विजय माल्या, विजय माल्या की जीवनी, विजय माल्या का कर्ज, विजय माल्या का इतिहास, विजय माल्या की उम्र, विजय माल्या का घर, Vijay Mallya, Vijay Mallya Biography In Hindi, Vijay Mallya Debt, Vijay Mallya History, Vijay Mallya Age, Vijay Mallya Home

विजय माल्या की जीवनी, Biography of Vijay Mallya
भारत के महान उद्दोगपतियों की लिस्ट में एक नाम विजय माल्या का भी शामिल था, जोकि व्यवसायी होने के साथ-साथ एक राजनेता भी थे और साथ ही यू बी ग्रुप के अध्यक्ष हैं जिसका कारोबार शराब, उड्डयन, उर्वरक और रियल एस्टेट जैसे क्षेत्रों में फैला हुआ है. लेकिन अब ऐसा नहीं है दरअसल, उन्होंने अपनी एयरलाइंस के नाम पर सरकारी बैंकों से कई हजार करोड़ रुपए का लोन लिया था, लेकिन इसे अभी तक नहीं चुकाया है, जिसके चलते उन्हें भारत की सरकारी बैंकें और पुलिस ढूंढ रही हैं, इसलिए अब उनकी भारत में साख भी पहले की तरह नहीं रह गई थी. आपको बता दें कि विजय माल्या, भारत के नामी उद्योगपति विट्टल माल्या के बेटे हैं और वे संयुक्त ब्रुअरिस समूह और किंगफिशर एयरलाइन्स के अध्यक्ष रह चुके हैं. इसके अलावा वे प्रसिद्ध शराब कंपनी यूनाइटेड स्पिरिट लिमिटेड के भी पूर्व चेयरमैन रह चुके हैं.

नाम – विजय विट्ठल माल्या
उपनाम – The King of Good Times
जन्म – 18 दिसंबर 1955
आयु – 66 वर्ष (2021 के अनुसार)
जन्म स्थान – कोलकाता, पश्चिम बंगाल, भारत
राष्ट्रीयता – भारतीय
स्कूल – ला मार्टिनियर कलकत्ता (एलएमसी), कोलकाता, पश्चिम बंगाल
महाविद्यालय – सेंट जेवियर्स कॉलेज, कोलकाता, पश्चिम बंगाल
शैक्षिक योग्यता – वाणिज्य स्नातक (ऑनर्स)
व्यवसाय – व्यवसायी, राजनीतिज्ञ
शौक – एफ 1 कार रेस देखना, घोड़े पालना, पुराने संगीत सुनना

पसंदीदा चीजें, Favorite things
पसंदीदा भोजन – Kane Rava, (Kane fish in rava batter), kori gassi, Appams, Sannas, Mishti Doi, Crabs
पसंदीदा कार – बेंटले
पसंदीदा वाइन – फेरारी कारानो
पसंदीदा फैशन ब्रांड – अरमानी, वैलेंटिनो, मनोवि राज खोसला, रॉबर्टो कवाली
पसंदीदा रंग – लाल

विजय माल्या का जन्म, शिक्षा एवं प्रारंभिक जीवन, Birth, education and early life of Vijay Mallya
विजय माल्या 18 दिसंबर, साल 1955 में पश्चिम बंगाल के कोलकाता शहर में भारत के महान उद्योगपति विट्टल माल्या के घर जन्में थे. उनके पिता उस दौरान यूनाइटेड ब्रेवेरी ग्रुप के चेयरमैन थे, और उनकी मां का नाम ललिता रमैया था. विजय माल्या की शुरुआती पढ़ाई-लिखाई कोलकाता के ला मार्टिनियर स्कूल से हुई इसके बाद उन्होंनें सेंट जेवियर कॉलेज से कॉमर्स हॉनर्स से अपनी ग्रेजुएशन की पढ़ाई पूरी की. अपने कॉलेज के दौरान विजय माल्या ने अपनी खानदानी कंपनियों में इंटर्न के तौर पर काम किया था. लेकिन बाद में वे यूएसए चले गए थे.

विजय माल्या का निजी जीवन, Vijay Mallya’s personal life
विजय माल्या की साल 1986 में मुलाकात एयर इंडिया की एयर होस्टेस समीरा तैयबजी से हुई, जिसके बाद उन्होंने उससे शादी कर ली और शादी के बाद दोनों को एक बेटा हुआ, जिसका नाम सिद्धार्थ माल्या है. हालांकि यह शादी ज्यादा दिन नहीं चल सकी और दोनों का तलाक हो गया. इसके बाद विजय माल्या ने साल 1993 में अपने बचपन की दोस्त रेखा से शादी कर ली. दूसरी शादी से माल्या को दो बेटियां तनया माल्या और लेंना माल्या हैं.

विजय माल्या का करियर, Career of Vijay Mallya
वर्ष 1973 में अपने पिता की अकस्मात् मृत्यु के बाद विजय मात्र 28 साल के उम्र में UB ग्रुप के अध्यक्ष बन गए. तब से लेकर अब तक UB ग्रुप एक बहुराष्ट्रीय समूह की तरह उभरा है जिसके अंतर्गत लगभग 60 कंपनियां हैं. 1973 से लेकर 1999 तक ग्रुप का टर्नओवर लगभग 64 प्रतिशत बढ़ा. विजय ने समूह के तमाम कंपनियों को मजबूत बनाया और घाटे में चल रही कंपनियों को या तो बेच दिया या बंद कर दिया. उन्होंने अपना पूरा ध्यान ग्रुप के मुख्य व्यवसाय शराब पर लगाया. उन्होंने अपने मुख्य धंधे को न सिर्फ कंसोलिडेट किया बल्कि कई कंपनियों का अधिग्रहण कर अपने व्यवसाय को और डाइवर्सिफाई किया. उन्होंने अलग-अलग क्षेत्रों के कई कंपनियों का अधिग्रहण किया. इनमें प्रमुख हैं बर्जर पेंट, बेस्ट, क्रॉम्पटन, मालाबार कैमिकल्स एंड फर्टिलाइज़र्स. उन्होंने मीडिया क्षेत्र में भी कुछ अधिग्रहण किये जिनमे प्रमुख हैं द एशियाई एज और सिने ब्लिट्ज.

UB ग्रुप की मुख्य कंपनी यूनाइटेड स्पिरिट्स लिमिटेड विजय माल्या के नेतृत्व में दुनिया की दूसरी सबसे बड़ी शराब बेचने वाली कंपनी बन गयी. वर्ष 2012 में UB ग्रुप को यूनाइटेड स्पिरिट्स का प्रबंध नियंत्रण ब्रिटेन की दिग्गज शराब कंपनी डियाजिओ को देना पड़ा. वर्ष 2005 में विजय माल्या ने किंगफ़िशर एयरलाइन्स की शुरुआत की. यह भारत में पहली एयरलाइन थी जिसने सभी नए विमानों के साथ काम शुरू किया. इसके साथ-साथ, किंगफिशर एयरलाइंस, एयरबस ए 380 खरीदने वाली भारत की पहली एयरलाइन बन गयी. आर्थिक कुप्रबंधन के कारण कंपनी कई सालों तक जबरदस्त घाटे में रही और फिर दिवालिया हो गयी जिसके कारण वर्ष 2013 में इसे बंद करना पड़ा.

माल्या को निजी तौर पर खेल-कूद में बहुत दिलचस्पी है. मोटरस्पोर्ट से उनका ख़ास लगाव है. 1970 और 1980 के दशक में तो उन्होंने कई ट्रैक रेसिंग प्रतियोगितायों में हिस्सा भी लिया. वे शोलावरम ग्रां प्री (1980/1981) और कोलकाता ग्रां प्री (1979) के विजेता भी रहे. इसके अलावा उन्होंने यूरोप के कई क्लासिक रैलियों में भी हिस्सा लिया. रेसिंग के अपने इसी शौक के चलते उन्होंने स्पाइकर 1 F1 टीम खरीदा और इसका नाम बदल कर फ़ोर्स इंडिया F1 रख दिया. वर्तमान में इस टीम के दो मालिक हैं – एक खुद विजय माल्या और दुसरे सहारा ग्रुप के सुब्रत रॉय. उनको घोड़े पालने और घुड़दौड़ का भी शौक है.

माल्या अपने राज्य कर्नाटक से राज्य सभा के सांसद भी हैं और संसद के कई महत्वपूर्ण समितियों के सदस्य भी रह चुके हैं. विजय माल्या को उनके व्यवसाय, राजनीती और खेलों से लगाव के अलावा एक और शौक के लिए जाना जाता है – ऐतिहासिक महत्व की वस्तुवों को वापस देश में लाना. वो टीपू सुल्तान और महात्मा गांधी के जीवन से जुडी हुई ऐतिहासिक महत्व की चीज़ों को नीलामी में खरीद कर वापस भारत लाने में सफल रहे हैं. इन वस्तुओं में प्रमुख है टीपू सुल्तान की तलवार जिसे उन्होंने लंदन में एक नीलामी में £ 175,000 में खरीदा.

माल्या का UB ग्रुप कई सारे प्रतियोगिताएं और टीमों को भी प्रायोजित करता है. उनमें मुख्य इस प्रकार हैं-
1- सिग्नेचर गोल्फ टूर्नामेंट (गोल्फ टूर्नामेंट )
2- मोहन बागान AC (I-League टीम)
3- किंगफ़िशर डर्बी टीम (हॉर्स रेसिंग)
4- ईस्ट बंगाल क्लब (I-League टीम)
5- रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर (आई पी एल टीम)
6- फ़ोर्स इंडिया (फार्मूला वन कार रेसिंग टीम)
7- मक्डॉवेल इंडियन (हॉर्स रेसिंग)

विजय माल्या का राजनीतिक करियर, Vijay Mallya’s political career
1- वर्ष 2000 में, अखिल भारतीय जनता दल के सदस्य बने.
2- वर्ष 2002 में, अपने गृह राज्य कर्नाटक के एक स्वतंत्र सदस्य के रूप में राज्यसभा के लिए चुने गए.
3- वर्ष 2003 में, सुब्रमण्यम स्वामी के नेतृत्व में जनता पार्टी में शामिल हुए.
4- वर्ष 2003-2010 से, जनता दल के राष्ट्रीय कार्यवाहक अध्यक्ष के रूप में कार्य किया.
5- वर्ष 2010 में दूसरे कार्यकाल के लिए राज्यसभा के लिए फिर से चुने गए. हालांकि, इस बार वह भाजपा के एक सदस्य के रूप में चुने गए.

विजय माल्या से जुड़े कुछ विवाद, Some controversy related to Vijay Mallya
1- जुलाई 2015 में, केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने आईडीबीआई बैंक की शिकायत के आधार पर लोन बकाया (NPA) मामले में केस दर्ज किया.
2- जनवरी में सीबीआई ने माल्या को धोखाधड़ी और आपराधिक षड्यंत्र के आरोप लगाए और आईडीबीआई के पूर्व प्रबंधकों और किंगफिशर एयरलाइंस के पूर्व अधिकारियों को न्यायिक हिरासत में लेने की मांग की. सीबीआई की अदालत ने माल्या के खिलाफ गैर-जमानती वारंट जारी किया है.
3- मार्च 2016 में, एसबीआई की अगुवाई वाले कंसोर्टियम ने माल्या के पासपोर्ट रद्द करने की सिफारिश की और मामले को डेब्ट रिकवरी ट्रिब्यूनल (डीआरटी) में स्थानांतरित करने के लिए भी कहा. हालांकि, विजय माल्या गिरफ्तारी से बचने के लिए पहले ही लंदन चले गए.
4- जीएमआर हैदराबाद इंटरनेशनल एयरपोर्ट लिमिटेड ने हवाई अड्डे की सुविधा का उपयोग करने के लिए फीस का भुगतान ना करने के लिए एयरलाइन के मालिक ने माल्या और पूर्व किंगफिशर एयरलाइंस के सीएफओ रघुनाथन के खिलाफ मामला दर्ज करवाया है. हैदराबाद की एक स्थानीय अदालत ने माल्या के खिलाफ पांच गैर-जमानती वारंट जारी किए.
5- जुलाई 2016 में, एक मुंबई मेट्रोपॉलिटन कोर्ट ने भारतीय हवाई अड्डा प्राधिकरण (एएआई) द्वारा दायर की गई चेक बाउंसिंग के मामले में माल्या के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी किया था. एएआई ने आरोप लगाया कि किंगफिशर एयरलाइंस द्वारा जारी किया गये 100 करोड़ रुपये के चेक को स्वीकृत नहीं किया जाएगा.
6- आयकर विभाग ने वर्ष 2013 में कर्नाटक हाईकोर्ट में तीन वित्त वर्ष 2009-12 से संबंधित किंगफिशर एयरलाइंस की ओर से 325 करोड़ रुपये की बकाया राशि की मांग की थी. विभाग ने आरोप लगाया है कि इन तीन वर्षों के दौरान कर्मचारियों से स्रोत (टीडीएस) में कटौती कर जमा नहीं कराया गया.

विजय माल्या के पुरस्कार, Vijay Mallya Awards
1- वर्ष 1997 में, प्रोफेशनल स्टडीज के लिए दक्षिणी कैलिफोर्निया विश्वविद्यालय द्वारा, बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन में डॉक्टरेट ऑफ फिलॉसफी की डिग्री प्राप्त की.
2- फ्रांस में उच्चतम नागरिक पुरस्कार से सम्मानित किया गया.
3- विश्व आर्थिक मंच द्वारा Global leader for tomorrow शीर्षक के साथ सम्मानित किया गया.
4- वर्ष 2010 में, द एशियन अवार्ड्स में Entrepreneur of the Year पुरस्कार से सम्मानित किया गया.

विजय माल्या की उपलब्धियाँ, Achievements of Vijay Mallya
1- माल्या अस्पताल की बंगलूर में स्थापना . अस्पताल, उनके पिता पर नामित, विट्ठल माल्या सड़क पर स्थित है.
2- बंगलौर के एक प्रतिष्ठित निजी स्कूल माल्या अदिति इंटरनेशनल स्कूल (Mallya Aditi International School), की आर्थिक मदद की.
3- एक नीलामी में टीपू सुलतान की तलवार का २००४ में लन्दन में सफलतापूर्वक बोली लगाया और इसे भारत वापस लाया.
4- बंगलूर के दिल में स्थित यूबी शहर (UB city), में पुरष्कृत अचल संपत्ति के विकास को प्रारम्भ किया. यह परियोजना कार्पोरेट कार्यालय, खुदरा और सेवा अपार्टमेट्स की मेजबानी करता है
5- जब मार्च 2009 में से सम्बन्धित वस्तुओं को माडिसन एवेन्यू में 594 नम्बर में अमेरिका के जेम्स ओटिस ने बापू के सामानों की नीलामी की तो विजय माल्या ने इसे भारत की प्रतिष्ठा से जोड़ते हुए बापू की सभी उपलब्ध वस्तुओं को 11 करोड़ में खरीदा. इसके पहले भी वो टीपू सुलतान की तलवार भारत ला चुके है.
6- 1997 में दक्षिणी कैलिफ़ोर्निया विश्वविद्यालय ने बिज़नस एडमिनिस्ट्रेशन ऑफ़ फिलोसोफी के लिये उन्हें डॉक्टरेट की उपाधि का सम्मान दिया गया.
7- फ्रांस का सबसे प्रसिद्ध अवार्ड Officer De La Legion D Honneur दिया गया.
8- वर्ल्ड इकनोमिक फोरम ने उन्हें कल का वैश्विक नेता बताया.
9- 2010 के द एशियाई अवार्ड्स में उन्हें साल का सर्वश्रेष्ट उद्योगपति का सम्मान दिया गया.

विजय माल्या से जुड़ी कुछ रोचक बातें, Some interesting things related to Vijay Mallya
1- विजय माल्या का जन्म एक महशूर शराब उद्योगपति के घर में हुआ. उनके पिता विट्ठल माल्या यूनाइटेड ब्रीवरीज लिमिटेड के पहले भारतीय प्रबंधक थे और बाद में विट्ठल कंपनी के अध्यक्ष बने और पूरे भारत में कई ब्रीवरीज और डिस्टलरीज का अधिग्रहण कर चुके थे.
2- कॉलेज में पढ़ाई करते हुए उन्होंने अपने परिवार के व्यवसायों में एक प्रशिक्षु के रूप में काम किया. इसके अलावा अपनी स्नातक की पढ़ाई पूरी करने के बाद उन्होंने संयुक्त राज्य अमेरिका में एक रसायन कंपनी होकस्ट एजी में काम किया.
3- वर्ष 1983 में, अपने पिता की मृत्यु के बाद, माल्या को यूनाइटेड ब्रीवरीज ग्रुप (यूबी ग्रुप) के अध्यक्ष के रूप में चुना गया. अपने पिता के नक्शेकदम पर चलते हुए, माल्या ने थोड़ी सी अवधि में 60 + कंपनियां अपने आधीन कर ली. उनके नियंत्रण में वर्ष 1998-1999 में संगठन का वार्षिक कारोबार 64% बढ़कर 11 अरब अमेरिकी डॉलर हो गया.
4- बिक्री के संदर्भ में, किंगफिशर बियर का भारत के बाजार में 50 % से अधिक हिस्सेदारी है. किंगफिशर की बियर दुनिया भर के 5o से अधिक देशों में उपलब्ध है.
5- माल्या ने यूनाइटेड स्पिरिट्स लिमिटेड (यूबी समूह की प्रमुख कंपनी) को 100 मिलियन से अधिक उत्पादों की बिक्री वाले समूह में शामिल करवा कर एक ऐतिहासिक रिकॉर्ड बनाया.
6- व्यापार का विस्तार करते हुऐ विजय माल्या ने वर्ष 2003 में किंगफिशर एयरलाइंसकी नींव रखी. शुरुआती वर्षो में ही यह एयरलाइंसदेश के सफल विमान कम्पनियो की सूची में शामिल हो गई, लेकिन वर्ष 2007 में किंगफिशर एयरलाइंस द्वारा एयर डेक्कन के अधिग्रहण करने और अंतरराष्ट्रीय विमान सेवाएं शुरू करने के साथ किंगफिशर एयरलाइंस का राजस्व घाटे में जाने लगा. यह विजय माल्या के करियर का सबसे गलत कदम साबित हुआ.
7- वर्ष 2009-10 तक, किंगफिशर एयरलाइंस के ऊपर 7,000 करोड़ रुपए से अधिक का कर्जा हो गया था. एयरलाइंस, जो शुरुआत में एक सफल विमान कम्पनी साबित हो रही थी वह बाद में एक NPA के रूप में बदल गई.
8- कई लोग नहीं जानते कि माल्या एक उच्च धार्मिक व्यक्ति हैं, और हर वर्ष शबरिमला तीर्थ यात्रा पर जाते है.
9- माल्या की कलाकृतियों और अद्वितीय चीजों में रूचि है. वर्ष 2004 में, उन्होंने लंदन में एक नीलामी में टिपू सुल्तान की तलवार 175,000 पौंड में खरीदी, और उसके 4 साल बाद, उन्होंने न्यूयॉर्क की नीलामी में लगभग 1.8 मिलियन अमेरिकी डॉलर में महात्मा गांधी का सामान ख़रीदा.
10- कारों और संपदाओं की एक किस्म के अलावा, माल्या के पास नौकाओं का एक शानदार संग्रह है. वास्तव में, वह The Indian Empress के मालिक हैं, जो दुनिया की सबसे बड़ी नौकाओं में से एक है. इसमें एक स्टीम रूम, मसाज सुविधाएं, एक सिनेमा हॉल और एक व्यायामशाला भी शामिल है.
11- वह कई भाषाओं के साथ परिचित हैं जैसे – हिंदी, गुजराती, कन्नड़, बांग्ला, कोंकणी, अंग्रेजी और फ्रेंच.
12- वह गहने डालना पसंद करते है.
13- उनकी खेलों के प्रति रूचि है और उन्होंने विभिन्न खेलों में बहुत रुपए लगाए है. जैसे कि – रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर (आरसीबी) में उनकी बड़ी हिस्सेदारी रहीं है, माल्या के पास इंडियन फुटबॉल लीग में दो फुटबॉल क्लब हैं – ईस्ट बंगाल एफसी और मोहन बागान एसी, इसके अलावा वह फार्मूला 1 टीम सहारा फोर्स इंडिया के सह- मालिक हैं.

विजय माल्या, विजय माल्या की जीवनी, विजय माल्या का कर्ज, विजय माल्या का इतिहास, विजय माल्या की उम्र, विजय माल्या का घर, Vijay Mallya, Vijay Mallya Biography In Hindi, Vijay Mallya Debt, Vijay Mallya History, Vijay Mallya Age, Vijay Mallya Home

ये भी पढ़े –

विवेकानंद की जीवनी, स्वामी विवेकानंद का जीवन परिचय, स्वामी विवेकानंद की बायोग्राफी, Swami Vivekananda In Hindi, Swami Vivekananda Ki Jivani

शहीदे आज़म भगत सिंह की जीवनी, शहीद भगत सिंह की बायोग्राफी हिंदी में, भगत सिंह का इतिहास, भगत सिंह का जीवन परिचय, Shaheed Bhagat Singh Ki Jivani

महात्मा गांधी की जीवनी, महात्मा गांधी का जीवन परिचय, महात्मा गांधी की बायोग्राफी, महात्मा गांधी के बारे में, Mahatma Gandhi Ki Jivani

डॉ. भीम राव अम्बेडकर की जीवनी, डॉ. भीम राव अम्बेडकर का जीवन परिचय हिंदी में, डॉ. भीमराव अम्बेडकर के अनमोल विचार, Dr. B.R. Ambedkar Biography In Hindi

सुभाष चन्द्र बोस की जीवनी, सुभाष चंद्र बोस की जीवनी कहानी , नेताजी सुभाष चन्द्र बोस बायोग्राफी, सुभाष चन्द्र बोस का राजनीतिक जीवन, आजाद हिंद फौज का गठन

महादेवी वर्मा की जीवनी , महादेवी वर्मा की बायोग्राफी, महादेवी वर्मा की शिक्षा, महादेवी वर्मा का विवाह, Mahadevi Verma Ki Jivani

तानसेन की जीवनी , तानसेन की बायोग्राफी, तानसेन का करियर, तानसेन का विवाह, तानसेन की शिक्षा, Tansen Ki Jivani, Tansen Biography In Hindi

वॉरेन बफे की जीवनी, वॉरेन बफे की बायोग्राफी, वॉरेन बफे का करियर, वॉरेन बफे की पुस्तकें, वॉरेन बफे के निवेश नियम, Warren Buffet Ki Jivani, Warren Buffet Biography In Hindi

हरिवंश राय बच्चन की जीवनी, हरिवंश राय बच्चन की बायोग्राफी, हरिवंश राय बच्चन की कविताएं, हरिवंश राय बच्चन की रचनाएं, Harivansh Rai Bachchan Ki Jivani

रामधारी सिंह दिनकर की जीवनी , रामधारी सिंह दिनकर की बायोग्राफी, रामधारी सिंह दिनकर के पुरस्कार, रामधारी सिंह दिनकर की रचनाएं, Ramdhari Singh Dinkar Ki Jivani

मन्नू भंडारी की जीवनी, मन्नू भंडारी की बायोग्राफी, मन्नू भंडारी का करियर, मन्नू भंडारी की कृतियां, Mannu Bhandari Ki Jivani, Mannu Bhandari Biography In Hindi

अरविन्द घोष की जीवनी, अरविन्द घोष की बायोग्राफी, अरविन्द घोष का करियर, अरविन्द घोष की मृत्यु, Arvind Ghosh Ki Jivani, Arvind Ghosh Biography In Hindi

सम्राट अशोक की जीवनी, सम्राट अशोक की बायोग्राफी, सम्राट अशोक का शासनकाल, सम्राट अशोक की मृत्यु, Ashoka Samrat Ki Jivani, Ashoka Samrat Biography In Hindi

मिल्खा सिंह की जीवनी, मिल्खा सिंह की बायोग्राफी, मिल्खा सिंह का करियर, मिल्खा सिंह का विवाह, मिल्खा सिंह के पुरस्कार, Milkha Singh Ki Jivani, Milkha Singh Biography In Hindi