रूम टेम्परेचर पर स्टोर करें (10-30°C)
3- बैक्टोगार्ड 200mg टैबलेट Bactogard 200mg Tablet-इन्फेक्शन्स में असरदार है (जैसे. न्यूमोनिया), यूरिनरी ट्रैक्ट, कान, नेज़ल साइनस, गले और त्वचा. यह बैक्टीरिया को मारता है, जिसमें आपके लक्षणों को बेहतर बनाने में और इंफेक्शन के इलाज में मदद मिलती है.
MRP₹152.3, 1 स्ट्रिप में 10 टेबलेट्स
निर्माता -इंडोको रेमेडीज़ लिमिटेड
दवा के घटक -सैफ्पोडोक्साइम प्रोक्सेटिल (200मि.ग्रा)
स्टोरेज के निर्देश -रूम टेम्परेचर पर स्टोर करें (10-30°C)
4- गड्सैफ 200 टैबलेट Gudcef 200 Tablet-इन्फेक्शन्स में असरदार है (जैसे. न्यूमोनिया), यूरिनरी ट्रैक्ट, कान, नेज़ल साइनस, गले और त्वचा. यह बैक्टीरिया को मारता है, जिसमें आपके लक्षणों को बेहतर बनाने में और इंफेक्शन के इलाज में मदद मिलती है.
MRP₹145.2, 1 स्ट्रिप में 10 टेबलेट्स
निर्माता -मैनकाइंड फार्मा लिमिटेड
दवा के घटक -सैफ्पोडोक्साइम प्रोक्सेटिल (200मि.ग्रा)
स्टोरेज के निर्देश -रूम टेम्परेचर पर स्टोर करें (10-30°C)

घाव सुखाने की एंटीबायोटिक दवा

घाव सुखाने की एंटीबायोटिक दवा का नाम, Ghav Sukhane Ki Antibiotic Dava Ka Naam
बीटाडीन Betadine मरहम एक एंटीसेप्टिक और कीटाणुनाशक एजेंट है। इसका उपयोग घाव और कटौती में संक्रमण की रोकथाम के लिए किया जाता है। यह हानिकारक रोगाणुओं को मारता है और उनकी वृद्धि को नियंत्रित करता है, जिससे प्रभावित क्षेत्र पर संक्रमण को रोका जा सकता है.
बीटाडीन Betadine  मरहम केवल बाहरी उपयोग के लिए है. आपको हमेशा इसका उपयोग ठीक उसी तरह करना चाहिए जैसा आपके डॉक्टर ने आपको बताया है. प्रभावित क्षेत्र को आवेदन से पहले साफ और सूखा होना चाहिए। इस दवा को लगाने से पहले और बाद में आपको अपने हाथों को अच्छी तरह से धोना चाहिए। इस दवा का उपयोग नियमित रूप से किया जाना चाहिए ताकि इसका सबसे अधिक लाभ मिल सके। जरूरत से ज्यादा इस्तेमाल न करें क्योंकि इससे आपकी स्थिति तेजी से साफ नहीं होगी और कुछ दुष्प्रभाव बढ़ सकते हैं. यदि आपकी स्थिति चार सप्ताह से अधिक समय तक चलती है या किसी भी समय खराब हो जाती है, तो अपने डॉक्टर को बताएं। आप प्रभावित क्षेत्रों को साफ रखकर इस दवा को बेहतर काम करने में मदद कर सकते हैं, जिससे यह सुनिश्चित हो सकता है कि वे संक्रमण का इलाज करने से पहले और बाद में सूख रहे हैं और अपने हाथ धो रहे हैं. MANUFACTURER – Win-Medicare Pvt Ltd
1- Betadine 10% Ointment Tube, MRP₹85, 15 gm in 1 Tube , Salt Composition – Povidone Iodine (10% w/v)
2- Betadine 10% Solution Drops , MRP₹104 , 100 ml in 1 Bottle , Salt Composition -Povidone Iodine (10% w/w)
3- Betadine 5% Ointment Tube, MRP₹61, 25 gm in 1 Tube , Salt Composition – Povidone Iodine (5% w/w)
4- Betadine Powder , MRP₹109.5 , 10 gm in 1 Bottle , Salt Composition – Povidone Iodine (5% w/w)

स्वास्थ्य से सम्बंधित आर्टिकल्स – 

  1. बीकासूल कैप्सूल खाने से क्या फायदे होते हैं, बिकासुल कैप्सूल के लाभ, Becosules Capsules Uses in Hindi, बेकासूल, बीकोस्यूल्स कैप्सूल
  2. शराब छुड़ाने की आयुर्वेदिक दवा , होम्योपैथी में शराब छुड़ाने की दवा, शराब छुड़ाने के लिए घरेलू नुस्खे , शराब छुड़ाने का मंत्र , शराब छुड़ाने के लिए योग
  3. कॉम्बिफ्लेम टेबलेट की जानकारी इन हिंदी, कॉम्बिफ्लेम टेबलेट किस काम आती है, Combiflam Tablet Uses in Hindi, Combiflam Syrup Uses in Hindi
  4. अनवांटेड किट खाने के कितने दिन बाद ब्लीडिंग होती है, अनवांटेड किट खाने की विधि Hindi, अनवांटेड किट ब्लीडिंग टाइम, अनवांटेड किट की कीमत
  5. गर्भाशय को मजबूत कैसे करे, कमजोर गर्भाशय के लक्षण, गर्भाशय मजबूत करने के उपाय, बच्चेदानी का इलाज, बच्चेदानी कमजोर है, गर्भाशय योग
  6. जिम करने के फायदे और नुकसान, जिम जाने से पहले क्या खाएं, जिम जाने के बाद क्या खाएं,  जिम जाने के फायदे, जिम जाने के नुकसान,  जिम से नुकसान
  7. माला डी क्या है, Mala D Tablet Uses in Hindi, माला डी कैसे काम करती है, Maladi Tablet, माला डी गोली कब लेनी चाहिए
  8. Unienzyme Tablet Uses in Hindi, Unienzyme गोली, यूनिएंजाइम की जानकारी, यूनिएंजाइम के लाभ, यूनिएंजाइम के फायदे,यूनिएंजाइम का उपयोग
  9. मानसिक डर का इलाज, फोबिया का उपचार, डर के लक्षण कारण इलाज दवा उपचार और परहेज, डर लगना, मानसिक डर का इलाज, मन में डर लगना
  10. हिंदी बीपी, उच्च रक्तचाप के लिए आहार, High Blood Pressure Diet in Hindi, हाई ब्लड प्रेशर में क्या नहीं खाना चाहिए, हाई ब्लड प्रेशर डाइट
  11. क्या थायराइड लाइलाज है, थ्रेड का इलाज, थायराइड क्‍या है, थायराइड के लक्षण कारण उपचार इलाज परहेज दवा,  थायराइड का आयुर्वेदिक
  12. मोटापा कम करने के लिए डाइट चार्ट, वजन घटाने के लिए डाइट चार्ट, बाबा रामदेव वेट लॉस डाइट चार्ट इन हिंदी, वेट लॉस डाइट चार्ट
  13. हाई ब्लड प्रेशर के लक्षण और उपचार, हाई ब्लड प्रेशर, बीपी हाई होने के कारण इन हिंदी, हाई ब्लड प्रेशर १६० ओवर ११०, बीपी हाई होने के लक्षण
  14. खाना खाने के बाद पेट में भारीपन, पेट में भारीपन के लक्षण, पतंजलि गैस की दवा, पेट का भारीपन कैसे दूर करे, पेट में भारीपन का कारण
  15. योग क्या है?, Yoga Kya Hai, योग के लाभ, योग के उद्देश्य, योग के प्रकार, योग का महत्व क्या है, योग का लक्ष्य क्या है, पेट कम करने के लिए योगासन, पेट की चर्बी कम करने के लिए बेस्‍ट योगासन

घाव सुखाने की अंग्रेजी दवा टेबलेट नाम, घाव सुखाने के घरेलू उपाय, घाव सुखाने की एंटीबायोटिक दवा Tablet, ऑपरेशन के टांके सुखाने की दवा, घाव सुखाने की टेबलेट का नाम, घाव सुखाने की एंटीबायोटिक दवा का नाम, घाव सुखाने की क्रीम, जख्म सुखाने की अंग्रेजी दवा, घाव जल्दी भरने के लिए क्या खाये, Jakham Sukhane Ki Tablet, कटे हुए घाव पर क्या लगाना चाहिए, Ghav Sukhane Ki Dava, Ghav Sukhane Ki Tablet, घाव सुखाने की दवा, घाव सुखाने की आयुर्वेदिक दवा, जख्म सुखाने की दवा, घाव भरने की दवा, Ghav Sukhane Ke Upay, Ghaw Ka Dawa, Ghav Sukhane Ke Liye Antibiotic, Ghaw Sukhne Ki Medicine