बॉडी बिल्डिंग टिप्स इन हिंदी, बॉडी बनाने के लिए क्या खाना चाहिए, बॉडी बिल्डिंग आहार, बॉडी बनाने में कितना समय लगता है, बॉडी बनाने के लिए क्या करना चाहिए, Body Banane Me Kitna Time Lagega, Bodybuilding Tips in Hindi, बॉडी बनाने के लिए क्या करना पड़ेगा, Body Tips in Hindi, बॉडी बनाने के टिप्स, Body Banane Me Kitna Time Lagta Hai, Bodybuilding Tips for Men in Hindi Jim Tips

बॉडी बिल्डिंग टिप्स इन हिंदी, बॉडी बनाने के लिए क्या खाना चाहिए
एक फिट बॉडी हर किसी का ड्रीम है लेकिन हमारे बिजी शेडूल के कारण टाइम ही नहीं निकल पाता. बॉडी बनाने के लिए ज़रूरी नहीं है कि घंटों जिम में कसरत की जाए या स्टेरॉइड्स का सहारा लिया जाए. दरअसल बॉडी और मसल्स बनाना मुख्य रूप से सही तकनीक पर निर्भर करता है। इसके साथ ही बहुत ज़रूरी होता है कि आप सही आहार लें, और कुछ अन्य आवश्यक बातों का ध्यान रखें.

एक अच्‍छी बॉडी बनाने के लिए उस पर किया जाने वाला वर्कआउट सबसे ज्‍यादा काम आता है और सही टेक्‍नीक. आप जब भी बॉडी बनाएं तो रातों – रात होने वाले चमत्‍कार के बारे में न सोचें. इसमें टाइम लगता है, इसके लिए आपको लगातार प्रयास करना होता है और फोकस करना होता है. इसके लिए आपको  काफी मेहनत करनी पड़ेगी और उसके बाद ही कोई फर्क नजर आएगा.

डॉक्‍टरी परीक्षण करवाएं :   सबसे पहले डॉक्‍टर से मिलें. अपनी बॉडी की जांच करवाएं. बॉडी की जरूरत समझें और उसकी मेडीकल कंडीशन को जानें. किसी भी एक्‍सरसाइज को करने से पहले डॉक्‍टर से सलाह लें.

अच्‍छे जिम को सेलेक्‍ट करें: अपनी बॉडी को बनाने की लिए एक अच्‍छे जिम को सेलेक्‍ट करें, जहां आप ट्रेनर के अंडर में एक्‍सरसाइज कर सकते है. जिम का माहौल, वातावरण और लोकेशन अच्‍छी होनी चाहिए.

शुरुआत आराम से करें –  आप जिम में पहले ही दिन भारी वर्कआउट करके अच्छी बॉडी बनाने की सोचते हैं तो इसे भूल जाइए. आपको जिम के पहले कुछ हफ्तों तक हल्का-फुल्का वर्कआउट करना होगा. अगर आप पहले ही दिन हेवी-वेट एक्सरसाइज करने की सोच रहें हैं तो भूल जाइए क्योंकि ऐसा करने आप चोटिल भी हो सकते हैं.

अपनी मांसपेशियों को मजबूत बनाएं : भारी वजन को उठाने से पहले अपनी मांसपेशियों को मजबूत बनाएं। अपनी मांसपेशियों को चोट लगने से बचाएं. एक बार मांसपेशियां स्‍ट्रांग हो जाती है तो उसके बाद दर्द नहीं होता है और आप आराम से एक्‍सरसाइज कर सकते है.

ट्रेनिंग पार्टनर बनाएं, इससे बेहतर रिजल्‍ट मिलेगा : हां, दोस्‍तों, यह वाकई में सच बात है कि अगर आप जिम में कोई ट्रेनिंग पार्टनर बनाते है तो आपको अपनी बॉडी को बनाने में आराम मिलती है. आप उसके साथ खुद को कम्‍पेयर कर सकते है.

अपनी बॉडी के चेंजेस को जानें – अगर आप बॉडी बनाने की शुरूआत कर रहे है तो अपनी बॉडी में होने वाले छोटे से छोटे परिवर्तन को ध्‍यान में रखें. इससे आपको उसे आगे इम्‍प्रुव करने में आराम मिलेगा. अगर लगता है कि आपके शरीर को आराम चाहिए तो एक दिन रेस्‍ट लें लेकिन इसे रोज आराम न करने दें, वर्कआउट करना बहुत जरूरी है.

स्‍ट्रेचिंग जरूरी होती है : वर्कआउट सेशन में स्‍ट्रेचिंग जरूर करें। इससे मांसपेशियां मजबूत होती है और उनमें सूजन भी नहीं आती है। इसके अलावा, इससे बॉडी में लचीलापन भी आता है.

अच्‍छे से सांस लें : एक्‍सरसाइज के दौरान सही समय पर सांस लेना सबसे महत्‍वपूर्ण होता है. सांस को सही तरीके से लेने पर एक्‍सरसाइज में काफी लाभ मिलता है.

अच्‍छी नींद लें :एक्‍सरसाइज के साथ – साथ यह भी बेहद जरूरी होता है कि अच्‍छी और भरपूर नींद लें। सात से आठ घंटे सोना बहुत जरूरी होता है.

भरपूर पानी पिएं : वर्कआउट सेशन में भरपूर पानी पिएं। इससे आपकी बॉडी हाइड्रेट नहीं होगी और थकान भी दूर भागेगी.

संतुलित भोजन खाएं : एक्‍सरसाइज करने के बाद संतुलित भोजन अवश्‍य खाएं. इससे बॉडी में पोषक तत्‍व पूरी तरह से मिलेगे. शरीर में प्रोटीन की मात्रा काफी अच्‍छी होगी.

हमेशा वार्मअप करें : किसी भी लिफ्ट करे करने से पहले बॉडी को वार्मअप कर लें. इससे बॉडी पर अचानक से ज्‍यादा प्रेशर नहीं आएगा। वॉर्मअप करने से बॉडी में लचीलापन आता है.

सही लक्ष्‍य बनाएं : बॉडी बनाने के लिए ऐसे लक्ष्‍य बनाएं जो वाकई में पॉसीबल हों और उन्‍हे सही में करके दिखाया जा सकता है। यह कोई एक दिन या सप्‍ताह भर की बात नहीं है, सालों में आपकी बॉडी एक सही शेप में आ पाती है और उसे हमेशा मेंटेन भी करना होता है.

हर दिन अलग – अलग एक्‍सरसाइज करने के बारे में सोंच , हर दिन एक ही तरीके की एक्‍सरसाइज न करें। हर दिन कुछ नया ट्राई करें। इससे आपको अपनी बॉडी को हर तरीके से मजबूत बनाने में आसानी होगी.

बॉडी बनाने के लिए टाइम बनाएं : प्‍लान कर लें कि आपको इतने से इतने टाइम में अपनी बॉडी को ऐसा बनाना है, इससे आप अपने लक्ष्‍य को पाने के लिए हर दिन मेहनत करे.

फ्री वेट का यूज करें : जब भी लिफ्ट करें या डम्‍बल पर हों, तो फ्री वेट का यूज करें। इससे आपकी बॉडी में और ज्‍यादा मजबूती आएगी.

यौगिक अथ्‍यास का प्रयास करें : कुछ यौगिक अभ्‍यास जैसे – स्‍कवैटस, डेड लिफ्ट, बेंच प्रेस, मिलिट्री प्रेस और डम्‍बल रो आदि को करें। इससे मांसपेशियों के फाइबर मजबूत होते है.

कई वजन उठाएं और कई बार उठाएं हर दिन वजन थोड़ा – थोड़ा बढाएं और बॉडी को इसकी आदत होने दें.

अपने पॉश्‍चर पर ध्‍यान दें : जिम के साथ – साथ अपनी बॉडी के पॉश्‍चर पर भी ध्‍यान दें। जानें कि एक्‍सरसाइज करने के बाद से बॉडी में कितना फर्क आ गया है.

अपनी चोटों का ध्‍यान रखें : अगर आपको कहीं चोट लगी है तो उसे इग्‍नोर न करें। उस पर ध्‍यान दें, दवा लगाएं और खाएं। और अगर आराम की जरूरत है तो आराम करें.

बॉडी बिल्डिंग टिप्स इन हिंदी, बॉडी बनाने के लिए क्या खाना चाहिए, बॉडी बिल्डिंग आहार, बॉडी बनाने में कितना समय लगता है, बॉडी बनाने के लिए क्या करना चाहिए, Body Banane Me Kitna Time Lagega, Bodybuilding Tips in Hindi, बॉडी बनाने के लिए क्या करना पड़ेगा, Body Tips in Hindi, बॉडी बनाने के टिप्स, Body Banane Me Kitna Time Lagta Hai, Bodybuilding Tips for Men in Hindi Jim Tips

स्वास्थ्य से सम्बंधित आर्टिकल्स – 

  1. बीकासूल कैप्सूल खाने से क्या फायदे होते हैं, बिकासुल कैप्सूल के लाभ, Becosules Capsules Uses in Hindi, बेकासूल, बीकोस्यूल्स कैप्सूल
  2. शराब छुड़ाने की आयुर्वेदिक दवा , होम्योपैथी में शराब छुड़ाने की दवा, शराब छुड़ाने के लिए घरेलू नुस्खे , शराब छुड़ाने का मंत्र , शराब छुड़ाने के लिए योग
  3. कॉम्बिफ्लेम टेबलेट की जानकारी इन हिंदी, कॉम्बिफ्लेम टेबलेट किस काम आती है, Combiflam Tablet Uses in Hindi, Combiflam Syrup Uses in Hindi
  4. अनवांटेड किट खाने के कितने दिन बाद ब्लीडिंग होती है, अनवांटेड किट खाने की विधि Hindi, अनवांटेड किट ब्लीडिंग टाइम, अनवांटेड किट की कीमत
  5. गर्भाशय को मजबूत कैसे करे, कमजोर गर्भाशय के लक्षण, गर्भाशय मजबूत करने के उपाय, बच्चेदानी का इलाज, बच्चेदानी कमजोर है, गर्भाशय योग
  6. जिम करने के फायदे और नुकसान, जिम जाने से पहले क्या खाएं, जिम जाने के बाद क्या खाएं,  जिम जाने के फायदे, जिम जाने के नुकसान,  जिम से नुकसान
  7. माला डी क्या है, Mala D Tablet Uses in Hindi, माला डी कैसे काम करती है, Maladi Tablet, माला डी गोली कब लेनी चाहिए
  8. Unienzyme Tablet Uses in Hindi, Unienzyme गोली, यूनिएंजाइम की जानकारी, यूनिएंजाइम के लाभ, यूनिएंजाइम के फायदे,यूनिएंजाइम का उपयोग
  9. मानसिक डर का इलाज, फोबिया का उपचार, डर के लक्षण कारण इलाज दवा उपचार और परहेज, डर लगना, मानसिक डर का इलाज, मन में डर लगना
  10. हिंदी बीपी, उच्च रक्तचाप के लिए आहार, High Blood Pressure Diet in Hindi, हाई ब्लड प्रेशर में क्या नहीं खाना चाहिए, हाई ब्लड प्रेशर डाइट
  11. क्या थायराइड लाइलाज है, थ्रेड का इलाज, थायराइड क्‍या है, थायराइड के लक्षण कारण उपचार इलाज परहेज दवा,  थायराइड का आयुर्वेदिक
  12. मोटापा कम करने के लिए डाइट चार्ट, वजन घटाने के लिए डाइट चार्ट, बाबा रामदेव वेट लॉस डाइट चार्ट इन हिंदी, वेट लॉस डाइट चार्ट
  13. हाई ब्लड प्रेशर के लक्षण और उपचार, हाई ब्लड प्रेशर, बीपी हाई होने के कारण इन हिंदी, हाई ब्लड प्रेशर १६० ओवर ११०, बीपी हाई होने के लक्षण
  14. खाना खाने के बाद पेट में भारीपन, पेट में भारीपन के लक्षण, पतंजलि गैस की दवा, पेट का भारीपन कैसे दूर करे, पेट में भारीपन का कारण
  15. योग क्या है?, Yoga Kya Hai, योग के लाभ, योग के उद्देश्य, योग के प्रकार, योग का महत्व क्या है, योग का लक्ष्य क्या है, पेट कम करने के लिए योगासन, पेट की चर्बी कम करने के लिए बेस्‍ट योगासन